चुनावी जीत के बाद काशी पहुंचे PM, राम नाईक ने किया स्वागत PM Narendra Modi reaches Varanasi, Ram Naik welcomes him - आज तक     |       अमेठी: सुरेंद्र सिंह मर्डर में 3 नामजद आरोपी गिरफ्तार, दो अभी फरार - Navbharat Times     |       LIVE: PM मोदी बोले, काशी का मिजाज हर देश में देखा जा रहा है - Hindustan     |       MBOSE 10th, 12th (Arts) Results 2019: जारी हुआ मेघालय 10वीं और 12वीं आर्ट्स का रिजल्ट - Hindustan हिंदी     |       दक्षिण कोरिया में हुआ प्रेम, यूपी के महराजगंज की बहू बनी जर्मनी की बेटी - दैनिक जागरण     |       कलयुगी बाप ने अपनी ही बेटियों को झील में दिया धक्का, एक जांबाज युवक बना फरिश्ता.. - पंजाब केसरी     |       आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा के लिए PM से सिर्फ अनुरोध कर सका, मांग नहीं: रेड्डी - Hindustan     |       "Sabka Saath, Sabka Vikas And Now Sabka Vishwas": PM Modi Speech At NDA Meet - NDTV     |       CWC की बैठक में राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश खारिज Congress refuses to accept Rahul Gandhi's resignation - Lok Sabha Election 2019 - आज तक     |       नई सरकार/ नरेंद्र मोदी 30 मई को शाम 7 बजे प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे - Dainik Bhaskar     |       इमरान खान ने की प्रधानमंत्री मोदी से बात, कहा- पाकिस्तान मिलकर काम करना चाहता है - Jansatta     |       Pak विदेश मंत्री कुरैशी बोले- भारत की नई सरकार से पाकिस्तान बातचीत को तैयार - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       अलर्ट/ श्रीलंका से बोट में सवार 15 आईएस आतंकी भारत की ओर बढ़ रहे, कोस्टगार्ड ने शिप तैनात किए - Dainik Bhaskar     |       सोनीपत/ एवरेस्ट की चढ़ाई करने वाले रवि ठाकुर को तिरंगों के बीच दी गई अंतिम विदाई - Dainik Bhaskar     |       बदायूं: कार की टक्कर से दो बहनों की मौत - नवभारत टाइम्स     |       Venue के आने से मुकाबला कड़ा, मारुति लाई Vitara Brezza का स्पेशल एडिशन - आज तक     |       आधी कीमत में Maruti Alto, WagonR और सेलेरिओ मिल रही हैं यहां, बाइक से भी सस्ती कारें - अमर उजाला     |       Sona Mohapatra ने सलमान पर कसा तंज, ऐक्‍टर ने किए थे प्रियंका चोपड़ा पर कॉमेंट्स - नवभारत टाइम्स     |       मलाइका अरोड़ा ने शेयर की हॉलिडे की फोटो, अर्जुन कपूर ने किया ये कमेंट - आज तक     |       De De Pyaar De Box Office Collection Day 11: अजय देवगन की फिल्म की 11वें दिन भी धांसू कमाई, कमा डाले इतने करोड़ - NDTV India     |       दीपिका पादुकोण ने किया अर्जुन कपूर की इंडियाज मोस्ट वॉन्टेड का रिव्यू, कही ये बात - आज तक     |       भारत के अभ्यास मैच में हारने से परेशान होने की जरूरत नहीं: तेंडुलकर - Navbharat Times     |       लगातार 10 मैच गंवाकर वर्ल्ड कप खेलने पहुंची पाकिस्तान की टीम - आज तक     |       World Cup 2019: विश्व कप में भारत के खिलाफ मैच के बाद पाकिस्तान टीम को मिलेगा ये बड़ा तोहफा - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       इंग्लैंड वनडे में 500 रन बनाने वाली दुनिया की पहली टीम बन सकती है: विराट कोहली - Hindustan     |      

राष्ट्रीय


हर दिन 16 मौत फिर भी आग चुनावी एजेंडा से गायब क्यों?

केंद्र में नई सरकार के एजेंडे में आग को एक महत्वपूर्ण विषय के तौर देखे जाने की मांग करते हुए युनाइटेड ह्यूमन राइट्स फेडरेशन (यूएचआरएफ) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिखते हुए कहा है कि आग से होने वाली दुर्घटना में हर दिन 16 लोगों की मौत हो रही है


16-die-every-day-why-the-fire-disappears-from-the-electoral-agenda

केंद्र में नई सरकार के एजेंडे में आग को एक महत्वपूर्ण विषय के तौर देखे जाने की मांग करते हुए युनाइटेड ह्यूमन राइट्स फेडरेशन (यूएचआरएफ) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिखते हुए कहा है कि आग से होने वाली दुर्घटना में हर दिन 16 लोगों की मौत हो रही है। वहीं, इससे सालाना 18 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है, फिर भी सरकारें इस पर चुप क्यों हैं।

यूएचआरएफ के सचिव अरुण पाल ने कहा, "हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को पत्र लिखकर मांग की है कि वे अपने चुनावी भाषणों में यह भी बताएं कि केंद्र में बनने वाली नई सरकार आगजनी की दुर्घटनाओं से बचाव और आग से सुरक्षा के लिए क्या कदम उठाएगी।"

उन्होंने कहा कि यह दुख की बात है कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद भी किसी सरकार ने आग से बचाव के लिए कड़े नियम नहीं बनाए। उन्होंने कहा, "हमने दोनों प्रमुख दलों को लिखा है कि वे आग से बचाव, जीवन रक्षा और आग से सुरक्षा को लेकर कानून बनाने का ऐलान अपने घोषणा पत्रों में करें। जब तक इस ओर कदम नहीं उठाया जाएगा तब तक भारत की विकास यात्रा में अवरोध बना रहेगा।"

यूएचआरएफ ने कहा, "आग से बचाव के लिए कानून और समुचित कदम समय की जरूरत है। मौजूदा नियमों की अवेहलना आग की घटनाओं की मुख्य वजह है। यह समय की जरूरत है कि आग से बचाव के लिए नेशनल बिल्डिंग कोड 2016 को पूरी तरह से अनुपालन में लाया जाए।

सुप्रीम कोर्ट अपने कई फैसलों में यह बताता रहा है कि देश में पूरी तरह से आग से बचाव के नियमों का पालन नहीं हो रहा है। जिसकी वजह से बड़े स्तर पर दुर्घटनाएं हो रही हैं और इससे जान-माल और संपत्ति का नुकसान भी हो रहा है। ऐसे में जरूरत है कि आग से बचाव के नियमों का सही से अनुपालन हो।"

यूएचआरएफ के सचिव अरुण पाल ने कहा कि आग की दुर्घटनाओं की वजह से देश को हर साल करीब 18,000 करोड़ रुपये का नुकसान भी हो रहा है। 
 

advertisement