अमृतसर हमला: विवाद के बाद बैकफुट पर फुल्का, कांग्रेस ने बताया मानसिक दिवालिया     |       तेजप्रताप को परिवार से मिलाने में जुटे लालू के समधी, दिल्ली में राबड़ी-तेजस्वी से हो सकती है मुलाकात     |       क्या थमेगा RBI और सरकार के बीच विवाद? आज बड़ी बैठक     |       राजस्थान चुनाव: BJP ने सचिन पायलट के खिलाफ युनूस खान को मैदान में उतारा     |       अमित शाह ने कहा -कांग्रेस, नेहरू-गांधी परिवार की प्राइवेट लिमिटेड कंपनी     |       भीमा कोरेगांव: माओवादियों के दिग्विजय सिंह से संबंध की आशंका, पुणे पुलिस करेगी पूछताछ!     |       पति के इस कारनामे से हैरान हो जाएंगे आप, इंजीनियर पत्नी की फोटो व नंबर पॉर्न साइट पर डाला     |       मेडिकल स्टोर में घुसे चोर, पीछे-पीछे पहुंच गई दिल्ली पुलिस, फिर तन गई रिवाल्वर, देखें- Video     |       18000 फीट ऊंचाई, भारत में बन रहा ग्लेशियर से गुजरने वाला पहला रोड     |       पाकिस्‍तान पर भड़के डोनाल्‍ड ट्रंप, कहा- वो हमारे लिए कुछ भी नहीं करता     |       सत्यापन के रोड़े ने कर दिया परीक्षा से वंचित     |       टीईटी में सेंधमारी करते 41 मुन्नाभाई गिरफ्तार, सभी दावों की निकली हवा     |       कश्मीर / पुलवामा में सीआरपीएफ कैंप पर आतंकियों ने ग्रेनेड फेंका, एक जवान शहीद     |       2019 लोकसभा चुनाव से पहले शिवसेना का नया नारा: हर हिंदू की यही पुकार, पहले मंदिर, फिर सरकार     |       अलीगढ़ / ट्यूशन टीचर ने कक्षा दो के छात्र को बुरी तरह पीटा, मासूम की मानसिक हालत बिगड़ी, सीसीटीवी में कैद घटना     |       मराठा आरक्षण को महाराष्ट्र सरकार ने दी मंज़ूरी, कितना आरक्षण मिलेगा ये तय नहीं     |       चिकन सेंटर पर भीड़ की सूचना पर उड़नदस्ते ने की छापामारी, 10 रुपए के नोट जब्त किए     |       आज आ रहे हैं चंद्रबाबू नायडू, दिल्ली की बैठक में मौजूद रह सकते हैं ममता के प्रतिनिधि     |       सोशल मीडिया पर दिखा हार्दिक पांड्या और धौनी का 'ब्रोमांस' देखें photos     |       फेसबुक के जरिये युवाओं को आतंकी बनने को उकसाने वाली महिला गिरफ्तार     |      

राजनीति


सीबीआई में आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना की जंग में मोदी सरकार में वो हुआ जिसकी उम्मीद किसी को नहीं थी

कहते हैं कहीं न कहीं पीएमओ को इस बात की भनक लग गई थी कि वर्मा बनाम अस्थाना की यह लड़ाई एक विस्फोटक मुकाम पर पहुंच गई है, यह बात तब और पुख्ता हो गई है जब अस्थाना को गिरफ्तार करने की अनुमति मांगी गई और यह फाइल डीओपीटी में पहुंची


alok-verma-and-rakesh-asthana-power-game-in-cbi-has-bifurcated-modi-government-amit-shah

सीबीआई में मचा ताजा घमासान नए पेंचोखम में उलझ रहा है, आलोक वर्मा बनाम राकेश अस्थाना की इस जंग ने राजनैतिक प्रतिबद्दताओं की भी कलई खोल दी है।

सूत्रों की मानें तो अस्थाना बनाम वर्मा की इस लड़ाई में सरकार में ही दो गुट बन गए लगते हैं। जहां राकेश अस्थाना के पक्ष में पीएम समेत कई बड़े दिग्गज मसलन अजित डोभाल, अरूण जेटली, हंसमुख अधिया, सीवीसी के चंद बड़े अफसर कदमताल करते दिख रहे हैं तो आलोक वर्मा के पक्ष में राजनाथ सिंह, पूर्व ईडी करनैल सिंह, नृपेंद्र मिश्र, राजेश्वर सिंह, सुब्रह्मण्यम स्वामी और आधे-अधूरे तौर पर अमित शाह का समर्थन बताया जा रहा है।

कहते हैं कहीं न कहीं पीएमओ को इस बात की भनक लग गई थी कि वर्मा बनाम अस्थाना की यह लड़ाई एक विस्फोटक मुकाम पर पहुंच गई है, यह बात तब और पुख्ता हो गई है जब अस्थाना को गिरफ्तार करने की अनुमति मांगी गई और यह फाइल डीओपीटी में पहुंची।

तब सरकार की तंद्रा टूटी, पर तब तक देर हो चुकी थी और मामला सार्वजनिक हो चुका था।

सूत्र बताते हैं कि इससे पहले भी कम से कम दो बार पीएमओ वर्मा और अस्थाना को तलब कर उन्हें समझा चुका था इस लड़ाई को अब ज्यादा तूल देना ठीक नहीं, पर बात बनी नहीं।

पीएमओ की चेतावनियों के बावजूद इन दोनों अफसर के ऑफिस और उनके भरोसेमंद कई रातों से काम में जुटे थे, पुख्ता सबूत तलाशे जा रहे थे। फाइलें तैयार की जा रही थीं।

सबसे खास बात तो यह अस्थाना-वर्मा के झगड़े में सीबीआई के जो 13 अफसर नपे, उनमें से 12 तो वर्मा गुट के बताए जा रहे हैं।

दिलचस्प है कि अस्थाना को जो चिट्ठी दी गई है उसमें इस बात का जिक्र है कि इन छुट्टियों में भी उन्हें यात्रा भत्ता समेत अन्य सुविधाएं मिलती रहेंगी, पर कहते हैं वर्मा की चिट्ठी में इन बातों का कोई जिक्र नहीं है।

ऐसे में यह धारणा पुख्ता हो रही है कि सुप्रीम कोर्ट इस मामले में अपना कोई कड़ा फैसला सुना सकता है और यह भी मुमकिन है कि जब सीबीआई जैसी स्वतंत्र संस्था की साख पर आंच आ रही है तो आने वाले दिनों में इसे देश के सर्वोच्च न्यायालय की निगरानी में काम करना पड़े।

 

advertisement

  • संबंधित खबरें