मुख्यमंत्री केजरीवाल पर सचिवालय में मिर्च पाउडर फेंकने से पहले शख्स ने कहा- 'आप ही से उम्मीद है'     |       ओडिशा: 30 से ज्यादा यात्रियों समेत महानदी ब्रिज से गिरी बस, 12 लोगों की मौत     |       सोशल मीडिया / ब्राह्मण विरोधी पोस्टर थामकर विवादों में आए ट्विटर के सीईओ, कंपनी ने माफी मांगी     |       हल्द्वानी निकाय चुनाव नतीजे Live: 32 सीटों पर निर्दलीय, 14 पर BJP जीती     |       अखिलेश यादव ने खोला राज, बताया मध्यप्रदेश में कांग्रेस के साथ क्यों नहीं हुआ गठबंधन     |       एमपी के सीएम शिवराज की खाने की थाली में दिख रहा मीट, फर्जी फोटो हो रही वायरल     |       मुजफ्फरनगर कोर्ट ने हत्या के मामले में 7 दोषियों के सुनाई फांसी की सजा     |       मुजफ्फरपुर कांड: डॉक्टर देता था नशीला इंजेक्शन, महिला सिखाती थी नाबालिगों को सेक्स-सीबीआई     |       सुप्रीम कोर्ट / आम्रपाली ग्रुप को फटकार- आखिरी मौका देते हैं, हमारे सभी आदेशों को पूरा करें     |       मिल्‍खा सिंह ने भी दौड़ना बंद किया था मैडम, थैंक यू- सुषमा स्वराज को पति का जवाब     |       दिल्ली में दो आतंकियों के घुसने की आशंका, अलर्ट पर पुलिस- जारी की फोटो     |       आप MLA सोमनाथ भारती ने महिला एंकर को दी गाली, एंकर ने सुनाई खरी-खरी     |       ममता के मंत्री ने दिया इस्तीफा, जल्द छोड़ेंगे मेयर पद     |       अपने बयान से पलटे अयोध्या विवाद के पक्षकार इकबाल अंसारी, कहा- SC के फैसले को ही मानेंगे     |       जाको राखे साइयांः बच्ची के ऊपर से गुजरी ट्रेन, नहीं आई एक भी खरोंच     |       सोहराबुद्दीन एनकाउंटर से अमित शाह और कुछ अधिकारियों को फायदा हुआ : पूर्व जांच अधिकारी     |       स्वाभिमान को ठेस पहुंचाना जगतार को नहीं था बर्दाश्त     |       मोदी सरकार देने जा रही है बड़ी सौगात, इस योजना के तहत मिलेगी दोगुनी पेंशन     |       भारत-रूस के बीच दो युद्धपोत बनाने का करार, अमेरिकी धमकियों के बावजूद बढ़ा सैन्य सहयोग     |       छत्तीसगढ़ चुनाव: रमन सिंह बोले, 'हारने पर कांग्रेस को याद आता है ईवीएम का मुद्दा'     |      

राजनीति


जीवन, सपनों और मौत पर लिखी अटल बिहारी बाजपेयी की वो दो कविताएं जिसे सबको पढ़ना चाहिए

वह एक जनप्रिय कवि भी थे, उनकी कविताओं की गूंज आज भी हर भारतीय के मन में सुनाई देती है। उनकी कविताएं अगर निराश व्यक्ति को नया साहस देती हैं, तो जीवन के कुछ सच्चे अर्थों को भी खोलती हैं


atal-bihari-vajpayee-poem-on-life-dream-and-death-all-must-read

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री और जननेता अटल बिहारी बाजपेई नहीं रहे। अटल जी भले ही दक्षिणपंथी विचारों वाले नेता हों, लेकिन उनका व्यक्तित्व इतना विराट था कि हर दल के नेता से उनके मधुर संबंध रहे और सभी उन्हें प्यार करते थे। 

वह एक जनप्रिय कवि भी थे, उनकी कविताओं की गूंज आज भी हर भारतीय के मन में सुनाई देती है। उनकी कविताएं अगर निराश व्यक्ति को नया साहस देती हैं, तो जीवन के कुछ सच्चे अर्थों को भी खोलती हैं। 

पढ़िए जीवन और मौत से संबंधित उनकी दो बेहतरीन कविताएं- 

ठन गई! मौत से ठन गई!

जूझने का मेरा इरादा न था,

मोड़ पर मिलेंगे इसका वादा न था,

 

रास्ता रोक कर वह खड़ी हो गई,

यूं लगा जिंदगी से बड़ी हो गई।

 

मौत की उमर क्या है? दो पल भी नहीं,

जिंदगी सिलसिला, आज कल की नहीं,

 

मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं,

लौटकर आऊंगा, कूच से क्यों डरूं?

 

तू दबे पांव, चोरी-छिपे से न आ,

सामने वार कर फिर मुझे आजमा,

 

मौत से बेखबर, जिंदगी का सफ़र,

शाम हर सुरमई, रात बंसी का स्वर,

 

बात ऐसी नहीं कि कोई ग़म ही नहीं,

दर्द अपने-पराए कुछ कम भी नहीं।

 

प्यार इतना परायों से मुझको मिला,

न अपनों से बाक़ी हैं कोई गिला,

 

हर चुनौती से दो हाथ मैंने किए,

आंधियों में जलाए हैं बुझते दिए।

 

आज झकझोरता तेज़ तूफ़ान है,

नाव भंवरों की बांहों में मेहमान है,

 

पार पाने का क़ायम मगर हौसला,

देख तेवर तूफ़ां का, तेवरी तन गई।

मौत से ठन गई।

 

गीत नया गाता हूं

टूटे हुए तारों से फूटे बासंती स्वर,

पत्थर की छाती मे उग आया नव अंकुर,

 

झरे सब पीले पात,

कोयल की कुहुक रात,

प्राची में अरुणिम की रेख देख पता हूं,

गीत नया गाता हूं।

 

टूटे हुए सपनों की कौन सुने सिसकी,

अन्तर की चीर व्यथा पलकों पर ठिठकी,

 

हार नहीं मानूंगा, रार नहीं ठानूंगा,

काल के कपाल पे लिखता मिटाता हूं।

गीत नया गाता हूं।

 

advertisement

  • संबंधित खबरें