लोकसभा/ मुरादाबाद की जगह फतेहपुर सीकरी से चुनाव लड़ेंगे राज बब्बर, संबित पात्रा पुरी से उम्मीदवार - Dainik Bhaskar     |       भारतीय सेना में जल्द शामिल होगा 'धनुष', बोफोर्स से बढ़िया हमारी खुद की तोप- Amarujala - अमर उजाला     |       बीजेपी ने जारी की लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट, पुरी से लड़ेंगे संबित पात्रा - नवभारत टाइम्स     |       LOK SABHA ELECTIONS 2019: भाजपा की दूसरी लिस्ट जारी, संबित पात्रा को पूरी से मिला टिकट - Hindustan     |       चौतरफा घेराबंदी: चार मुठभेड़ों में तीन पाकिस्तानी आतंकियों समेत सात आतंकी ढेर - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       भारत की बड़ी कार्रवाई: पाक के दो अफसरों समेत 12 सैनिक ढेर, छह चौकियां तबाह - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       आतंकी ने बच्चे का तालिबानी अंदाज में रेता गला, शादी के लिए लड़की के भाई को बनाया था बंधक- Amarujala - अमर उजाला     |       पुलवामा हमले पर सैम पित्रोदा का विवादित बयान Sam Pitroda remark on Pulwama terror attack draws ire - Lok Sabha Election 2019 - आज तक     |       PM मोदी ने दी इमरान को राष्ट्रीय दिवस की शुभकामनाएं, कहा- शांति के लिए साथ चलने का वक्त आ गया है - Hindustan     |       लंदन में नीरव मोदी के गिरफ्तार होने पर गुलाम नबी आजाद ने कहा- चुनावी फायदे के लिए हुई कार्रवाई - ABP News     |       भारत के एक दांव से परेशान हुआ चीन, खुद को बता रहा बड़े दिलवाला - Business - आज तक     |       गंभीर आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को चीन की मदद, मिला 2 अरब डॉलर का कर्ज - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन बाजार में गिरावट - मनी कॉंट्रोल     |       Jio Offer: शियोमी के इस फोन पर मिल रहा है, 2000 से ज्यादा का कैशबैक, साथ में 100 GB इंटरनेट फ्री - Hindustan     |       नई Suzuki Ertiga Sport हुई पेश, यहां जानें खास बातें - आज तक     |       Hyundai Styx का पहला टीजर जारी, Maruti Vitara Brezza को देगी टक्कर - दैनिक जागरण     |       'केसरी' ने होली पर जमाया रंग, पहले दिन कमाए इतने करोड़ - Hindustan     |       एक्टर विद्युत जामवाल ने खोले 'जंगली' के 5 मोस्ट डैंजरस सीन के राज, जरा सी चूक ले सकती थी जान- Amarujala - अमर उजाला     |       'पीएम नरेंद्र मोदी' फिल्म की वाराणसी में हुई शूटिंग, विवेक ओबेरॉय ने की गंगा आरती - नवभारत टाइम्स     |       Javed Akhtar फ़िल्म 'पीएम नरेंद्र मोदी 'का पोस्टर देखकर हैरान हुए - BBC हिंदी     |       विलियम्सन न्यूजीलैंड के प्लेयर ऑफ द ईयर बने, रॉस टेलर वनडे के बेस्ट प्लेयर - Dainik Bhaskar     |       गंभीर के चुनाव लड़ने पर पूछा सवाल तो भड़क गईं BJP सांसद मीनाक्षी लेखी - आज तक     |       गौतम गंभीर की टिप्पणी पर विराट कोहली ने किया पलटवार, पढ़ें क्या कहा? - Hindustan     |       IPL 2019: CSK के खिलाफ उतरते ही विराट कोहली बनाएंगे रेकॉर्ड, बनेंगे पहले खिलाड़ी - Navbharat Times     |      

मनोरंजन


जन्मदिन विशेष | ट्रेजेडी क्वीन मीना कुमारी की लिखी वो नज्में जिनमें दर्द का सिलसिला रुकता ही नहीं!

"आग़ाज़ तो होता है अंजाम नहीं होता, जब मेरी कहानी में वो नाम नहीं होता" दिलीप कुमार को अगर ट्रेजेडी किंग कहा जाता है, तो मीना कुमारी को ट्रेजेडी क्वीन के नाम से पहचाना जाता है


birthday-special-tragedy-queen-meena-kumaris-sad-poetry-will-take-you-another-world

सिनेमा के रुपहले पर्दे पर अगर आज भी किसी अभिनेत्री को ख़ालिस भारतीय नारी की प्रतिमूर्ति के रूप में देखा जाता है, तो यकीनन वह मीना कुमारी हैं। 'साहब बीबी और गुलाम' की बहू से लेकर 'पाकीज़ा' की साहबजान तक, अपने हर किरदार से मीना कुमारी ने एक भारतीय स्त्री के भावों और विमर्श को जैसे जीवंत कर दिया था। आज उनका जन्मदिन है।

1 अगस्त, 1932 को मुंबई में जन्मी मीना कुमारी के अनेकों किस्से, आज भी फिल्मों की दुनिया में बड़े चाव से सुने और सुनाये जाते हैं। चाहे धर्मेन्द्र से उनके अफेयर की कहानी हो, या अदाकारी के किंग कहे जाने वाले दिलीप कुमार जैसे अभिनेता का उनके सामने नर्वस हो जाना हो, या फिर राजकपूर का उनके सामने अपने संवाद भूल जाना हो, ये सब किस्से आज भी बेहद मशहूर हैं और ये बताते हैं कि मीना कुमारी किस लीग की अभिनेत्री थीं।

मीना कुमारी को अभिनेत्रियों की दुनिया में वही मुकाम हासिल है, जो दिलीप कुमार को अभिनेताओं की दुनिया में मिला है। दिलीप कुमार को अगर ट्रेजेडी किंग कहा जाता है, तो मीना कुमारी को ट्रेजेडी क्वीन के नाम से पहचाना जाता है। उनकी जिंदगी ही कुछ ऐसी थी, जिसमें दर्द और अकेलापन भरा पड़ा था। और इसी दर्द को उन्होंने पर्दे पर उतार दिया।

उन्होंने मशहूर निर्देशक कमाल अमरोही से निकाह किया, कमाल पहले से शादीशुदा थे लेकिन मीना कुमारी के प्रेम में उन्होंने दूसरी शादी कर ली। शादी 10 साल चली और फिर टूट गयी। 

अपने 33 साल के करियर में 90 से ज्यादा फिल्मों में काम करने वाली, महजबीं बानो (उनका असली नाम यही था), एक बहुत अच्छी शायरा भी थीं। उनके शेर और अशआर से बेइन्तहां दर्द झलकता है। शायद जो कुछ उन्होंने झेला, वह शब्दों में पिरोकर अपनी डायरी में उतार दिया।

उनकी शायरी को बाद में मशहूर गीतकार और शायर गुलजार ने 'तन्हा चांद' नाम से एक किताब में संकलित किया और आम लोगों तक पहुंचाया। उनकी लिखी कुछ बेहद मशहूर नज्में हम आपके लिए लेकर आये हैं। पढ़िए उनकी लिखी बेहद मशहूर नज्में - 

#1

आग़ाज़ तो होता है अंजाम नहीं होता 

जब मेरी कहानी में वो नाम नहीं होता 

जब ज़ुल्फ़ की कालक में घुल जाए कोई राही 

बदनाम सही लेकिन गुमनाम नहीं होता 

हँस हँस के जवाँ दिल के हम क्यूँ न चुनें टुकड़े 

हर शख़्स की क़िस्मत में इनआ'म नहीं होता 

दिल तोड़ दिया उस ने ये कह के निगाहों से 

पत्थर से जो टकराए वो जाम नहीं होता 

दिन डूबे है या डूबी बारात लिए कश्ती 

साहिल पे मगर कोई कोहराम नहीं होता 

#2

हँसी थमी है इन आँखों में यूँ नमी की तरह 

चमक उठे हैं अंधेरे भी रौशनी की तरह 

तुम्हारा नाम है या आसमान नज़रों में 

सिमट गया मेरी गुम-गश्ता ज़िंदगी की तरह 

कोहर है धुँद धुआँ है वो जिस की शक्ल नहीं 

कि दिल ये रूह से लिपटा है अजनबी की तरह 

तुम्हारे हाथों की सरहद को पा के ठहरी हुईं 

ख़लाएँ ज़िंदा रगों में हैं सनसनी की तरह 

 

#3

टुकड़े-टुकड़े दिन बीता, धज्जी-धज्जी रात मिली
जिसका जितना आँचल था, उतनी ही सौगात मिली 

रिमझिम-रिमझिम बूँदों में, ज़हर भी है और अमृत भी
आँखें हँस दीं दिल रोया, यह अच्छी बरसात मिली 

जब चाहा दिल को समझें, हँसने की आवाज़ सुनी
जैसे कोई कहता हो, ले फिर तुझको मात मिली 

मातें कैसी घातें क्या, चलते रहना आठ पहर
दिल-सा साथी जब पाया, बेचैनी भी साथ मिली 

होंठों तक आते आते, जाने कितने रूप भरे
जलती-बुझती आँखों में, सादा-सी जो बात मिली

मीना कुमारी के लिखे कुछ अन्य मशहूर शेर-

दिल तोड़ दिया उस ने ये कह के निगाहों से
पत्थर से जो टकराए वो जाम नहीं होता।


हँसी थमी है इन आँखों में यूँ नमी की तरह
चमक उठे हैं अंधेरे भी रौशनी की तरह।

 

पूछते हो तो सुनो, कैसे बसर होती है 
रात ख़ैरात की, सदक़े की सहर होती है।

 

एक बात जो होठों तक कभी आयी नहीं
बस आँखों से ही झांकती
तुमसे कभी मुझसे कभी
कुछ लफ्ज़ है वो मांगती।

 

होंठों तक आते आते 
जाने कितने रूप भरे
जलती-बुझती आँखें में
सादा-सी जो बात मिली।

 

राह देखा करेगा सदियों तक 
छोड़ जाएँगे ये जहाँ तन्हा।

 

सब तुम को बुलाते हैं
पल भर को तुम आ जाओ
बंद होती मेरी आँखों में
मुहब्बत का
इक ख्वाब सजा जाओ।

advertisement