लखनऊ: उत्पीड़न की शिकायत करने वाले हिन्दू-मुस्लिम दंपति को मिला पासपोर्ट     |       International Yoga Day 2018: देहरादून में मोदी और लखनऊ में योगी सहित इन नेताओं ने हजारों लोगों संग किया योग     |       जिसने वीरप्पन का किया था खात्मा, अब उसे मिली जम्मू-कश्मीर में बड़ी जिम्मेदारी     |       जम्मू-कश्मीर: नौकरी का लालच देकर यूपी से बुलाए गए युवकों को पत्थरबाजी के लिए किया मजबूर     |       जम्मू-कश्मीर : अलगाववादी नेताओं पर कार्रवाई शुरू, हिरासत में यासीन मलिक     |       International Yoga Day: पूरी दुनिया योगमय, बाबा रामदेव ने बनाया वर्ल्ड रिकार्ड     |       योग दिवस पर नहीं पहुंचे नीतीश तो बोले सुशील मोदी- जरूरी तो नहीं हर कोई आए     |       आनंदीबेन के बयान पर जशोदाबेन का जवाब, बोलीं- नरेंद्र मोदी मेरे राम हैं और मैं उनकी पत्नी     |       भारतवंशी अतुल गवांडे के हाथों में होगी बर्कशायर, अमेजन और जेपी मॉर्गन की नई हेल्थ केयर कंपनी की कमान     |       चतरा : CCTV नहीं लगाया तो खैर नहीं, एक्शन में पुलिस, कई व्यापारियों को भेजा नोटिस     |       दाती मदन ने दी सफाई- पैसों के लेन-देन के मामले में मुझे फंसाया, 32 करोड़ मांग रहे थे     |       VIDEO: मौत को सामने देखकर भी औरंगजेब को नहीं था डर, आतंकियों की आंखों में आंखें डाल दिए थे जवाब     |       आकाश अंबानी और श्लोका की सगाई के फंक्शन में परफॉर्म करेंगे शाहरुख     |       मध्‍यप्रदेश के मुरैना में जीप और ट्रैक्‍टर ट्रॉली में जोरदार टक्‍कर, 15 लोगों की मौत     |       भाजपा, कांग्रेस ने कहा : केजरीवाल की ''नौटंकी'' का हुआ पर्दाफाश     |       मुख्य आर्थिक सलाहकार सुब्रमण्यन पद छोड़ेंगे     |       EXCLUSIVE: प्रोजेक्ट और आर्थिक तंगी से परेशान थे भय्यूजी महाराज, किसी ने नहीं की मदद     |       एयरएशिया के पायलट ने विमान से यात्रियों को 'भगाने' के लिए तेज कर दिया AC!     |       VIDEO : सुरक्षा घेरा तोड़कर फ्लाइट में चढ़ गया भिखारी, फिर...     |       यूट्यूब ने ब्लॉक किया पीआईबी का चैनल, नहीं देख सकते कोई वीडियो     |      

राजनीति


 दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ हुई हाथापाई की पूरी कहानी, दोनों तरफ से मामला भी दर्ज

शिकायतें अंशु प्रकाश, मंत्री दिल्ली सरकार इमरान हुसैन और विधायक आंबेडकरनगर, अजय दत्त की तरफ से हुई। उधर देर रात दिल्ली पुलिस ने दोनों तरफ से दो थाने में मामला दर्ज कर जांच शुरू करने की बातें कही और यह भी कहा कि जांच में जो भी व्यक्ति दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कानून के मुताबिक कार्रवाई होगी।


chief-secretary-alleges-assault-by-2-legislators-case-registered

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर सोमवार देर रात दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ हुई हाथापाई, मारपीट और गाली गलौज के बाद दोनों तरफ से मिली शिकायतों ने पुलिस अधिकारियों को भी संकट में डाल दिया है। हालात यहां तक पहुंच गए कि दिल्ली सचिवालय को भी एक तरह से पुलिस ने छावनी में तब्दील करते हुए अपने कब्जे में ले लिया ताकि अकारण कोई अनहोनी न घटित हो जाए। 

उधर मंगलवार को अन्य दिनों की तरह सचिवालय भी दोपहर बाद खाली होने लगा और महिला व पुरूष कर्मचारियों ने चुपके से वहां से निकलने में ही अपनी भलाई समझी। शिकायतें अंशु प्रकाश, मंत्री दिल्ली सरकार इमरान हुसैन और विधायक आंबेडकरनगर, अजय दत्त की तरफ से हुई। उधर देर रात दिल्ली पुलिस ने दोनों तरफ से दो थाने में मामला दर्ज कर जांच शुरू करने की बातें कही और यह भी कहा कि जांच में जो भी व्यक्ति दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कानून के मुताबिक कार्रवाई होगी।

मंगलवार सुबह जैसे ही यह खबर आई कि मुख्य सचिव के साथ मुख्यमंत्री के आवास पर सोमवार देर रात अनहोनी हुई तो सचिवालय में भीड़ जुटनी शुरू हो गई। मीडिया कर्मियों की गाड़ियां खड़ी होने लगी तो सुरक्षा में तैनात पुलिस के जवान भी सकते में आ गए। फिर देखते ही देखते भीड़ जुटनी शुरू हो गई और माजरा तब सबको समझ में आ गया जब दिल्ली सरकार के मंत्री इमरान हुसैन और उनके निजी सचिव का सचिवालय के अंदर कुछ अधिकारियों से लिफ्ट के पास तू-तू मैं-मैं हो गया। फिर सचिवालय के बाहर आप समर्थकों और दिल्ली के अधिकारियों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई। इसकी सूचना मिलते ही दिल्ली पुलिस की बटालियन बड़ी गाड़ी में वहां पहुंचने लगी। कुछ ही देर में वहां पुलिस की भीड़ ऐसी जुट गई जिससे अन्य तमाशबीन बौने नजर आने लगे। 

दोपहर होते-होते जहां सचिवालय खाली होने लगा वहीं भीड़ कभी पुलिस मुख्यालय तो कभी आईपी एस्टेट थाना और कभी उत्तरी जिले के पुलिस उपायुक्त के दफ्तर की तरफ बढ़ने लगी जहां शिकायतें देने की औपचारिकताएं शुरू हो गई। अंशु प्रकाश ने सीधे उपायुक्त उत्तरी जिले को सिलसिलेवार तरीके से सोमवार देर रात हुई घटनाओं को पांच विंदुओं में लिखकर शिकायतें भेजी तो विधायक अजय दत्त दोपहर करीब एक बजे पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनाटक को अधिकारियों के हाथों अपने साथ हुई ज्यादती को जाति सूचक रंग देते हुए कार्यवाई करने की शिकायतें की। 

आईपी एस्टेट थाने में मंत्री इमरान हुसैन ने शिकायतें कर यह कहा कि उन्हें दोपहर 12.30 बजे सचिवालय प्लाजा के अंदर कर्मचारियों ने धक्कामुक्की और गाली गलौज किया। मंत्री ने तो यहां तक लिखा कि उन्हें लिफ्ट में बंदी बनाया गया और लिफ्ट से खींचकर बाहर निकालकर मोबाइल फोन भी तोड़ डाला गया। मंत्री ने सचिवालय कर्मचारियों पर अपशब्द कहने, मारपीट और जान से मारने की धमकी तक देने का आरोप लगाया है। जबकि पुलिस आयुक्त को दी शिकायत में विधायक अजय दत्त ने कहा है कि उन्हें मुख्य सचिव ने सोमवार रात मुख्यमंत्री के घर पर जातिसूचक शब्दों का व्यवहार कर अपमानित किया। बदतमीजी की और गालियां देते हुए औकात में रहने जैसी बातें कही। अंशु प्रकाश ने उपायुक्त उत्तरी को दी गई शिकायत में सोमवार रात 8.45 बजे टेलीफोन से मुख्यमंत्री के सलाहकार वीके जैन का मुख्यमंत्री आवास पर रात 12 बजे बुलाने से लेकर उनके साथ मुख्यमंत्री आवास पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की मौजूदगी में 11 विधायकों के हाथों बीते तीन सालों से दी गई प्रचार कार्यक्रम की रिपोर्ट, बाद में कुछ विधायकों के दरबाजा बंद कर हाथापाई करने का आरोप लगाते हुए उन सभी के खिलाफ उचित कार्रवाई की बातें कही।  

उधर मंगलवार को दिल्ली सचिवालय में कार्यरत अधिकारियों ने भी इस दोनों तरफ से हो रही हील-हुज्जत का खूब फायदा उठाया और दोपहर बाद ही एक-एक कर वे अपनी सीट से उठते चले गए। दोपहर साढ़े तीन बजे तक तो महिला कर्मचारियों को झुंड में पुलिस के भीड़ के बीच से सचिवालय से बाहर आते देखा गया और वे बिना किसी से बात किए अपने-अपने घर की तरफ जाते दिखाई दी। सचिवालय में आम तौर पर शाम पांच बजे के बाद ही कर्मचारी अपनी सीट छोड़ते हैं। 

उधर मामले की गंभीरता को देखते हुए मंगलवार रात दिल्ली पुलिस के मुख्य प्रवक्ता व विशेष आयुक्त दीपेंद्र पाठक ने पुलिस मुख्यालय में बताया कि सोमवार देर रात मुख्यमंत्री आवास पर सरकारी मामले निबटाने के नाम पर मुख्य सचिव अंशु प्रकाश को बुलाया गया था। वहां पहले से ही कई विधायक बैठे हुए थे। वहां सोफे पर बैठे अंशु प्रकाश के दोनों तरफ दो विधायक बैठे थे। बैठक के दौरान अंशु प्रकाश के साथ मारपीट हुई, डराया-धमकाया गया, उन्हें भद्दी गालियां दी गई और बाद में कमरे बंद कर दिया गया। इसमें एक विधायक का नाम है दूसरे का नहीं है। मुख्य सचिव की शिकायत पर उत्तरी जिले के सिविल लाइंस थाना में संबंधित धाराओं 186, 353, 323, 32, 504, 506/2, 120 बी और 34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर जांच के लिए कई टीमें बनाई गई है। जांच के बाद जो भी कानूनी कार्रवाई   होगी कानून के मुताबिक संबंधित व्यक्तियों के खिलाफ की जाएगी। 

पाठक ने यह भी बताया कि एक दूसरी शिकायत दिल्ली सरकार के मंत्री इमरान हुसैन की तरफ से आई है उसपर संज्ञान लेते हुए आईपी एस्टेट थाना में आईपीसी की धारा 323, 342, 506, 427 और 34 के तहत मामला दर्ज कर खुले रूप में जांच जारी है। मंत्री ने किसी का नाम नहीं लिया है सिर्फ अपने साथ लिफ्ट में धक्कामुक्की, गाली गलौज, मोबाइल तोड़ने की बातें कही हैं। पुलिस सीसीटीवी फुटेज सहित अन्य साक्ष्यों को जुटाकर मामले की जांच शुरू कर दी है। पाठक ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की मौजूदगी में वारदात हुई है तो उनसे भी पूछताछ की जाएगी के जबाब में कहा कि अभी मामला शुरूआती जांच के दायरे में है, इसलिए किसी का नाम बताना जल्दबाजी होगी। दो एफआईआर दर्ज करने के अलावा भी दो-तीन शिकायतें आई है। इन सभी की कड़ियों को जोड़कर जांच की जा रही है।
 

advertisement

  • संबंधित खबरें