1990 कस्टोडियल डेथ केस: बर्खास्त IPS अधिकारी संजीव भट्ट को उम्रकैद - Hindustan     |       दुल्हन बनीं ग्लैमरस सांसद नुसरत जहां, देखें शादी की सबसे पहली PHOTOS... - ​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​​Zee ​​News Hindi     |       संसद में बोले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, 'तीन तलाक और हलाला को हटाना है'; पढ़ें संबोधन की 10 खास बातें - NDTV India     |       इंटरनेशनल योग डे: योग करते समय क्या आप भी करते हैं ये 7 बड़ी गलतियां - आज तक     |       अशोक गहलोत हो सकते हैं कांग्रेस के नए अध्यक्ष, जल्द होगा ऐलान? - Navbharat Times     |       triple talaq after 10 hours to marriage in deoghar jharkhand high voltage drama and baraati hostage in nikah - दैनिक जागरण     |       विश्व कप 2019: जानें, सेमीफाइनल की जंग में कौन किस पायदान पर और कौन हुआ बाहर - Navbharat Times     |       ICC वर्ल्ड कप के बाद घर लौटते ही लगेगी पाकिस्तान टीम की 'क्लास' - cricket world cup 2019 AajTak - आज तक     |       वर्ल्ड कप के इतिहास में पहली बार चार विकेटकीपर के साथ खेलेगी टीम इंडिया - अमर उजाला     |       वर्ल्ड कप में ऋषभ पंत की गोल्डन एंट्री, प्लेइंग इलेवन में होंगे शामिल? - cricket world cup 2019 - आज तक     |       एएन-32 क्रैश: अरुणाचल प्रदेश में मिले 6 शव और 7 के अवशेष, 3 जून को लापता हुआ था विमान - NDTV India     |       युद्ध हुआ तो पाक-चीन को मिलेगा करारा जवाब, सेना सीमा पर तैनात करने जा रही है इंटीग्रेटेड वॉर ग्रुप्स - अमर उजाला     |       इन्सेफलाइटिस: बुखार की चपेट से बचाने के लिए अपने बच्चों को दूसरे गांव भेज रहे यहां के लोग - Navbharat Times     |       3 कॉल गर्ल्स से 9 हजार में सौदा, नोएडा के फार्महाउस में 9 ने किया रेप - Crime images AajTak - आज तक     |       पाकिस्तान ने जिस सांप को पिलाया दूध उसी ने पूर्व पीएम के बेटे पर उठाया फन मारा गया - Zee News Hindi     |       दौरा/ किम से चर्चा के लिए जिनपिंग उत्तर कोरिया पहुंचे, 14 साल में यहां आने वाले पहले चीनी राष्ट्रपति - Dainik Bhaskar     |       इस राष्ट्रपति ने चुपके से बेच दिया अपने मुल्क का 7 टन सोना - आज तक     |       फिर ट्रोलर्स के निशाने पर आए इमरान खान, रवींद्रनाथ टैगोर का Quote शेयर करते वक्त की ये बड़ी गलती - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       Indian Stock Market: Sensex, Nifty, Stock Prices, भारतीय शेयर बाजार, सेंसेक्स, निफ्टी, शेयर मूल्य, शेयर रेकमेंडेशन्स, हॉट स्टॉक, शेयर बाजार में निवेश - मनी कंट्रोल     |       रेनो ने पेश की सात सीटर कार ट्राइबर, लैटेस्ट फीचर्स से होगी लैस - मनी भास्कर     |       KTM की नई स्पोर्ट्स बाइक भारत में लॉन्च, कीमत 1.47 लाख, जानें बड़ी बातें - आज तक     |       renault triber seven seater compact mpv unveiled - नवभारत टाइम्स     |       Kabir Singh Box Office Prediction: Shahid के सामने Salman की Bharat, पहले दिन इतनी कमाई का अनुमान - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       Arjun Patiala Trailer: Upcoming comedy film starring Diljit Dosanjh, Kriti Sanon and Varun Sharma directed by Rohit Jugraj - The Lallantop     |       ऋतिक की फैमिली के लिए शर्मसार करने वाले हैं सुनैना रोशन के नए आरोप - आज तक     |       पापा सैफ अली खान के पैर पकड़े हुए दिखे तैमूर, वायरल हो रही तस्वीर - आज तक     |       World Cup 2019: ऋषभ पंत के वर्ल्ड कप में चयन से खुश नहीं हैं उनके कोच! खुद बताई वजह - अमर उजाला     |       ICC World Cup 2019 AUSvBAN: पाकिस्तान से आगे निकला बांग्लादेश, ऑस्ट्रेलिया को भी चुनौती देने को तैयार - Hindustan     |       ICC World Cup 2019: पहले इंग्लैंड ने पीटा, अब आपस में भिड़ी अफगानिस्तान की टीम! - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       IND vs PAK: भारत से मिली हार के बाद PCB प्रमुख ने सरफराज अहमद को किया फोन, कही यह बात.. - NDTV India     |      

फीचर


चिकनगुनिया | सही जांच, जागरूकता से सम्भव है इस घातक बीमारी की रोकथाम

बारिश के मौसम में सिर्फ डेंगू ही नहीं बल्कि चिकनगुनिया भी आम हो गया है। हर साल चिकनगुनिया से पीड़ित लोगों की संख्या में बढ़त देखने को मिलती हैं। यह बहुत चिंता का विषय हैं और सही रोकथाम के लिए सावधानी बरतना समय की जरूरत बन गयी है


chikungunya-correct-investigation-awareness-is-possible-prevention-of-this-fatal-disease

पिछले कुछ सालों में डेंगू और चिकनगुनिया की दहशत बहुत बढ़ गई है। दोनों ही बिमारियों के एक जैसे लक्षण होने की वजह से अक्सर बीमारी की सही पहचान करना मुश्किल हो जाता हैं।

बुखार और कमजोरी सबसे आम लक्षण हैं। हम ज्यादातर बुखार को मामूली सर्दी का लक्षण समझकर नजरअंदाज कर देते हैं। यही वजह हैं कि यह बीमारी अक्सर गंभीर रूप ले लेती हैं। 

बारिश के मौसम में सिर्फ डेंगू ही नहीं बल्कि चिकनगुनिया भी आम हो गया है। हर साल चिकनगुनिया से पीड़ित लोगों की संख्या में बढ़त देखने को मिलती हैं। यह बहुत चिंता का विषय हैं और सही रोकथाम के लिए सावधानी बरतना समय की जरूरत बन गयी है। 

चिकनगुनिया के रोकथाम के लिए बहुत आवश्यक है की हम इस बीमारी के बारें में सही जानकारी रखें। सही जानकारी हमें सही सावधानी और बीमारी की रोकथाम में मदद करेगा। 

चिकनगुनिया क्या है? 

चिकनगुनिया एक वायरल बीमारी है, जो मच्छर के काटने से फैलती है। एडीज मच्छर के काटने से चिकनगुनिया का वायरस इंसान को बीमार कर देता है। चिकनगुनिया के लक्षण डेंगू से बहुत मिलते जुलते हैं।

इसलिए इन दोनों बिमारियों में पहचान करना अक्सर मुश्किल हो जाता है। पिछले कुछ सालों में चिकनगुनिया के केसेस बहुत बढ़ गए हैं। चिकनगुनिया के लिए कोई भी वैक्सीन या इलाज अभी नहीं हैं इसलिए जरूरी है सही सावधानी रखना। 

वैसे तो चिकनगुनिया जानलेवा नहीं होती है पर पीड़ित इंसान तेज भुखार, बहुत दर्द और कमजोरी से गुजरता है। यह बीमारी सेहत पर लम्बे समय तक असर डाल सकती हैं। 

चिकनगुनिया के लक्षण: 

चिकनगुनिया के लक्षण आमतौर से संक्रमित मच्छर के काटने के 2-12 दिनों के भीतर दिखते हैं। चिकनगुनिया का मच्छर ज्यादातर दिन के दौरान काटता है। यह मच्छर जमा हुए साफ पानी में प्रजनन करते हैं और चिकनगुनिया का खतरनाक वायरस फैलाने का कार्य करता है। चिकनगुनिया के लक्षण नीचे दिए गए हैं:

-तेज बुखार होना

-पैर, हाथ और कलाई में हल्के सूजन के साथ गंभीर दर्द होना

-गंभीर पीठ दर्द

-सिरदर्द

-थकान के साथ मांसपेशी में दर्द

-त्वचा पर लाल रंग के चकत्ते का होना जो आमतौर से 48 घंटों में दिखाई पड़ते हैं

-गले में खराश होना

-आंखों में दर्द और कंजेक्टिवाइटिस होना

-कई महीनों और वर्षों तक शरीर में दर्द रह सकता है

चिकनगुनिया का इलाज

चिकनगुनिया का कोई इलाज अभी नहीं उपलब्ध है, इसलिए इस वायरस से लड़ने के लिए सही ख्याल और डॉक्टर की सलाह जरूरी है। चिकनगुनिया से लड़ने के लिए जरूरी है कुछ बातों का ख्याल रखना :

-मरीज को डिहाइड्रेशन से बचाए। दिनभर पानी, जूस पिलाते रहना आवश्यक है

-समय पर दवाईयां लेना

-चिकनगुनिया में बहुत कमजोरी भी हो जाती हैं, इसलिए जरूरी तत्वों से भरपूर भोजन करें

-भुखार को नजरअंदाज न करें और डॉक्टर को समय पर दिखाएं

-अच्छे से आराम करना शरीर को सेहतमंद बनाने में मदद करता हैं

-बीमारी अगर गम्भीर रूप लें तो डॉक्टर के कहने पर अस्पताल में भरती हो जाएं

चिकनगुनिया से लड़ने के लिए कुछ घरेलू उपाय 

दादी के पास हर चीज के नुस्खें होते हैं। चिकनगुनिया के लिए भी लाभकारी घरेलु उपाय उपलब्ध हैं। इन नुस्खों के सहायता से आप चिकनगुनिया से घर पर लड़ सकते हैं। यह घरेलू उपाय चिकनगुनिया के लक्षणों में राहत पहुंचाने में कारगर हैं। ऐसे ही कुछ नुस्खें नीचे दिए गए हैं:

-अदरक की चाय और ग्रीन टी काफी लाभदायक होती है

-बर्फ का पैक सूजन और दर्द में आराम पहुंचाता है

-गिलोय का जूस बुखार से लड़ने में मदद करता है

-पपीते का जूस ब्लड प्लेटलेट बढ़ने में लाभकारी सिद्ध हुआ है

-तुलसी के पत्ते चाय या पानी में उबाल कर पीएं। तुलसी इम्युनिटी बढ़ने और भूकर को काम करने में मदद करती है

-नारियल का पानी डीटोक्सीफाई करने और हाइड्रेटेड रहने के लिए बहुत अच्छा उपाय है

चिकनगुनिया से बचाव

बीमारी से बचाव करना समझदारी है। चिकनगुनिया मच्छर के काटने से होती है। इसलिए आवश्यक है कुछ ऐसे उपाय अपनाना जो इस बीमारी को फैलने से रोके। ऐसे ही कुछ उपाय नीचे दिए गए हैं:

-चिकनगुनिया का मच्छर जमा हुए पानी में पनपता है। इसलिए यह आवश्यक है कि पानी को एक जगह जमा न होने दें

-कूलर के पानी को सप्ताह में कम से कम एक बार बदलें

-गमले, बर्तन और घर के चारों तरफ पानी जमा न होने दें

-मच्छरों को मारने वाले स्प्रे का प्रयोग करें

-युकलिप्टुस के तेल का मच्छरों के रोकथाम के लिए इस्तमाल करें

-बाहर निकलते समय स्वयं और बच्चों को पूरे शरीर ढकने वाले कपड़ें पहनाएं

-खिड़की और दरवाजों में जाली लगवाएं

-सफाई बनाएं रखें

-बुखार होने पर डॉक्टर से मिले और सही जांच करवाएं। सही जानकारी से हम चिकनगुनिया जैसे खतरनाक बिमारियों से लड़ सकते हैं और उसके सही रोकथाम के लिए कार्य कर सकते हैं।

(डॉ. धृती वत्स, हेल्थियंस में लाइफस्टाइल मैनेजमेंट कन्सलटेंट के तौर पर कार्यरत हैं)

advertisement