Lok Sabha Election 2019: भाजपा ने जारी की 36 उम्मीदवारों की तीसरी लिस्ट, पुरी से संबित पात्रा - दैनिक जागरण     |       लोकसभा/ मुरादाबाद की जगह फतेहपुर सीकरी से चुनाव लड़ेंगे राज बब्बर, संबित पात्रा पुरी से उम्मीदवार - Dainik Bhaskar     |       NDA की संभावित 40 उम्मीदवारों की लिस्ट: शाहनवाज का पत्ता साफ! - आज तक     |       Lok Sabha Election 2019: झारखंड BJP के प्रत्‍याशी तय, कड़ि‍या मुंडा आउट; देखें सूची - दैनिक जागरण     |       Shopian encounter : जम्मू-कश्मीर में मुठभेड़ों में 3 आतंकी ढेर, बंधक बनाए गए नाबालिग की भी मौत - Times Now Hindi     |       आतंकी ने बच्चे का तालिबानी अंदाज में रेता गला, शादी के लिए लड़की के भाई को बनाया था बंधक- Amarujala - अमर उजाला     |       पुलवामा हमले पर सैम पित्रोदा का विवादित बयान Sam Pitroda remark on Pulwama terror attack draws ire - Lok Sabha Election 2019 - आज तक     |       अलगाववादी नेता यासीन मलिक के संगठन JKLF पर लगा बैन Yasin Malik-led JKLF banned by govt under anti-terror law - आज तक     |       PM मोदी ने दी इमरान को राष्ट्रीय दिवस की शुभकामनाएं, कहा- शांति के लिए साथ चलने का वक्त आ गया है - Hindustan     |       लंदन में नीरव मोदी के गिरफ्तार होने पर गुलाम नबी आजाद ने कहा- चुनावी फायदे के लिए हुई कार्रवाई - ABP News     |       भारत के एक दांव से परेशान हुआ चीन, खुद को बता रहा बड़े दिलवाला - Business - आज तक     |       होटल में रुके 800 कपल्स के निजी पल कैमरे में किए कैद, लाइव स्ट्रीमिंग के जरिए कमाते थे लाखों रुपये- Amarujala - अमर उजाला     |       हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन बाजार में गिरावट - मनी कॉंट्रोल     |       Jio Offer: शियोमी के इस फोन पर मिल रहा है, 2000 से ज्यादा का कैशबैक, साथ में 100 GB इंटरनेट फ्री - Hindustan     |       नई Suzuki Ertiga Sport हुई पेश, यहां जानें खास बातें - आज तक     |       जल्द लॉन्च होगा Vitara Brezza का फेसलिफ्ट वर्जन, मारुति ने शुरू किया प्रॉडक्शन - नवभारत टाइम्स     |       Javed Akhtar फ़िल्म 'पीएम नरेंद्र मोदी 'का पोस्टर देखकर हैरान हुए - BBC हिंदी     |       नहीं रुक रही पाइरेसी, अक्षय कुमार की 'केसरी' भी हुई लीक - आज तक     |       एक्टर विद्युत जामवाल ने खोले 'जंगली' के 5 मोस्ट डैंजरस सीन के राज, जरा सी चूक ले सकती थी जान- Amarujala - अमर उजाला     |       'पीएम नरेंद्र मोदी' फिल्म की वाराणसी में हुई शूटिंग, विवेक ओबेरॉय ने की गंगा आरती - नवभारत टाइम्स     |       आईपीएल/ चेन्नई-बेंगलुरु के बीच मैच आज, उद्घाटन मुकाबले में पहली बार दोनों टीमें आमने-सामने - Dainik Bhaskar     |       अब टेस्ट में भी जर्सी पर होगा नाम व नंबर, इस बदलाव को लेकर आइसीसी ने दी मंजूरी - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       गौतम गंभीर को कोहली का जवाब- बाहर बैठे लोगों के बारे में सोचता तो घर पर बैठा होता - आज तक     |       क्रिकेट के बाद अब सियासी पिच पर बैटिंग करेंगे गौतम गंभीर, मिल चुका है 'पद्म श्री' और 'अर्जुन अवार्ड' - NDTV India     |      

फीचर


चिकनगुनिया | सही जांच, जागरूकता से सम्भव है इस घातक बीमारी की रोकथाम

बारिश के मौसम में सिर्फ डेंगू ही नहीं बल्कि चिकनगुनिया भी आम हो गया है। हर साल चिकनगुनिया से पीड़ित लोगों की संख्या में बढ़त देखने को मिलती हैं। यह बहुत चिंता का विषय हैं और सही रोकथाम के लिए सावधानी बरतना समय की जरूरत बन गयी है


chikungunya-correct-investigation-awareness-is-possible-prevention-of-this-fatal-disease

पिछले कुछ सालों में डेंगू और चिकनगुनिया की दहशत बहुत बढ़ गई है। दोनों ही बिमारियों के एक जैसे लक्षण होने की वजह से अक्सर बीमारी की सही पहचान करना मुश्किल हो जाता हैं।

बुखार और कमजोरी सबसे आम लक्षण हैं। हम ज्यादातर बुखार को मामूली सर्दी का लक्षण समझकर नजरअंदाज कर देते हैं। यही वजह हैं कि यह बीमारी अक्सर गंभीर रूप ले लेती हैं। 

बारिश के मौसम में सिर्फ डेंगू ही नहीं बल्कि चिकनगुनिया भी आम हो गया है। हर साल चिकनगुनिया से पीड़ित लोगों की संख्या में बढ़त देखने को मिलती हैं। यह बहुत चिंता का विषय हैं और सही रोकथाम के लिए सावधानी बरतना समय की जरूरत बन गयी है। 

चिकनगुनिया के रोकथाम के लिए बहुत आवश्यक है की हम इस बीमारी के बारें में सही जानकारी रखें। सही जानकारी हमें सही सावधानी और बीमारी की रोकथाम में मदद करेगा। 

चिकनगुनिया क्या है? 

चिकनगुनिया एक वायरल बीमारी है, जो मच्छर के काटने से फैलती है। एडीज मच्छर के काटने से चिकनगुनिया का वायरस इंसान को बीमार कर देता है। चिकनगुनिया के लक्षण डेंगू से बहुत मिलते जुलते हैं।

इसलिए इन दोनों बिमारियों में पहचान करना अक्सर मुश्किल हो जाता है। पिछले कुछ सालों में चिकनगुनिया के केसेस बहुत बढ़ गए हैं। चिकनगुनिया के लिए कोई भी वैक्सीन या इलाज अभी नहीं हैं इसलिए जरूरी है सही सावधानी रखना। 

वैसे तो चिकनगुनिया जानलेवा नहीं होती है पर पीड़ित इंसान तेज भुखार, बहुत दर्द और कमजोरी से गुजरता है। यह बीमारी सेहत पर लम्बे समय तक असर डाल सकती हैं। 

चिकनगुनिया के लक्षण: 

चिकनगुनिया के लक्षण आमतौर से संक्रमित मच्छर के काटने के 2-12 दिनों के भीतर दिखते हैं। चिकनगुनिया का मच्छर ज्यादातर दिन के दौरान काटता है। यह मच्छर जमा हुए साफ पानी में प्रजनन करते हैं और चिकनगुनिया का खतरनाक वायरस फैलाने का कार्य करता है। चिकनगुनिया के लक्षण नीचे दिए गए हैं:

-तेज बुखार होना

-पैर, हाथ और कलाई में हल्के सूजन के साथ गंभीर दर्द होना

-गंभीर पीठ दर्द

-सिरदर्द

-थकान के साथ मांसपेशी में दर्द

-त्वचा पर लाल रंग के चकत्ते का होना जो आमतौर से 48 घंटों में दिखाई पड़ते हैं

-गले में खराश होना

-आंखों में दर्द और कंजेक्टिवाइटिस होना

-कई महीनों और वर्षों तक शरीर में दर्द रह सकता है

चिकनगुनिया का इलाज

चिकनगुनिया का कोई इलाज अभी नहीं उपलब्ध है, इसलिए इस वायरस से लड़ने के लिए सही ख्याल और डॉक्टर की सलाह जरूरी है। चिकनगुनिया से लड़ने के लिए जरूरी है कुछ बातों का ख्याल रखना :

-मरीज को डिहाइड्रेशन से बचाए। दिनभर पानी, जूस पिलाते रहना आवश्यक है

-समय पर दवाईयां लेना

-चिकनगुनिया में बहुत कमजोरी भी हो जाती हैं, इसलिए जरूरी तत्वों से भरपूर भोजन करें

-भुखार को नजरअंदाज न करें और डॉक्टर को समय पर दिखाएं

-अच्छे से आराम करना शरीर को सेहतमंद बनाने में मदद करता हैं

-बीमारी अगर गम्भीर रूप लें तो डॉक्टर के कहने पर अस्पताल में भरती हो जाएं

चिकनगुनिया से लड़ने के लिए कुछ घरेलू उपाय 

दादी के पास हर चीज के नुस्खें होते हैं। चिकनगुनिया के लिए भी लाभकारी घरेलु उपाय उपलब्ध हैं। इन नुस्खों के सहायता से आप चिकनगुनिया से घर पर लड़ सकते हैं। यह घरेलू उपाय चिकनगुनिया के लक्षणों में राहत पहुंचाने में कारगर हैं। ऐसे ही कुछ नुस्खें नीचे दिए गए हैं:

-अदरक की चाय और ग्रीन टी काफी लाभदायक होती है

-बर्फ का पैक सूजन और दर्द में आराम पहुंचाता है

-गिलोय का जूस बुखार से लड़ने में मदद करता है

-पपीते का जूस ब्लड प्लेटलेट बढ़ने में लाभकारी सिद्ध हुआ है

-तुलसी के पत्ते चाय या पानी में उबाल कर पीएं। तुलसी इम्युनिटी बढ़ने और भूकर को काम करने में मदद करती है

-नारियल का पानी डीटोक्सीफाई करने और हाइड्रेटेड रहने के लिए बहुत अच्छा उपाय है

चिकनगुनिया से बचाव

बीमारी से बचाव करना समझदारी है। चिकनगुनिया मच्छर के काटने से होती है। इसलिए आवश्यक है कुछ ऐसे उपाय अपनाना जो इस बीमारी को फैलने से रोके। ऐसे ही कुछ उपाय नीचे दिए गए हैं:

-चिकनगुनिया का मच्छर जमा हुए पानी में पनपता है। इसलिए यह आवश्यक है कि पानी को एक जगह जमा न होने दें

-कूलर के पानी को सप्ताह में कम से कम एक बार बदलें

-गमले, बर्तन और घर के चारों तरफ पानी जमा न होने दें

-मच्छरों को मारने वाले स्प्रे का प्रयोग करें

-युकलिप्टुस के तेल का मच्छरों के रोकथाम के लिए इस्तमाल करें

-बाहर निकलते समय स्वयं और बच्चों को पूरे शरीर ढकने वाले कपड़ें पहनाएं

-खिड़की और दरवाजों में जाली लगवाएं

-सफाई बनाएं रखें

-बुखार होने पर डॉक्टर से मिले और सही जांच करवाएं। सही जानकारी से हम चिकनगुनिया जैसे खतरनाक बिमारियों से लड़ सकते हैं और उसके सही रोकथाम के लिए कार्य कर सकते हैं।

(डॉ. धृती वत्स, हेल्थियंस में लाइफस्टाइल मैनेजमेंट कन्सलटेंट के तौर पर कार्यरत हैं)

advertisement