17वीं लोकसभा/ ओम बिड़ला स्पीकर चुने गए, मोदी खुद उन्हें चेयर तक लेकर आए; कांग्रेस-तृणमूल ने भी समर्थन किया - Dainik Bhaskar     |       उत्तर बिहार में चमकी से नौ और बच्चों की मौत, अब तक 144 ने तोड़ा दम - Hindustan     |       गुजरात से राज्यसभा की दो सीटों के लिये अलग-अलग उपचुनाव के खिलाफ न्यायालय बुधवार को करेगा सुनवाई - नवभारत टाइम्स     |       पीएम मोदी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, ममता, मायावती, KCR नहीं होंगे शामिल, कांग्रेस आज लेगी फैसला - ABP News     |       राहुल गांधी नहीं मनाएंगे जन्मदिन, बिहार में चमकी बुखार से हो रही मौतों पर लिया फैसला - आज तक     |       शहीद केतन शर्मा को रक्षामंत्री समेत हजारों लोगों ने दी अंतिम विदाई - आज तक     |       नंबर 1 ऑलराउंडर की लव स्टोरी, पत्नी के लिए मैदान में बिजनेसमैन को धुना - cricket world cup 2019 - आज तक     |       भारत से शर्मनाक हार के बाद पाकिस्तान की खुली पोल, 3 ग्रुप में बंटी टीम - cricket world cup 2019 - आज तक     |       हार पर हाहाकार, कप्तान सरफराज की पूरी टीम को धमकी, बोले- अकेले नहीं लौटूंगा पाकिस्तान - अमर उजाला     |       IND vs PAK ICC World Cup 2019: रोहित ने किया खुलासा क्यों PAK के खिलाफ राहुल को दी थी स्ट्राइक - Hindustan     |       Video: कोलकाता में पूर्व मिस इंडिया यूनिवर्स से मनचलों की बदतमीजी - आज तक     |       बिहार में हाहाकार: भाजपा ने '4जी' को ठहराया जिम्मेदार, जदयू को है बारिश का इंतजार - अमर उजाला     |       शांत क्षेत्र में तैनात सेना के अधिकारियों को फिर से मिलेगा फ्री राशन - Navbharat Times     |       मुज़फ़्फ़रपुर: बच्चों की मौत से जुड़े 5 अनसुलझे सवाल - BBC हिंदी     |       चीनी मर्दों की करतूत पर पाक का पर्दा, लड़कियों ने सुनाई आपबीती - आज तक     |       भूकंप के बाद जापान ने सुनामी की चेतावनी जारी की - NDTV India     |       ग्लोबल वॉर्मिंग/ ग्रीनलैंड में जहां डेढ़ मीटर बर्फ थी, अब वहां झील में स्लेज खींच रहे कुत्ते - Dainik Bhaskar     |       पाक सरकार ने हड़बड़ी में किया बड़ा ऐलान, दुनिया भर में हो गई किरकिरी - आज तक     |       हुवावे को लेकर भारत को अमेरिका ने दी चेतावनी - Navbharat Times     |       5 लाख से कम कीमत वाली नई कार लाएगी मारुति, क्विड से होगा मुकाबला - Navbharat Times     |       प्राइवेट बैंकों ने जमा ब्याज दरों में 0.25 प्रतिशत तक की कटौती की, EMI भी होगी कम - Zee Business हिंदी     |       बिकवाली से बाजार में हाहाकार, सेंसेक्स 39,000 के नीचे बंद - आज तक     |       Bharat Box Office Collection: 200 Crore Club में एंट्री करने को तैयार सलमान खान की फिल्म भारत - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       रंगोली का दावा, सुनैना को पीटती है रितिक रोशन की फैमिली - Navbharat Times     |       Hrithik Roshan की बहन ने किया Kangana Ranaut का सपोर्ट, कंगना की बहन रंगोली के एक के बाद एक ट्विट - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       Bharat की सफलता से ओवर एक्साइटेड Salman Khan, सोशल मीडिया पर कर रहे हैं अजीबो-गरीब हरकतें - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       SA vs NZ: उम्मीदें जिंदा रखने के लिए साउथ अफ्रीका को न्यू जीलैंड के खिलाफ जीत जरूरी - Navbharat Times     |       [VIDEO] Ranveer Singh hugs a Pakistani fan after India's win at World Cup 2019, says, 'Don't be disheartened' - Times Now     |       IND vs PAK: भारत से मिली हार के बाद PCB प्रमुख ने सरफराज अहमद को किया फोन, कही यह बात.. - NDTV India     |       INDvPAK: शोएब मलिक हुए निराश- बोले- 20 साल देश के लिए खेलने के बावजूद देनी पड़ रही है सफाई - Hindustan     |      

विदेश


चीन का खोजी यान चांद के अनदेखे हिस्से में उतरा

चीन का अंतरिक्ष यान चांग ए-4 गुरुवार को चांद के सुदूर क्षेत्र पर उतरने वाला पहला यान बन गया है। समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार, चाइना नेशनल स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन ने बताया कि एक लैंडर और एक रोवर वाला अंतरिक्ष यान सुबह 10.26 बजे (बीजिंग समयनुसार) 177.6 डिग्री पूर्वी देशांतर और 45.5 डिग्री दक्षिण अक्षांश में चांद के अनदेखे हिस्से में उतरा जो पृथ्वी से कभी नजर नहीं आता


chinas-search-engine-landed-in-the-unseen-part-of-the-moon

चीन का अंतरिक्ष यान चांग ए-4 गुरुवार को चांद के सुदूर क्षेत्र पर उतरने वाला पहला यान बन गया है। समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार, चाइना नेशनल स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन ने बताया कि एक लैंडर और एक रोवर वाला अंतरिक्ष यान सुबह 10.26 बजे (बीजिंग समयनुसार) 177.6 डिग्री पूर्वी देशांतर और 45.5 डिग्री दक्षिण अक्षांश में चांद के अनदेखे हिस्से में उतरा जो पृथ्वी से कभी नजर नहीं आता। 

यान चांद के दक्षिणी ध्रुव-एटकेन बेसिन पर उतरा। यान में ऐसे उपकरण हैं जो इस क्षेत्र के भूविज्ञान को का पता लगाएंगे और प्रयोग करेंगे। इस मानवरहित अभियान को अंतरिक्ष की खोज में एक मील के पत्थर के रूप में देखा जा रहा है। अब तक चंद्रमा पर पृथ्वी की ओर वाले हिस्से पर ही अभियान होते रहे हैं।

ऐसा पहली बार है जब कोई अंतरिक्ष यान चंद्रमा के सुदूर हिस्से पर उतरा है जो अब तक अछूता रहा है। इस अभियान से चंद्रमा की चट्टान और धूल धरती पर लाने में मदद मिलेगी।

पृथ्वी से चंद्रमा की ओर के न दिखाई देने वाले हिस्से को 'डार्क साइड' कहते हैं। चंद्रमा का यह हिस्सा ठोस होने के साथ गड्ढों से भरा है। साथ ही यहां लावे से बन गए काली मिट्टी के 'सागर' भी हैं। विशाल वोन कार्मन गड्ढा दक्षिणी ध्रुव-एटकेन घाटी में स्थित है।

माना जाता है कि चंद्रमा के इतिहास की शुरुआत में एक बड़े प्रभाव के बाद यह अस्तित्व में आया था। यह सौरमंडल का सबसे बड़ा गड्ढा और चंद्रमा पर सबसे पुरानी और गहरी घाटी है।

advertisement