कोलकाता/ भाजपा के खिलाफ ममता की महारैली आज, 11 विपक्षी पार्टियों के नेता कोलकाता पहुंचे - Dainik Bhaskar     |       भय्यू महाराज केस: ब्लैकमेलर युवती समेत दो सेवादार गिरफ्तार, शादी का बना रही थी दबाव - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       येदियुरप्पा ने सभी बीजेपी विधायकों को बेंगलुरु बुलाया, कर्नाटक में नाटक का अंत! - नवभारत टाइम्स     |       अमेरिका/ 8 डॉलर का नाश्ता लेने के लिए लाइन में लगे बिल गेट्स, सोशल मीडिया पर वायरल हुई फोटो - Dainik Bhaskar     |       सवर्ण आरक्षण: निजी उच्च शिक्षा संस्थानों में 10% कोटे के लिए विधेयक लाएगी सरकार - Hindustan     |       Grahan 2019/ इस साल पड़ेंगे कुल 5 ग्रहण, 2 चंद्रग्रहण और 3 सूर्यग्रहण से बदलेगी दशा, जानें कब-कब होंगे ग्रहण? - Dainik Bhaskar     |       21 को साल का पहला चंद्र ग्रहण, इन राशियों पर होगा ज्यादा असर - dharma - आज तक     |       सबरीमाला/ सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद 10-50 उम्र की 51 महिलाओं ने दर्शन किए- केरल सरकार - Dainik Bhaskar     |       Two Russian fighter jets collide over Sea of Japan - Times Now     |       हादसा/ जापानी समुद्र के ऊपर अभ्यास के दौरान दो रूसी फाइटर जेट टकराए, पायलट सुरक्षित - Dainik Bhaskar     |       यूके/ ब्रेग्जिट डील फेल होने के बाद संसद में थेरेसा मे अविश्वास प्रस्ताव में जीतीं, 19 वोटों से बचाई सरकार - Dainik Bhaskar     |       रिसर्च : यह तकनीक बता देगी कि कितने साल की जिंदगी है आपकी - NDTV India     |       उठा-पटक के बीच बाजार की सपाट क्लोजिंग - मनी कॉंट्रोल     |       Market Live: Nifty slips below 10900, Sensex trades lower; pharma stocks under pressure - Moneycontrol.com     |       शनिवार को पेट्रोल-डीजल के दाम में हुई भारी बढ़ोतरी, फटाफट जानिए नए रेट्स - News18 Hindi     |       तस्वीरों में देखें Toyota Camry Hybrid 2019 कार, भारत में हुई लॉन्च- Amarujala - अमर उजाला     |       'मणिकर्णिका' की स्पेशल स्क्रीनिंग, राष्ट्रपति कोविंद और लालकृष्ण आडवाणी ने देखी फिल्म - नवभारत टाइम्स     |       विवाद/ बोनी कपूर का एलान जब तक बंद नहीं हो जाती फिल्म श्रीदेवी बंगलो, तब तक चैन से नहीं बैठेंगे - Dainik Bhaskar     |       URI Box Office Collection Day 8: विक्की कौशल की 'उरी' ने 'बधाई हो' को छोड़ा पीछे, कमाई में बना डाला ये रिकॉर्ड - NDTV India     |       व्हाय चीट इंडिया : फिल्म समीक्षा | Webdunia Hindi - Webdunia Hindi     |       IND vs AUS 3rd ODI LIVE: Shami sends back Maxwell as Oz lose sixth wicket - Moneycontrol.com     |       ऑस्ट्रेलिया में चली चहल की फिरकी, शास्त्री-मुश्ताक के रिकॉर्ड टूटे - Sports - आज तक     |       Paul Pogba praises Ole Gunnar Solskjaer for revitalising Manchester United's attack - Times Now     |       Ind vs Aus 2nd ODI: शॉन मार्श पर भारी पड़ा 'किंग कोहली' का शतक, टीम इंडिया 6 विकेट से जीती - NDTV India     |      

राजनीति


क्या भाजपा के इन इरादों की भनक नीतीश को लग चुकी है, आखिर लालू व राहुल से क्यों मिले पीके?

सूत्र बताते हैं कि पीके ने सबसे पहले लालू यादव से मुलाकात की और उनसे नीतीश सरकार के लिए समर्थन मांगा, यह कहते हुए कि अगले बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश मुख्यमंत्री पद के लिए तेजस्वी का समर्थन कर सकते हैं


did-nitish-know-bjps-intentions-why-did-pk-met-with-lalu-and-rahul

बिहार में सियासी हवा बदल रही है। दोस्त दुश्मन बन सकते हैं। सूत्रों के अनुसार दिसंबर आते-आते भाजपा बिहार की नीतीश सरकार से अपना समर्थन वापिस ले सकती है और भाजपा चाहती है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के साथ ही बिहार विधानसभा चुनाव संपन्न हो जाए।

ऐसा नहीं है कि नीतीश को इन भगवा इरादों की भनक नहीं है, 2019 के आम चुनाव को लेकर वे अभी से अपनी नई रणनीति बुनने में जुट गए हैं। 

पटना के सियासी गलियारों से ऐसी फुसफुसाहट सुनने को मिल रही है कि नीतीश प्रशांत किशोर में अपने उत्तराधिकारी का अक्स देख रहे हैं, शायद यही वजह है कि ब्राह्मण जाति से ताल्लुक रखने वाले पीके अपना सब काम-धाम छोड़कर नीतीश के साथ लग गए हैं। 

सूत्र बताते हैं कि पीके ने सबसे पहले लालू यादव से मुलाकात की और उनसे नीतीश सरकार के लिए समर्थन मांगा, यह कहते हुए कि अगले बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश मुख्यमंत्री पद के लिए तेजस्वी का समर्थन कर सकते हैं। 

लालू को भी अब लगने लगा है कि काठ की सियासी हांडी को महत्त्वाकांक्षाओं की आंच पर बार-बार परखना ठीक नहीं रहेगा, सो उन्होंने घुमा-फिरा कर एक तरह से पीके को मना कर दिया।

यह कहते हुए कि अब उनकी पार्टी राजद में सभी अहम निर्णय तेजस्वी ही लेते हैं और उनके पुत्र किसी कीमत पर नीतीश को दुबारा समर्थन नहीं दे सकते, सो बात आई-गई हो गई। 

पर पीके भी हार मानने वालों में से नहीं हैं, जब उन्होंने देखा कि लालू नीतीश सरकार को बाहर से भी समर्थन देने को राजी नहीं हैं तो उन्होंने अपने पुराने रिश्तों का वास्ता देकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने का समय ले लिया। 

सूत्र बताते हैं कि पीके ने राहुल के समक्ष एक नया सियासी फार्मूला उछाला और उनसे कहा कि नीतीश अपनी पार्टी जदयू का विलय कांग्रेस में करने को तैयार हैं बशर्त्ते राहुल इस बात का आश्वासन दें कि बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश ही महागठबंधन के सीएम फेस होंगे। 

कहा जाता है कि पीके ने राहुल से यह भी कहा कि अगर जदयू का कांग्रेस में विलय हो जाता है तो इतने वर्षों बाद बिहार में कांग्रेस विधायकों की संख्या 100 के पार चली जाएगी। 

पीके की बातों से आश्वस्त राहुल ने फौरन तेजस्वी को फोन मिलाया और पीके का यह फार्मूला सुझाया, पर तेजस्वी ने एक झटके में ’ना’ कह दिया, अब राहुल की तरह नीतीश भी अपने सियासी भविष्य को लेकर बेहद सशंकित हैं, और आरसीपी गैंग भी विद्रोह की नई इबारत लिखने में जुटा है, ऐसे में जाने क्या होगा नीतीश का? 
 

advertisement

  • संबंधित खबरें