लोकसभा चुनाव 2019: संजय निरूपम को मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटाया, देवड़ा को कमान - Hindustan     |       तंज/ जेटली ने राहुल के वादे को झूठा बताया, कहा- कांग्रेस गरीब को नारा देती है, साधन नहीं - Dainik Bhaskar     |       Lok Sabha Election 2019: बीजेपी ने जारी की नौवीं सूची, यूपी की हाथरस समेत इन सीटों पर उतारे उम्मीदवार - NDTV India     |       JNU में लेफ्ट विंग के छात्रों का हंगामा, VC बोले- मेरी पत्नी को बनाया बंधक - आज तक     |       मोदी की रैली के लिए किसानों ने पकने से पहले काट दी फसल - नवभारत टाइम्स     |       गिरिराज सिंह की नाराजगी, कहा- मेरी ही सीट क्यों बदली गई, प्रदेश अध्यक्ष जवाब दें - Hindustan     |       राहुल गांधी ने न्याय के लिए दिए दो नारे, प्रियंका ने भी दिया साथ - आज तक     |       महात्मा गांधी इतना पैदल चले थे कि पृथ्वी के दो बार चक्कर पूरे हो जाते - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       नेकां नेता अकबर लोन के बिगड़े बोल- पाकिस्तान को एक गाली देने वाले को मैं 10 गालियां दूंगा - Webdunia Hindi     |       करतारपुर के बाद अब हिंदुओं को ये 'तोहफा' देगा पाकिस्तान - आज तक     |       एक ही फ्लाइट में मां-बेटी पायलट, भरी उड़ान, फोटो हुई वायरल - आज तक     |       लाल बहादुर शास्त्री को किसने मारा? द ताशकंद फाइल्स का ट्रेलर आउट - आज तक     |       जेट एयरवेज संकट: नरेश गोयल ने छोड़ा पद, पत्‍नी अनिता भी बोर्ड से बाहर - आज तक     |       ग्लोबल मंदी का डर हावी, भारी गिरावट के साथ बंद हुए बाजार - मनी कॉंट्रोल     |       सोना खरीदना हुआ महंगा, स्थानीय ज्वैलर्स की मांग से उछले दाम - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       तारीफ/ अजीम प्रेमजी के परोपकार से बिल गेट्स हुए प्रेरित, कहा- इसका बड़ा असर होगा - Dainik Bhaskar     |       फिल्म 'पीएम नरेंद्र मोदी' के खिलाफ चुनाव आयोग में कांग्रेस ने की शिकायत - News18 Hindi     |       64th Filmfare Awards 2019 में श्रीदेवी को भी मिला अवार्ड, जाह्नवी, ख़ुशी ने किया रिसीव - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       केसरी को IPL से नुकसान? बॉक्स ऑफिस पर बनाए ये दो बड़े रिकॉर्ड - आज तक     |       एसिड अटैक का दर्द झेल चुकीं कंगना की बहन रंगोली ने दीपिका का पोस्टर देख लिखी ये बात - Hindustan     |       IPL 2019 : गेंदबाजों ने पंजाब को दिलाई विजयी शुरुआत - Navbharat Times     |       IPL 2019: मुंबई इंडियंस की हार के बाद ड्रेसिंग रूम में युवी हुए सम्मानित- video - Hindustan     |       I will be the first one to hang my boots when time comes: Yuvraj Singh - NDTV India     |       बुमराह की चोट ने उड़ा दी थी कोहली की नींद, अब आई राहत की खबर - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |      

राजनीति


क्या भाजपा के इन इरादों की भनक नीतीश को लग चुकी है, आखिर लालू व राहुल से क्यों मिले पीके?

सूत्र बताते हैं कि पीके ने सबसे पहले लालू यादव से मुलाकात की और उनसे नीतीश सरकार के लिए समर्थन मांगा, यह कहते हुए कि अगले बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश मुख्यमंत्री पद के लिए तेजस्वी का समर्थन कर सकते हैं


did-nitish-know-bjps-intentions-why-did-pk-met-with-lalu-and-rahul

बिहार में सियासी हवा बदल रही है। दोस्त दुश्मन बन सकते हैं। सूत्रों के अनुसार दिसंबर आते-आते भाजपा बिहार की नीतीश सरकार से अपना समर्थन वापिस ले सकती है और भाजपा चाहती है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के साथ ही बिहार विधानसभा चुनाव संपन्न हो जाए।

ऐसा नहीं है कि नीतीश को इन भगवा इरादों की भनक नहीं है, 2019 के आम चुनाव को लेकर वे अभी से अपनी नई रणनीति बुनने में जुट गए हैं। 

पटना के सियासी गलियारों से ऐसी फुसफुसाहट सुनने को मिल रही है कि नीतीश प्रशांत किशोर में अपने उत्तराधिकारी का अक्स देख रहे हैं, शायद यही वजह है कि ब्राह्मण जाति से ताल्लुक रखने वाले पीके अपना सब काम-धाम छोड़कर नीतीश के साथ लग गए हैं। 

सूत्र बताते हैं कि पीके ने सबसे पहले लालू यादव से मुलाकात की और उनसे नीतीश सरकार के लिए समर्थन मांगा, यह कहते हुए कि अगले बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश मुख्यमंत्री पद के लिए तेजस्वी का समर्थन कर सकते हैं। 

लालू को भी अब लगने लगा है कि काठ की सियासी हांडी को महत्त्वाकांक्षाओं की आंच पर बार-बार परखना ठीक नहीं रहेगा, सो उन्होंने घुमा-फिरा कर एक तरह से पीके को मना कर दिया।

यह कहते हुए कि अब उनकी पार्टी राजद में सभी अहम निर्णय तेजस्वी ही लेते हैं और उनके पुत्र किसी कीमत पर नीतीश को दुबारा समर्थन नहीं दे सकते, सो बात आई-गई हो गई। 

पर पीके भी हार मानने वालों में से नहीं हैं, जब उन्होंने देखा कि लालू नीतीश सरकार को बाहर से भी समर्थन देने को राजी नहीं हैं तो उन्होंने अपने पुराने रिश्तों का वास्ता देकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने का समय ले लिया। 

सूत्र बताते हैं कि पीके ने राहुल के समक्ष एक नया सियासी फार्मूला उछाला और उनसे कहा कि नीतीश अपनी पार्टी जदयू का विलय कांग्रेस में करने को तैयार हैं बशर्त्ते राहुल इस बात का आश्वासन दें कि बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश ही महागठबंधन के सीएम फेस होंगे। 

कहा जाता है कि पीके ने राहुल से यह भी कहा कि अगर जदयू का कांग्रेस में विलय हो जाता है तो इतने वर्षों बाद बिहार में कांग्रेस विधायकों की संख्या 100 के पार चली जाएगी। 

पीके की बातों से आश्वस्त राहुल ने फौरन तेजस्वी को फोन मिलाया और पीके का यह फार्मूला सुझाया, पर तेजस्वी ने एक झटके में ’ना’ कह दिया, अब राहुल की तरह नीतीश भी अपने सियासी भविष्य को लेकर बेहद सशंकित हैं, और आरसीपी गैंग भी विद्रोह की नई इबारत लिखने में जुटा है, ऐसे में जाने क्या होगा नीतीश का? 
 

advertisement