एचएस फुल्का के विवादित बोल- हो सकता है अमृतसर में हमला सेनाध्यक्ष ने कराया हो!     |       राजस्थान / भाजपा ने 24 प्रत्याशियों की तीसरी सूची जारी की, 200 में से 194 सीटों पर उम्मीदवार तय     |       गांधी परिवार को घेरने के चक्कर में PM मोदी से हुई गलती, सीताराम केसरी को बताया दलित     |       ...अब बंबई, कलकत्ता और मद्रास हाई कोर्ट के नाम बदलने के लिए लाया जाएगा नया विधेयक     |       खट्टर के रेप वाले बयान पर केजरीवाल ने साधा निशाना, उठाए सवाल     |       जम्मू-कश्मीर: CRPF के शिविर पर आतंकी हमले में हवलदार शहीद, दो घायल     |       मराठा आरक्षण को महाराष्ट्र सरकार ने दी मंज़ूरी, कितना आरक्षण मिलेगा ये तय नहीं     |       क्या सीबीआइ पर बैन लगा पायेंगी राज्य सरकारें     |       युद्ध जीतने के लिए आर्मी, नेवी और एयरफोर्स को मिलकर करनी होगी प्लानिंग: बीएस धनोआ     |       कश्मीर / फेसबुक के जरिए युवाओं को आतंकवाद के लिए उकसाने के आरोप में महिला गिरफ्तार     |       सॉल्वर गैंग के चार सदस्यों की तलाश में जुटी एसटीएफ     |       प.बंगाल BJP अध्यक्ष की कार पर हमला, तृणमूल समर्थकों को बताया जिम्मेदार     |       1971 की जंग के नायक ब्रिगेडियर कुलदीप सिंह चांदपुरी का कैंसर से निधन     |       उत्तराखंड में बड़ा बस हादसा, 11 लोगों की मौत     |       PM मोदी आज करेंगे केएमपी का उद्घाटन, UP-हरियाणा व राजस्थान को होगा फायदा     |       Video- मोदी व्यक्तिगत टिप्पणियों में उलझे और झूठे आरोप लगाए: कमलनाथ     |       इटली से वापसी में दीपिका ने पहना बनारसी दुपट्टा, ये है खासियत     |       विवादों के बीच आरबीआई की बैठक आज, सरकार से बन सकती है सहमति     |       मालदीव के सेना प्रमुख ने कहा, भारत के ख़िलाफ़ नहीं उनका देश BBC EXCLUSIVE     |       पैर में फोड़े से लालू की सेहत और बिगड़ी: रिम्स डॉक्टर     |      

राजनीति


क्या भाजपा के इन इरादों की भनक नीतीश को लग चुकी है, आखिर लालू व राहुल से क्यों मिले पीके?

सूत्र बताते हैं कि पीके ने सबसे पहले लालू यादव से मुलाकात की और उनसे नीतीश सरकार के लिए समर्थन मांगा, यह कहते हुए कि अगले बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश मुख्यमंत्री पद के लिए तेजस्वी का समर्थन कर सकते हैं


did-nitish-know-bjps-intentions-why-did-pk-met-with-lalu-and-rahul

बिहार में सियासी हवा बदल रही है। दोस्त दुश्मन बन सकते हैं। सूत्रों के अनुसार दिसंबर आते-आते भाजपा बिहार की नीतीश सरकार से अपना समर्थन वापिस ले सकती है और भाजपा चाहती है कि 2019 के लोकसभा चुनाव के साथ ही बिहार विधानसभा चुनाव संपन्न हो जाए।

ऐसा नहीं है कि नीतीश को इन भगवा इरादों की भनक नहीं है, 2019 के आम चुनाव को लेकर वे अभी से अपनी नई रणनीति बुनने में जुट गए हैं। 

पटना के सियासी गलियारों से ऐसी फुसफुसाहट सुनने को मिल रही है कि नीतीश प्रशांत किशोर में अपने उत्तराधिकारी का अक्स देख रहे हैं, शायद यही वजह है कि ब्राह्मण जाति से ताल्लुक रखने वाले पीके अपना सब काम-धाम छोड़कर नीतीश के साथ लग गए हैं। 

सूत्र बताते हैं कि पीके ने सबसे पहले लालू यादव से मुलाकात की और उनसे नीतीश सरकार के लिए समर्थन मांगा, यह कहते हुए कि अगले बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश मुख्यमंत्री पद के लिए तेजस्वी का समर्थन कर सकते हैं। 

लालू को भी अब लगने लगा है कि काठ की सियासी हांडी को महत्त्वाकांक्षाओं की आंच पर बार-बार परखना ठीक नहीं रहेगा, सो उन्होंने घुमा-फिरा कर एक तरह से पीके को मना कर दिया।

यह कहते हुए कि अब उनकी पार्टी राजद में सभी अहम निर्णय तेजस्वी ही लेते हैं और उनके पुत्र किसी कीमत पर नीतीश को दुबारा समर्थन नहीं दे सकते, सो बात आई-गई हो गई। 

पर पीके भी हार मानने वालों में से नहीं हैं, जब उन्होंने देखा कि लालू नीतीश सरकार को बाहर से भी समर्थन देने को राजी नहीं हैं तो उन्होंने अपने पुराने रिश्तों का वास्ता देकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने का समय ले लिया। 

सूत्र बताते हैं कि पीके ने राहुल के समक्ष एक नया सियासी फार्मूला उछाला और उनसे कहा कि नीतीश अपनी पार्टी जदयू का विलय कांग्रेस में करने को तैयार हैं बशर्त्ते राहुल इस बात का आश्वासन दें कि बिहार विधानसभा चुनाव में नीतीश ही महागठबंधन के सीएम फेस होंगे। 

कहा जाता है कि पीके ने राहुल से यह भी कहा कि अगर जदयू का कांग्रेस में विलय हो जाता है तो इतने वर्षों बाद बिहार में कांग्रेस विधायकों की संख्या 100 के पार चली जाएगी। 

पीके की बातों से आश्वस्त राहुल ने फौरन तेजस्वी को फोन मिलाया और पीके का यह फार्मूला सुझाया, पर तेजस्वी ने एक झटके में ’ना’ कह दिया, अब राहुल की तरह नीतीश भी अपने सियासी भविष्य को लेकर बेहद सशंकित हैं, और आरसीपी गैंग भी विद्रोह की नई इबारत लिखने में जुटा है, ऐसे में जाने क्या होगा नीतीश का? 
 

advertisement

  • संबंधित खबरें