50 खबरें: अखिलेश को आजमगढ़ और आजम खान को रामपुर से मिला SP टिकट 50 Khabrein: SP fields Akhilesh from Azamgarh and other news - Lok Sabha Election 2019 - आज तक     |       लोकसभा चुनाव 2019: पहले चरण के लिए नामांकन का आज आखिरी दिन हेमा मथुरा से करेंगी नॉमिनेशन फाइल - Zee News Hindi     |       Lok Sabha Election 2019: भाजपा की हुईं राजद की अन्‍नपूर्णा, दिल्‍ली में कुछ देर में लेंगी सदस्‍यता - दैनिक जागरण     |       एड्स से भी ज्यादा खतरनाक है ये बीमारी, जवान के साथ अब बच्चों में भी तेजी से फैलने लगी है - Patrika News     |       Lok Sabha Election 2019: भाजपा के अजेय किले सी बन गई हैं मध्य प्रदेश की 29 में से 14 सीटें - Jansatta     |       बिहार: भाकपा ने बेगूसराय से कन्हैया कुमार को दिया टिकट, गिरिराज सिंह से होगा मुकाबला - Hindustan     |       पाक सरपरस्त जरा सुन लें इस कश्मीरी बच्चे के बोल, भारत के लिए क्या है वहां की सोच - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       लोकसभा/ पिछली बार 10 सीटों पर नोटा का असर सबसे ज्यादा रहा, इनमें से 9 सीटें आदिवासी बहुल - Dainik Bhaskar     |       दो हिंदू बच्चियों का जबरन धर्म परिवर्तनः पाक के सिंध में यह आम है - Navbharat Times     |       ‘जो PAK को एक गाली देगा, उसको मैं 10 गाली दूंगा’ : NC नेता - आज तक     |       गुजरात: सीएम रूपाणी का दावा- कांग्रेस लोकसभा चुनाव जीती तो पाकिस्तान में मनेगी दीवाली - ABP News     |       एक ही विमान को पायलट मां-बेटी ने उड़ाया, वायरल हुई तस्वीर- Amarujala - अमर उजाला     |       Tata Motors to hike passenger vehicle prices by up to Rs 25,000 from April - Times Now     |       रिलायंस जियो सेलिब्रेशन पैक: रोजाना पाएं 2GB एक्सट्रा डेटा - ABP News     |       अब अनिल अंबानी की कंपनी ने इस बैंक के पास 12.50 करोड़ शेयर रखे गिरवी - आज तक     |       अजीम प्रेमजी के परोपकार से बिल गेट्स हुए प्रेरित, कहा- इसका बड़ा असर होगा - Dainik Bhaskar     |       'छपाक' में कुछ ऐसी दिखाई देंगी दीपिका पादुकोण, फर्स्ट लुक आया सामने - नवभारत टाइम्स     |       तो क्या दोबारा मां बनने जा रही हैं ऐश्वर्या राय बच्चन, जवाब इस खबर में है - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       फिल्मफेयर 2019: श्रीदेवी को मिला अवॉर्ड, सभी सेलेब्स हुए इमोशनल - Hindustan     |       फिल्मफेयर 2019: आलिया की फिल्म पर हुई अवॉर्ड्स की बारिश - आज तक     |       विश्व कप से पहले बुमराह को लेकर टीम इंडिया के लिए आई बुरी खबर - Webdunia Hindi     |       IPL 2019: रिषभ पंत ने लगाई चौकों-छक्कों की झड़ी, तोड़ा धोनी का 7 साल पुराना रिकॉर्ड - Times Now Hindi     |       आईपीएल/ राजस्थान-पंजाब का मैच आज, घरेलू मैदान पर किंग्स के खिलाफ रॉयल्स का सक्सेस रेट 100% - Dainik Bhaskar     |       KKR vs SRH: कोलकाता नाइट राइडर्स की जीत के हीरो बने आंद्रे रसेल - Navbharat Times     |      

करियर


देश में नौकरियों के सृजन की गति धीमी, 20 वर्षो में सबसे अधिक हो गई बेरोजगारी दर

स्टेट ऑफ वर्किंग इंडिया, 2018 रिपोर्ट में कहा गया है कि 2015 में बेरोजगारी दर पांच प्रतिशत थी, जो पिछले 20 वर्षो में सबसे ज्यादा देखी गई है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में वृद्धि के परिणामस्वरूप रोजगार में वृद्धि नहीं हुई है


he-speed-of-generating-jobs-in-the-country-this-is-slow-the-highest-unemployment-rate-in-20-years

देश में बेरोजगारी की दर 20 वर्षो में सबसे अधिक हो गई है। बेरोजगारी दर के बढ़ने का कारण नौकरियों के सृजन की गति धीमी होना, कार्यबल बढ़ने के बजाय कम होना और शिक्षित युवाओं के तेजी से श्रमबल में शामिल होना बताया गया है। अजीम प्रेमजी विश्वविद्यालय के सतत रोजगार केंद्र की एक हालिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है।

अजीम प्रेमजी विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ लिबरल स्टडीज, अर्थशास्त्र के सहायक प्रोफेसर और देश में बढ़ती बेरोजगारी पर से पर्दा उठाने वाली स्टेट ऑफ वर्किंग इंडिया, 2018 रिपोर्ट के मुख्य लेखक अमित बसोले ने बताया, "ये आंकड़े श्रम ब्यूरो के पांचवीं वार्षिक रोजगार-बेरोजगारी सर्वेक्षण (2015-2016) पर आधारित हैं।"

श्रम मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक, कई सालों तक बेरोजगारी दर दो से तीन प्रतिशत के आसपास रहने के बाद साल 2015 में पांच प्रतिशत पर पहुंच गई, इसके साथ ही युवाओं में बेरोजगारी की दर 16 प्रतिशत तक पहुंच गई है।

अमित बसोले ने कहा, "देश में बढ़ती बेरोजगारी के पीछे दो कारक हैं, पहला- 2013 से 2015 के बीच नौकरियों के सृजन की गति धीमी होना, कार्यबल बढ़ने के बजाय कम होना क्योंकि कुल कार्यबल (नौकरियों में लगे लोगों की संख्या) बढ़ने की बजाय घट गया है। दूसरा कारक यह है कि श्रम बल में प्रवेश करने वाले अधिक शिक्षित युवा, जो उपलब्ध किसी भी काम को करने के बजाय सही नौकरी की प्रतीक्षा करना पसंद करते हैं।" 

स्टेट ऑफ वर्किंग इंडिया, 2018 रिपोर्ट में कहा गया है कि 2015 में बेरोजगारी दर पांच प्रतिशत थी, जो पिछले 20 वर्षो में सबसे ज्यादा देखी गई है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में वृद्धि के परिणामस्वरूप रोजगार में वृद्धि नहीं हुई है।

अध्ययन के मुताबिक, जीडीपी में 10 फीसदी की वृद्धि के परिणामस्वरूप रोजगार में एक प्रतिशत से भी कम की वृद्धि हुई है। रिपोर्ट में बढ़ती बेरोजगारी को भारत के लिए एक नई समस्या बताया गया है।

इन हालात से निपटने के लिए क्या सरकार ने पर्याप्त कदम उठाए हैं, इस पर बसोले ने बताया, "इन हालात पर सरकार के प्रदर्शन का मूल्यांकन करना थोड़ा मुश्किल है, विशेष रूप से 2015 के बाद क्योंकि उसके बाद से सरकार ने समग्र रोजगार की स्थिति पर कोई डेटा जारी नहीं किया है। सेंटर फॉर मॉनीटरिंग द इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) जैसे निजी स्रोतों के उपलब्ध डेटा से पता चलता है कि नौकरियों का सृजन कमजोर ही बना रहेगा। सीएमआईई डेटा यह भी इंगित करता है कि नोटबंदी के परिणामस्वरूप नौकरियों में कमी आई है, सरकार ने इस पर भी कोई डेटा जारी नहीं किया है।" 

रिपोर्ट में कहा गया कि भारत में अंडर एंप्लॉयमेंट और कम मजदूरी की भी समस्या हैं। उच्च शिक्षा प्राप्त और युवाओं में बेरोजगारी 16 प्रतिशत तक पहुंच गई है। बेरोजगारी पूरे देश में है, लेकिन इससे सबसे ज्यादा प्रभावित देश के उत्तरी राज्य हैं।

बसोले ने यह भी कहा कि भारत के नौकरी बाजार की प्रकृति बदल गई है क्योंकि बाजार में अब अधिक शिक्षित लोग आ चुके हैं, वह उपलब्ध किसी भी काम को करने के बजाय सही नौकरी की प्रतीक्षा करना पसंद करते हैं।

उन्होंने कहा, "पिछले दशक में श्रम बाजार बदल गया है, विभिन्न डिग्रियों के अनुरूप रोजगार पैदा नहीं हुए हैं।" 

हालात को सामान्य बनाने के लिए किस तरह के कदम उठाए जाने चाहिए, इस सवाल पर रिपोर्ट के मुख्य लेखक ने बताया, "यह हालात को सामान्य बनाने का सवाल नहीं है। इसके बजाय, हमें एक उचित राष्ट्रीय रोजगार नीति विकसित करने की आवश्यकता है, जो केंद्र द्वारा आर्थिक नीति बनाने में नौकरियों का सृजन करेगी।"
 

advertisement