काशी विश्वनाथ मंदिर से जुड़ीं ये 5 बातें शायद ही जानते होंगे आप - आज तक     |       अमेठी: सुरेंद्र सिंह मर्डर में 3 नामजद आरोपी गिरफ्तार, दो अभी फरार - Navbharat Times     |       LIVE: PM मोदी बोले, काशी का मिजाज हर देश में देखा जा रहा है - Hindustan     |       MBOSE 10th, 12th (Arts) Results 2019: जारी हुआ मेघालय 10वीं और 12वीं आर्ट्स का रिजल्ट - Hindustan हिंदी     |       दक्षिण कोरिया में हुआ प्रेम, यूपी के महराजगंज की बहू बनी जर्मनी की बेटी - दैनिक जागरण     |       येदियुरप्पा ने जेडीएस के समर्थन से सरकार बनाने से किया मना, कहा- नहीं दोहराना चाहते गलतियां - NDTV India     |       आंध्र को विशेष राज्य का दर्जा के लिए PM से सिर्फ अनुरोध कर सका, मांग नहीं: रेड्डी - Hindustan     |       "Sabka Saath, Sabka Vikas And Now Sabka Vishwas": PM Modi Speech At NDA Meet - NDTV     |       CWC की बैठक में राहुल गांधी के इस्तीफे की पेशकश खारिज Congress refuses to accept Rahul Gandhi's resignation - Lok Sabha Election 2019 - आज तक     |       नरेंद्र मोदी 30 मई को शाम 7 बजे राष्ट्रपति भवन में लेंगे प्रधानमंत्री पद की शपथ - Hindustan     |       इमरान खान ने की प्रधानमंत्री मोदी से बात, कहा- पाकिस्तान मिलकर काम करना चाहता है - Jansatta     |       पीएम मोदी की जीत पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने फोन कर दी बधाई - ABP News     |       अमेरिका/ ट्रम्प ने कहा- मोदी महान नेता और अच्छे इंसान, फोन करके जीत की दोबारा बधाई दी - Dainik Bhaskar     |       भारत से दोस्‍ती की चाह रखने वाले पाकिस्‍तान को रास नहीं आई पीएम मोदी की वापसी! - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       बदायूं: कार की टक्कर से दो बहनों की मौत - नवभारत टाइम्स     |       Venue के आने से मुकाबला कड़ा, मारुति लाई Vitara Brezza का स्पेशल एडिशन - आज तक     |       आधी कीमत में Maruti Alto, WagonR और सेलेरिओ मिल रही हैं यहां, बाइक से भी सस्ती कारें - अमर उजाला     |       Sona Mohapatra ने सलमान पर कसा तंज, ऐक्‍टर ने किए थे प्रियंका चोपड़ा पर कॉमेंट्स - नवभारत टाइम्स     |       मलाइका अरोड़ा ने शेयर की हॉलिडे की फोटो, अर्जुन कपूर ने किया ये कमेंट - आज तक     |       दीपिका पादुकोण ने किया अर्जुन कपूर की इंडियाज मोस्ट वॉन्टेड का रिव्यू, कही ये बात - आज तक     |       Hrithik Roshan की फिल्म ‘सुपर 30’ इस दिन होगी रिलीज, उन्होंने खुद किया खुलासा - Hindustan     |       भारत के अभ्यास मैच में हारने से परेशान होने की जरूरत नहीं: तेंडुलकर - Navbharat Times     |       लगातार 10 मैच गंवाकर वर्ल्ड कप खेलने पहुंची पाकिस्तान की टीम - आज तक     |       World Cup 2019: विश्व कप में भारत के खिलाफ मैच के बाद पाकिस्तान टीम को मिलेगा ये बड़ा तोहफा - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       Virat Kohli Interview: वर्ल्ड कप से पहले बोले टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली, बीवी अनुष्का शर्मा की वजह से अधिक जिम्मेदार कप्तान हूं - inKhabar     |      

जीवनशैली


जापान के मुकाबले भारत में आप खुद को जल्दी बूढ़ा महसूस करेंगे, अध्ययन में हुआ खुलासा

अगर आप भारत में रहते हैं तो आपको जापान और स्विट्जरलैंड में रहने वाले लोगों की तुलना में शुरुआती उम्र में ही बुढ़ापे के नकरात्मक प्रभावों से जूझना पड़ेगा। अपनी तरह के पहले वैज्ञानिक अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है


in-india-compared-to-japan-you-will-feel-yourself-old-revealing-in-the-study

अगर आप भारत में रहते हैं तो आपको जापान और स्विट्जरलैंड में रहने वाले लोगों की तुलना में शुरुआती उम्र में ही बुढ़ापे के नकरात्मक प्रभावों से जूझना पड़ेगा। अपनी तरह के पहले वैज्ञानिक अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है।

द लांसेट पब्लिक हेल्थ में प्रकाशित पेपर के मुताबिक, 65 साल की उम्र में स्वास्थ्य समस्याओं का अनुभव करने वाले सबसे अधिक और सबसे कम उम्र के लोगों में 30 साल का अंतराल देशों को अलग करता है।

शोधकर्ताओं ने पाया कि जापान में रहने वाले 76 वर्षीय व्यक्तियों औप पापुआ न्यू गिनी में रहने वाले 46 वर्षीय लोगों में 65 साल की उम्र के औसत व्यक्ति के रूप में होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं का स्तर समान है।

अध्ययन में हालांकि बताया गया कि चीन और भारत जैसे देश उम्र संबंधी बीमारी रैंकिंग में बेहतर कर रहे हैं। भारत आयु से संबंधित बोझ दर में 159वें पायदान पर है जबकि आयु से संबंधित बीमारी बोझ दर में उसका स्थान 138वां है।

आयु से संबंधित बीमारी बोझ दर में फ्रांस (76 वर्ष) तीसरे स्थान पर, सिंगापुर (76 वर्ष) चौथे स्थान पर और कुवैत (75.3 वर्ष) पांचवें स्थान पर है। वहीं 68.5 वर्ष के साथ अमेरिका 54वें स्थान पर है। अमेरिका इस सूची में ईरान (69 वर्ष) और एंटीगुआ और बारमूडा (68.4 वर्ष) के बीच है।

वाशिंगटन यूनिवर्सिटी की मुख्य लेखक एंजेला वाई चैंग ने कहा, "निष्कर्ष बुजुर्गों में जीवन प्रत्याशा को दिखाते हैं, जो आबादी के कल्याण के एक अवसर या एक खतरा हो सकते हैं। यह उम्र से संबंधित स्वास्थ्य समस्याओं के आधार पर निर्भर करते हैं।" आयु से संबंधित समस्याएं जल्दी सेवानिवृत्ति, घटते जनबल और स्वास्थ्य खर्चे में वृद्धि की ओर ले जा सकती हैं।

चैंग ने कहा, "स्वास्थ्य प्रणाली को प्रभावित करने वाले सरकार के नेताओं और अन्य हितधारकों को इस पर विचार करने की जरूरत है कि लोग कब बढ़ती उम्र के नकरात्मक प्रभावों से जूझना शुरू होते हैं।" अध्ययन में 1990 से 2017 तक की अवधि और 195 देशों और क्षेत्रों को शामिल किया गया।
 

advertisement