मुख्यमंत्री केजरीवाल पर सचिवालय में मिर्च पाउडर फेंकने से पहले शख्स ने कहा- 'आप ही से उम्मीद है'     |       ओडिशा: 30 से ज्यादा यात्रियों समेत महानदी ब्रिज से गिरी बस, 12 लोगों की मौत     |       हल्द्वानी निकाय चुनाव नतीजे Live: 32 सीटों पर निर्दलीय, 14 पर BJP जीती     |       सोशल मीडिया / ब्राह्मण विरोधी पोस्टर थामकर विवादों में आए ट्विटर के सीईओ, कंपनी ने माफी मांगी     |       अखिलेश यादव ने खोला राज, बताया मध्यप्रदेश में कांग्रेस के साथ क्यों नहीं हुआ गठबंधन     |       एमपी के सीएम शिवराज की खाने की थाली में दिख रहा मीट, फर्जी फोटो हो रही वायरल     |       मुजफ्फरपुर कांड: डॉक्टर देता था नशीला इंजेक्शन, महिला सिखाती थी नाबालिगों को सेक्स-सीबीआई     |       सुप्रीम कोर्ट / आम्रपाली ग्रुप को फटकार- आखिरी मौका देते हैं, हमारे सभी आदेशों को पूरा करें     |       दिल्ली में दो आतंकियों के घुसने की आशंका, अलर्ट पर पुलिस- जारी की फोटो     |       मुजफ्फरनगर कोर्ट ने हत्या के मामले में 7 दोषियों के सुनाई फांसी की सजा     |       सुषमा स्वराज का ऐलान- नहीं लड़ेंगी अगला लोकसभा चुनाव     |       पश्चिम बंगाल: पर्सनल लाइफ से परेशान ममता के मंत्री को देना पड़ा इस्तीफा     |       अपने बयान से पलटे अयोध्या विवाद के पक्षकार इकबाल अंसारी, कहा- SC के फैसले को ही मानेंगे     |       जाको राखे साइयांः बच्ची के ऊपर से गुजरी ट्रेन, नहीं आई एक भी खरोंच     |       सोहराबुद्दीन एनकाउंटर से अमित शाह और कुछ अधिकारियों को फायदा हुआ : पूर्व जांच अधिकारी     |       सरकार की इस स्कीम में 10 हजार रुपए तक मिल सकती है पेंशन, आप भी उठा सकते हैं फायदा     |       स्वाभिमान को ठेस पहुंचाना जगतार को नहीं था बर्दाश्त     |       भारत-रूस के बीच दो युद्धपोत बनाने का करार, अमेरिकी धमकियों के बावजूद बढ़ा सैन्य सहयोग     |       छत्तीसगढ़ चुनाव: रमन सिंह बोले, 'हारने पर कांग्रेस को याद आता है ईवीएम का मुद्दा'     |       फर्जी डिग्री मामला : डूसू के पूर्व अध्यक्ष के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज     |      

विदेश


खुलासा | वाणिज्य दूतावास में घुसने के सात मिनट के भीतर खशोगी की हुई हत्या

"सऊदी अरब के हत्यारे एजेंटों ने भ्रम की स्थिति पैदा करने के लिए खशोगी के एक बॉडी डबल का भी इंतजाम किया था और उसे खशोगी के कपड़े पहना दिए गए थे ताकि इस हत्या को कवर-अप किया जा सके"


khashoggi-killed-within-seven-minutes-of-entering-the-consulate

इस्तांबुल स्थित सऊदी वाणिज्य दूतावास में सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि खशोगी पर दूतावास में घुसने के दो मिनट के भीतर ही हमला किया गया और सात मिनट के भीतर उनकी मौत हो गई।

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तइप एर्दोगन से जुड़े एक व्यक्ति ने बताया कि जिस गति से खशोगी की हत्या की गई, उससे साफ पता चलता है कि यह सोची-समझी साजिश थी।

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, दो अक्टूबर को सऊदी अरब के वाणिज्यिक दूतावास में खशोगी की हत्या के 22 मिनट के अंदर उनके शरीर के अंगों को अलग-अलग कर दिया गया।

तुर्की के अधिकारियों ने पहले कहा था कि खशोगी की हत्या के लिए सऊदी अरब की यह हत्यारी टीम अपना काम करके दो घंटे से भी कम समय में वहां से रवाना हो गई थी।

अखबार ने यह भी बताया कि सऊदी अरब के हत्यारे एजेंटों ने भ्रम की स्थिति पैदा करने के लिए खशोगी के एक बॉडी डबल का भी इंतजाम किया था और उसे खशोगी के कपड़े पहना दिए गए थे ताकि इस हत्या को कवर-अप किया जा सके।

तुर्की की ओर से जारी सुरक्षा कैमरा वीडियो में खशोगी जैसे शख्स को खशोगी की हत्या के तुरंत बाद इस्तांबुल की सड़कों पर घूमते देखा जा सकता है।

योजना के तहत मारा गया : ट्रंप

उधर, अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का मानना है कि पत्रकार खशोगी को एक योजना के तहत मारा गया लेकिन वह गड़बड़ हो गई। साथ ही उन्होंने इस मुद्दे को लेकर सऊदी अरब के साथ 110 अरब डॉलर का हथियार सौदा खत्म करने का विरोध भी किया।

ट्रंप ने कहा कि वह तुर्की में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में बागी पत्रकार की मौत को लेकर खाड़ी देश के जवाब से ‘संतुष्ट नहीं’ हैं। ट्रंप ने यह भी कहा कि अमेरिकी अधिकारियों का एक समूह सऊदी अरब में है और जांचकर्ताओं का अन्य समूह तुर्की में है जो इस मामले पर जानकारियां एकत्र करने की कोशिश कर रहा है।

इससे पहले सोमवार को ट्रंप ने यह भी कहा था कि सऊदी अरब के शहजादे मोहम्मद बिन सलमान ने उन्हें बताया कि ना तो वह और ना ही शाह इसमें शामिल थे।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि अगर उनकी संलिप्तता साबित हुई तो ‘‘मुझे बहुत निराशा होगी। हमें इंतजार करना होगा।’’ उन्होंने कहा कि वह इस मामले की तह तक जाएंगे। एक या दो दिन में घटना से जुड़े और ब्योरे सामने आएंगे।

ट्रंप ने दोहराया कि वह इसके जवाब में खाड़ी देश को हथियारों की बिक्री रोकने की कोशिशों का विरोध करेंगे। 

इस बीच, अमेरिका के खुफिया समुदाय से खशोगी को पकड़ने के लिए सऊदी अरब की योजना के संबंधी जानकारी का खुलासा करने की मांग करते हुए भारतीय अमेरिकी सांसद रो खन्ना और मार्क पोकन के नेतृत्व में 50 सांसदों ने राष्ट्रीय खुफिया निदेशक डेनियल कोट्स को पत्र लिखा है।

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस से मिले अमेरिकी वित्त मंत्री :

पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या पर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उपजे तनाव के बीच अमेरिका के वित्त मंत्री स्टीवन नुचिन ने सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान अल सऊद से रियाद में मुलाकात की। सऊदी अरब के अधिकारियों का कहना है कि यह बैठक सऊदी अरब के विजन2030 के अनुरूप थी।
 

advertisement