राजस्थान चुनाव: BJP ने सचिन पायलट के खिलाफ युनूस खान को मैदान में उतारा     |       इंदिरा गांधीः सख्त फैसलों से बनीं 'आयरन लेडी', इसी से जुड़ी है उनकी हत्या की कड़ी     |       अमृतसर हमला: विवाद के बाद बैकफुट पर फुल्का, कांग्रेस ने बताया मानसिक दिवालिया     |       विवाद / आरबीआई बोर्ड की अहम बैठक शुरू, सरकार से मतभेद खत्म होने के आसार     |       देवोत्थान एकादशी आज, अब शुरू हो जाएंगे विवाह और अन्य शुभ कार्य     |       लालू की सेहत खराब, लौटेंगे तेज     |       महिला से फोन पर अचानक लोग करने लगे 'गंदी बातें', खुला राज तो सन्न रह गए लोग     |       दिल्ली: एक साल की बच्ची के साथ रेलवे ट्रैक पर रेप, आरोपी गिरफ्तार     |       Top 5 News : सेना में बड़े बदलाव की तैयारी, RBI की महत्वपूर्ण बोर्ड बैठक आज     |       नक्सलियों के साथ दिग्विजय सिंह की कॉल का लिंक मिला: पुणे पुलिस     |       18000 फीट ऊंचाई, भारत में बन रहा ग्लेशियर से गुजरने वाला पहला रोड     |       पाकिस्‍तान पर भड़के डोनाल्‍ड ट्रंप, कहा- वो हमारे लिए कुछ भी नहीं करता     |       जम्मू कश्मीर: पुलवामा में दो आतंकी हमले, CRPF जवान शहीद, जैश ने ली जिम्मेदारी     |       सत्यापन के रोड़े ने कर दिया परीक्षा से वंचित     |       UPTET परीक्षा में नकल करते पकड़ी गई महिला शिक्षामित्र, धांधली में हुई 35 की गिरफ्तारी     |       अलीगढ़ / ट्यूशन टीचर ने कक्षा दो के छात्र को बुरी तरह पीटा, मासूम की मानसिक हालत बिगड़ी, सीसीटीवी में कैद घटना     |       2019 लोकसभा चुनाव से पहले शिवसेना का नया नारा: हर हिंदू की यही पुकार, पहले मंदिर, फिर सरकार     |       मराठा आरक्षण को महाराष्ट्र सरकार ने दी मंज़ूरी, कितना आरक्षण मिलेगा ये तय नहीं     |       वोट के लिए बंट रहा था 10 रुपये में एक किलो चिकन, EC ने मारा छापा     |       मध्यप्रदेश चुनाव: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मैहर में किया रोड शो     |      

राज्य


14 लोगों की जान लेने वाली आदमखोर बाघिन को महाराष्ट्र में मार गिराया गया, तीन महीने से पकड़ने के हो रहे थे प्रयास

बाघिन अवनी तिपेश्वर टाइगर सैंक्चुरी में 10 महीने के अपने दो शावकों की परवरिश करती थी। उसे निशानेबाज नवाब असगर अली खान ने मार गिराया


man-eater-tigress-avni-killed-in-maharashtra-being-tried-to-trap-it-since-3-months

महाराष्ट्र के विदर्भ के जंगलों में दहशत का पर्याय बनी बाघिन अवनी को शनिवार को यवतमाल जिले में मार गिराया गया। बाघिन अवनी को ढूंढने के लिए वन विभाग की 200 लोगों टीम के साथ ही कैमरों, ड्रोन, हैंग ग्लाइडर और खोजी कुत्तों की मदद ली गई।

इस बाघिन को नवीनतम तकनीक की मदद से पकड़ने के लिए तीन महीने से ज्यादा समय से कोशिशें हो रही थीं।

विशेषज्ञों के मुताबिक, टी-1 के रूप में पहचानी गई अवनी को कम से कम 13 लोगों को शिकार बनाने का जिम्मेदार माना गया था। हालांकि परीक्षण के बाद सभी मौतों की वजह उसे नहीं माना गया।

बाघिन अवनी तिपेश्वर टाइगर सैंक्चुरी में 10 महीने के अपने दो शावकों की परवरिश करती थी। उसे निशानेबाज नवाब असगर अली खान ने मार गिराया।

बाघिन को रालेगांव थाने की सीमा में पड़ने वाले बोराती जंगल में घेर लिया गया था। उसके शव को परीक्षण के लिए नागपुर भेज दिया गया है। उसके शावक लापता हैं।

इस वर्ष सितम्बर महीने में उच्चतम न्यायालय ने कहा था कि उसे गोली मारी जा सकती है। इसके बाद उसे माफी देने की ऑनलाइन याचिकाओं की बाढ़ आ गई थी।

अभियान में शामिल अधिकारियों ने बताया कि दूसरी बाघिन के मूत्र और अमेरिकी इत्र को इलाके में छिड़का गया, जिसे सूंघते हुए अवनि वहां आ पहुंची।

पहले उसे जिंदा पकड़ने का प्रयास किया गया लेकिन घना जंगल और अंधेरा होने की वजह से ऐसा नहीं हो सका। अभियान के दौरान बाघिन ने टीम पर हमला कर दिया जिसे बाद एक गोली दागी गई और बाघिन ढेर हो गई।

वन्यजीव कार्यकर्ता और सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका दायर करने वाले जेरील ए. बनाइत ने कहा कि अवनी को मारने में राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) के नियमों का बड़े पैमाने पर उल्लंघन किया गया है।

उन्होंने कहा, "इस तरह के एक ऑपरेशन को केवल सूर्योदय और सूर्यास्त के बीच ही किया जा सकता है। एनटीसीए के दिशानिर्देशों के अनुसार, शनिवार तड़के अवनी को मारने के दौरान कोई भी पशु चिकित्सक या पुलिस मौजूद नहीं था। रात में किसी भी बाघ के लिंग की पहचान करना लगभग असंभव है।"
 

advertisement

  • संबंधित खबरें