पायलट के खिलाफ BJP का मुस्लिम कार्ड, यूनुस खान क्या साबित होंगे तुरूप का पत्ता?     |       इंदिरा गांधीः सख्त फैसलों से बनीं 'आयरन लेडी', इसी से जुड़ी है उनकी हत्या की कड़ी     |       अमृतसर हमला: विवाद के बाद बैकफुट पर फुल्का, कांग्रेस ने बताया मानसिक दिवालिया     |       विवाद / आरबीआई बोर्ड की अहम बैठक शुरू, सरकार से मतभेद खत्म होने के आसार     |       सबरीमाला मंदिर: धारा 144 के खिलाफ सड़कों पर उतरे श्रद्धालु, 28 हिरासत में     |       पति के इस कारनामे से हैरान हो जाएंगे आप, इंजीनियर पत्नी की फोटो व नंबर पॉर्न साइट पर डाला     |       Tulsi Vivah 2018: तुलसी विवाह का शुभ मुहूर्त, शादी की विधि, देवों को जगाने का मंत्र और कथा     |       Top 5 News : सेना में बड़े बदलाव की तैयारी, RBI की महत्वपूर्ण बोर्ड बैठक आज     |       18000 फीट ऊंचाई, भारत में बन रहा ग्लेशियर से गुजरने वाला पहला रोड     |       2019 लोकसभा चुनाव से पहले शिवसेना का नया नारा: हर हिंदू की यही पुकार, पहले मंदिर, फिर सरकार     |       अलीगढ़: हैवान टीचर ने बच्चे की बेरहमी से की पिटाई, जूते से मारकर मुस्कुराने को कहा     |       UPTET 2018: परीक्षा में धांधली का भंडाफोड़, 39 गिरफ्तार     |       IRCTC घोटाला केस : पटियाला हाउस कोर्ट में लालू की बेल पर 20 दिसंबर को होगी सुनवाई     |       KMP एक्सप्रेसवे का उद्घाटन आज, दिल्ली से घटेगा गाड़ियों का बोझ     |       महाराष्ट्र / सामाजिक और शैक्षणिक आधार पर मराठा समाज को आरक्षण देगी राज्य सरकार     |       पाकिस्‍तान पर भड़के डोनाल्‍ड ट्रंप, कहा- वो हमारे लिए कुछ भी नहीं करता     |       मध्यप्रदेश चुनाव: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मैहर में किया रोड शो     |       कोर्ट में मुकरने पर 'रेप पीड़िता' से वापस लिया मुआवज़ा: प्रेस रिव्यू     |       जम्मू कश्मीर: पुलवामा में दो आतंकी हमले, CRPF जवान शहीद, जैश ने ली जिम्मेदारी     |       लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर लगी आग, मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड     |      

राष्ट्रीय


#MeToo | 97 वकीलों के साथ अकबर ने पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ मानहानि का मामला दायर किया

एक तरफ 97 वकीलों के साथ अकबर, तो दूसरी तरफ अकेली प्रिय रमानी


me-too-mj-akbar-files-defamation-case-against-journalist-priya-ramani

केंद्रीय मंत्री एमजे अकबर ने पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ सोमवार को आपराधिक मानहानि का मामला दायर किया। रमानी ने मंत्री पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था।

गौरतलब है कि पत्रकार से राजनेता बने अकबर पर उनके साथ काम करने वाली कई महिला पत्रकारों ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। अकबर ने सभी आरोपों को झूठा और निराधार बताया है।

अकबर ने अपने 97 अधिवक्ताओं के साथ पटियाला हाउस कोर्ट में शिकायत दर्ज कराई। अकबर ने भारतीय दंड संहिता की धारा 500 (मानहानि) के तहत रमानी पर मुकदमा चलाने की मांग की।

अकबर ने आरोप लगाया है कि रमानी ने पूर्णतया झूठे व ओछे बयान द्वारा जानबूझकर, सोच-समझकर, स्वेच्छा से और दुर्भावनापूर्वक उन्हें बदनाम किया। इससे राजनीतिक गलियारे, मीडिया, दोस्तों, परिवार, सहकर्मियों और समाज में व्यापक रूप से उनकी साख और इज्जत को नुकसान पहुंचा है।

अधिवक्ता संदीप कपूर द्वारा दाखिल अर्जी में कहा गया है, "आरोपी द्वारा शिकायतकर्ता (अकबर) के खिलाफ लगाए गए अपमानपूर्ण आरोप प्रथम दृष्टया अपमान सूचक हैं और इन्होंने न केवल शिकायतकर्ता की उनके समाज व राजीतिक गलियारे में बरसों की मेहनत व मशक्कत के बाद अर्जित की गई उनकी साख और इज्जत को नुकसान पहुंचाया है बल्कि समुदाय, दोस्तों, परिवार और सहकर्मियों में उनके निजी सम्मान को भी प्रभावित किया है। इससे उन्हें अपूरणीय क्षति और अत्यधिक पीड़ा का सामना करना पड़ रहा है।"
 

advertisement

  • संबंधित खबरें