आईएस मॉड्यूल/ हैदराबाद-वर्धा में एनआईए के छापे; धमाकों की साजिश रचने के आरोप में दिल्ली से एक गिरफ्तार - Dainik Bhaskar     |       विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान का हुआ तबादला, 'वीर चक्र' देने के लिए सिफारिश - NDTV India     |       मुस्लिम वोटरों से अपील कर फंसे सिद्धू, चुनाव आयोग ने 24 घंटे में मांगा जवाब - आज तक     |       पीएम मोदी पर आधारित वेब सीरीज के प्रसारण पर चुनाव आयोग की रोक - Navbharat Times     |       अखिलेश-माया पर मोदी का तंज, 23 मई के बाद दुश्मनी पार्ट टू शुरू कर देंगे 'बुआ-बबुआ - अमर उजाला     |       बिहार: सुपौल में मंच से बोले राहुल गांधी-बिहार का चौकीदार बहुत ही ईमानदार होता है - दैनिक जागरण     |       क्राइम 360: रोहित शेखर मर्डर केस में पत्नी अपूर्वा से पूछताछ Crime 360: Wife of Rohit under interrogation in Murder Case - crime 360 - आज तक     |       मोदी-शाह की जोड़ी अगर सत्ता में आती है तो कांग्रेस होगी इसके लिये जिम्मेदार: AAP - NDTV India     |       RBI ने हफ्ते में पांच दिन ही बैंकों के खुलने की खबरों को बताया गलत, कहा- नहीं जारी किये ऐसे निर्देश - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       लोकसभा चुनाव/ तीसरा चरण: 21% दागी, 25% करोड़पति उम्मीदवार; बीजापुर के प्रत्याशी ने 9 रु की संपत्ति बताई - Dainik Bhaskar     |       घर में ही घ‍िरे राष्‍ट्रपति ट्रंप: मूलर की रिपोर्ट से अमेरिकी सियासत में कोहराम, महाभियोग पर अड़ा विपक्ष - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       अबु-धाबी में पहले हिंदू मंदिर का शिलान्यास - BBC हिंदी     |       आखिर सुषमा स्वराज ने लीबिया में फंसे भारतीयों को वहां से तुरंत निकलने को क्यों कहा - NDTV India     |       Shab-E-Barat wishes images 2019: Messages, WhatsApp status, pics and quotes to add fervour to the festival - Times Now     |       65 हजार रुपये में लॉन्च हो जा रहा है ये नया 125cc स्कूटर - आज तक     |       दो दिन में मुकेश अंबानी को 2 बर्थडे गिफ्ट, दुनिया भर में हुई चर्चा - Business - आज तक     |       Vodafone का नया प्लान, मिलेगी एक साल की वैधता, अनलिमिटेड कॉलिंग और भी बहुत कुछ - Jansatta     |       Flipkart सेल: इन स्मार्ट TV मॉडलों पर मिलेगी 10 हजार तक छूट - आज तक     |       ब्रहास्त्र : हाथों से आग निकालने की सुपरपावर, दिलचस्प है DJ रणबीर का किरदार - आज तक     |       स्कूल ड्रेस में दिखे Kartik Aryan, पहचान पाना है मुश्किल - नवभारत टाइम्स     |       साध्वी प्रज्ञा सिंह के बयान को लेकर स्वरा भास्कर से उलझीं पायल रोहतगी - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       कैटरीना कैफ के साथ दिखे सलमान खान, फिर भी छुपा न सके दर्द, लिखा- हर मुस्कराते चेहरे के पीछे... - NDTV India     |       गांगुली मामले में लोकपाल ने कहा- दोनों पक्ष अब देंगे लिखित दलील - आज तक     |       कुछ सीखो टीम इंडिया, स्टीव स्मिथ आईपीएल में कर रहा विश्वकप की तैयारी - Webdunia Hindi     |       आईपीएल 2019 : अभ्यास के दौरान वेस्टइंडीज के पवार हीटर खिलाड़ी को लगी चोट - SportzWiki Hindi     |       KKR vs RCB: विराट नहीं इस खिलाड़ी की पारी ने केकेआर से छीना मैचः दिनेश कार्तिक - Hindustan     |      

राजनीति


मप्र में चुनाव खर्च के लिए उम्मीदवार बेचना चाहता है अपना गुर्दा!

मध्य प्रदेश के बालाघाट संसदीय क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रहे पूर्व विधायक किशोर समरीते ने महंगे होते चुनाव और अपनी आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए चुनाव आयोग से आर्थिक मदद करने अथवा अपना गुर्दा बेचने देने की अनुमति मांगी है


mp-wants-to-sell-his-candidate-for-election-expenses

मध्य प्रदेश के बालाघाट संसदीय क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ रहे पूर्व विधायक किशोर समरीते ने महंगे होते चुनाव और अपनी आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए चुनाव आयोग से आर्थिक मदद करने अथवा अपना गुर्दा बेचने देने की अनुमति मांगी है।

समरीते ने बालाघाट के जिला निर्वाचन अधिकारी को पत्र लिखकर कहा है, "लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार के लिए अधिकतम व्यय सीमा 75 लाख रुपये है, मगर मेरे पास चुनाव लड़ने के लिए इतनी धनराशि नहीं है। वहीं, दूसरे उम्मीदवारों की संपत्ति हजारों करोड़ के आसपास है। इसके साथ ही चुनाव प्रचार की अवधि में महज 15 दिन शेष हैं, इस अवधि में जन सहयोग से राशि जुटाना संभव नहीं है।" 

समरीते ने चुनाव आयोग से अनुरोध किया है कि आयोग 75 लाख रुपये की राशि उपलब्ध कराए अथवा बैंक से उक्त राशि बतौर कर्ज दिलाने में मदद करें। यह दोनों ही संभव नहीं हो तो उसे अपने दो में से एक गुर्दा बेचने की अनुमति दे। पूर्व में अपने क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुके समरीते का कहना है कि वे 10 वर्ष बाद निर्वाचन प्रक्रिया में सम्मिलित हो रहे हैं। आर्थिक स्थिति बेहतर नहीं है, लिहाजा चुनाव आयोग उनकी मदद करे अथवा गुर्दा बेचने की अनुमति प्रदान करे।

समरीते ने एक बातचीत में कहा, "चुनाव प्रक्रिया महंगी होती जा रही है, इस स्थिति में कमजोर वर्ग के व्यक्ति के लिए तो चुनाव लड़ना बड़ा मुश्किल काम हो चला है। लिहाजा चुनाव आयोग को ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए जिससे आम आदमी के लिए चुनाव लड़ना आसान हो।"

advertisement