पायलट के खिलाफ BJP का मुस्लिम कार्ड, यूनुस खान क्या साबित होंगे तुरूप का पत्ता?     |       अमृतसर / आईएसआई की पनाह में बैठे खालिस्तानी आतंकी हैं बम कांड के सरगना, मकसद-दहशत फैलाना     |       विवाद / आरबीआई बोर्ड की अहम बैठक शुरू, सरकार से मतभेद खत्म होने के आसार     |       सबरीमला विवाद: CM के घर के बाहर श्रद्धालुओं का प्रदर्शन, पुलिस पर लगाया दुर्व्यवहार का आरोप     |       इंदिरा गांधी की 101वीं जयंती: मोदी, सोनिया और राहुल ने दी श्रद्धांजलि     |       बरसाने में पगड़ी बांधे दिखे राजद नेता तेजप्रताप, दिल्‍ली में राबड़ी से मुलाकात कराने में जुटे दामाद     |       Top 5 News : सेना में बड़े बदलाव की तैयारी, RBI की महत्वपूर्ण बोर्ड बैठक आज     |       टीईटी : सॉल्वर गैंग के चार सदस्यों की तलाश में जुटी एसटीएफ     |       KMP एक्सप्रेसवे का उद्घाटन आज, दिल्ली से घटेगा गाड़ियों का बोझ     |       अमृतसर ब्लास्ट की कहानी, चश्मदीदों की जुबानी     |       18000 फीट ऊंचाई, भारत में बन रहा ग्लेशियर से गुजरने वाला पहला रोड     |       UGC Net 2018: Admit Card आज होंगे जारी, यहां करें डाउनलोड     |       2019 लोकसभा चुनाव से पहले शिवसेना का नया नारा: हर हिंदू की यही पुकार, पहले मंदिर, फिर सरकार     |       महिला से फोन पर अचानक लोग करने लगे 'गंदी बातें', खुला राज तो सन्न रह गए लोग     |       दिग्विजय पर नक्सल कनेक्शन का शक, जल्द भेज सकते हैं समन: पुणे पुलिस     |       Tulsi Vivah 2018: तुलसी विवाह का शुभ मुहूर्त, शादी की विधि, देवों को जगाने का मंत्र और कथा     |       अलीगढ़ / ट्यूशन टीचर ने कक्षा दो के छात्र को बुरी तरह पीटा, मासूम की मानसिक हालत बिगड़ी, सीसीटीवी में कैद घटना     |       सिद्धू ने इशारों में सिंहदेव को बताया मुख्यमंत्री उम्मीदवार     |       IT-ED की छापेमारी रोकने के लिए कोर्ट जा सकते हैं नायडू, विपक्ष को भी मनाएंगे     |       सर्वे: अमेरिकी राजीनति में युवाओं की बढ़ती दिलचस्‍पी, ट्रंप के लिए खतरे की घंटी!     |      

विदेश


पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने मृत्युदंड की सजा पाई ईसाई महिला को बरी किया

प्रधान न्यायाधीश साकिब निसार की अध्यक्षता वाली तीन न्यायाधीशों की पीठ ने मृत्युदंड की सजा के खिलाफ आसिया की 2014 में दाखिल अपील पर सुनवाई की। पीठ में न्यायमूर्ति आसिफ सईद खोसा और न्यायमूर्ति मजहर आलम खान मियांखेल शामिल थे


pakistan-christian-woman-acquitted-in-the-blasphemy-case-protest-started

पाकिस्तान के सर्वोच्च न्यायालय ने बुधवार को आसिया बीबी को बरी कर दिया और इस्लामी समूहों द्वारा उन्हें मृत्युदंड देने की मांग के बीच तुरंत रिहा करने का आदेश दिया। ईसाई महिला आसिया को ईशनिंदा के आरोपों में निचली अदालतों ने मृत्युदंड की सजा सुनाई थी।

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की रहने वाली आसिया पांच बच्चों की मां हैं। उन्हें 2010 में ईशनिंदा के लिए दोषी ठहराया गया था। दरअसल आसिया पर अपने पड़ोसियों के साथ झगड़े के दौरान पैगंबर मोहम्मद के नाम को बिगाड़ कर बोलने का आरोप था।

प्रधान न्यायाधीश साकिब निसार की अध्यक्षता वाली तीन न्यायाधीशों की पीठ ने मृत्युदंड की सजा के खिलाफ आसिया की 2014 में दाखिल अपील पर सुनवाई की। पीठ में न्यायमूर्ति आसिफ सईद खोसा और न्यायमूर्ति मजहर आलम खान मियांखेल शामिल थे।

न्यायमूर्ति निसार ने कहा, "मृत्युदंड की सजा रद कर दी गई है। आसिया बीबी को दोषों से बरी किया जाता है।"

उन्होंने कहा कि अगर आसिया किसी अन्य मामले में वांछित नहीं हैं तो वह तुरंत लाहौर के समीप शेखपुरा स्थित जेल से मुक्त होकर जा सकती हैं।

आसिया फैसला सुनाए जाने के समय अदालत में मौजूद नहीं थीं। आसिया 2014 में लाहौर उच्च न्यायालय में दाखिल अपील हार गई थीं। 2015 में सर्वोच्च न्यायालय ने मृत्युदंड आदेश पर रोक लगाते हुए कहा कि वह अपील को देखेगा और उसके बाद फैसला सुनाएगा। 

यह फैसला सर्वोच्च न्यायालय के प्रवेश द्वार पर तैनात दंगा पुलिस और बम विशेषज्ञों के साथ कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच सुनाया गया। कमरे के अंदर सुरक्षा बनाए रखने के लिए आतंक रोधी दस्ते के निशस्त्र कमांडो तैनात थे।
 

advertisement