राजस्थान चुनाव: BJP ने सचिन पायलट के खिलाफ युनूस खान को मैदान में उतारा     |       विवाद / आरबीआई बोर्ड की अहम बैठक शुरू, सरकार से मतभेद खत्म होने के आसार     |       अमृतसर हमला: विवाद के बाद बैकफुट पर फुल्का, कांग्रेस ने बताया मानसिक दिवालिया     |       इंदिरा गांधीः सख्त फैसलों से बनीं 'आयरन लेडी', इसी से जुड़ी है उनकी हत्या की कड़ी     |       सबरीमला विवाद: CM के घर के बाहर श्रद्धालुओं का प्रदर्शन, पुलिस पर लगाया दुर्व्यवहार का आरोप     |       फुटपाथ पर सो रही डेढ़ साल की मासूम को अगवा कर दुष्कर्म, हालत नाजुक     |       पति के इस कारनामे से हैरान हो जाएंगे आप, इंजीनियर पत्नी की फोटो व नंबर पॉर्न साइट पर डाला     |       भीमा कोरेगांव केस : नक्‍सलियों के लेटर में मिला दिग्विजय सिंह का मोबाइल नंबर, पूछताछ संभव     |       Tulsi Vivah 2018: तुलसी विवाह का शुभ मुहूर्त, शादी की विधि, देवों को जगाने का मंत्र और कथा     |       Top 5 News : सेना में बड़े बदलाव की तैयारी, RBI की महत्वपूर्ण बोर्ड बैठक आज     |       18000 फीट ऊंचाई, भारत में बन रहा ग्लेशियर से गुजरने वाला पहला रोड     |       2019 लोकसभा चुनाव से पहले शिवसेना का नया नारा: हर हिंदू की यही पुकार, पहले मंदिर, फिर सरकार     |       KMP एक्सप्रेसवे का उद्घाटन आज, दिल्ली से घटेगा गाड़ियों का बोझ     |       अलीगढ़: हैवान टीचर ने बच्चे की बेरहमी से की पिटाई, जूते से मारकर मुस्कुराने को कहा     |       सत्यापन के रोड़े ने कर दिया परीक्षा से वंचित     |       UPTET 2018: परीक्षा में धांधली का भंडाफोड़, 39 गिरफ्तार     |       IRCTC घोटाला केस : पटियाला हाउस कोर्ट में लालू की बेल पर 20 दिसंबर को होगी सुनवाई     |       महाराष्ट्र में मराठाओं को आरक्षण दिए जाने की मांग को फड़नवीस सरकार ने स्वीकार किया     |       पाकिस्‍तान पर भड़के डोनाल्‍ड ट्रंप, कहा- वो हमारे लिए कुछ भी नहीं करता     |       चिकन सेंटर पर भीड़ की सूचना पर उड़नदस्ते ने की छापामारी, 10 रुपए के नोट जब्त किए     |      

राजनीति


राजस्थान में सचिन और गहलोत के बीच ठने महासंग्राम में कहीं महारानी बाजी ना मार ले जाएं

अब गहलोत जोधपुर की अपनी पुरानी सीट से मैदान में उतरेंगे, राहुल गांधी की नजरों में सचिन तभी चड़ गए थे, जब उन्होंने अजमेर लोकसभा चुनाव लड़ने से मना कर दिया था। रही सही कसर इस घटना ने पूरी कर दी


चुनाव हुए नहीं, सत्ता मिली नहीं, लेकिन राजस्थान कांग्रेस  में सीएम पद की लड़ाई तेज हो गई है। 

सीएम बनने को उतावले एक तरफ सचिन पायल हैं, तो दूसरी तरफ अशोक गहलोत। बाकी बची पार्टी और कार्यकर्ता, तो वे इन दोनों के बीच में फंसे हैं। इनकी लड़ाई में बाजी महारानी न मार ले आशंका इस बात की है।

राजस्थान एक मात्र ऐसा राज्य है, जहां सत्ता मिलने की कांग्रेस को ज्यादा उम्मीद है, लेकिन एक अनार और दो बीमार की जिस हालत से कांग्रेस मध्यप्रदेश में जूझ रही है। वैसा ही कुछ राजस्थान में भी हो रहा है।

पिछले दिनों करेली की सभा में सचिन ने अपने पक्ष में जमकर नारेबाजी करवाई, अशोक गहलोत को बोलने तक नहीं दिया गया। 

इससे नाराज होकर राहुल गांधी ने बैठक में सचिन पायलट की क्लास भी लगाई और लगे हाथ अशोक गहलोत को विधानसभा चुनाव लड़ने को भी कह दिया।

अब गहलोत जोधपुर की अपनी पुरानी सीट से मैदान में उतरेंगे, राहुल गांधी की नजरों में सचिन तभी चड़ गए थे, जब उन्होंने अजमेर लोकसभा चुनाव लड़ने से मना कर दिया था। रही सही कसर इस घटना ने पूरी कर दी। 

सचिन के साथ दिक्कत यह है कि उनके हातिमताई अहमद पटेल अब ज्यादा कुछ नहीं कर सकते और उनके ससुर जी फारुख अब्दुल्ला की दस जनपथ में पूछ भी उतनी नहीं रही, जितनी हुआ करती थी।

advertisement

  • संबंधित खबरें