ममता की महारैली में पूर्व PM से लेकर जुटे कई पूर्व मुख्यमंत्री - Lok Sabha Election 2019 AajTak - आज तक     |       सुसाइड केस/ भय्यू महाराज को ब्लैकमेल कर रहे थे सेवादार विनायक, शरद और पलक; तीनों गिरफ्तार - Dainik Bhaskar     |       Gaganyaan: Crew module, crew service module design to be finalised soon - Times Now     |       कर्नाटक का नाटक: तीन दिन में तीन भाजपा विधायकों ने छोड़ा होटल, जानें क्‍या चल रहा खेल - दैनिक जागरण     |       केन्द्र सरकार को नहीं पता, 1990 के कत्लेआम में मारे गए कितने कश्मीरी पंडित - आज तक     |       Grahan 2019/ इस साल पड़ेंगे कुल 5 ग्रहण, 2 चंद्रग्रहण और 3 सूर्यग्रहण से बदलेगी दशा, जानें कब-कब होंगे ग्रहण? - Dainik Bhaskar     |       21 को साल का पहला चंद्र ग्रहण, इन राशियों पर होगा ज्यादा असर - dharma - आज तक     |       केरल सरकार का दावा- सबरीमाला में 51 महिलाओं ने किए दर्शन - नवभारत टाइम्स     |       Two Russian fighter jets collide over Sea of Japan - Times Now     |       ट्रंप-किम की दूसरी मुलाकात 'जल्द' होगी - BBC हिंदी     |       हादसा/ जापानी समुद्र के ऊपर अभ्यास के दौरान दो रूसी फाइटर जेट टकराए, पायलट सुरक्षित - Dainik Bhaskar     |       यूके/ ब्रेग्जिट डील फेल होने के बाद संसद में थेरेसा मे अविश्वास प्रस्ताव में जीतीं, 19 वोटों से बचाई सरकार - Dainik Bhaskar     |       उठा-पटक के बीच बाजार की सपाट क्लोजिंग - मनी कॉंट्रोल     |       शनिवार को पेट्रोल-डीजल के दाम में हुई भारी बढ़ोतरी, फटाफट जानिए नए रेट्स - News18 Hindi     |       Market Live: Nifty slips below 10900, Sensex trades lower; pharma stocks under pressure - Moneycontrol.com     |       तस्वीरों में देखें Toyota Camry Hybrid 2019 कार, भारत में हुई लॉन्च- Amarujala - अमर उजाला     |       मणिकर्ण‍िका की स्पेशल स्क्रीनिंग, राष्ट्रपति ने देखी फिल्म - आज तक     |       विवाद/ बोनी कपूर का एलान जब तक बंद नहीं हो जाती फिल्म श्रीदेवी बंगलो, तब तक चैन से नहीं बैठेंगे - Dainik Bhaskar     |       भाबी जी घर पर हैं की अनीता भाभी के घर आया नया मेहमान, गोरी मेम बनीं मां - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       व्हाय चीट इंडिया : फिल्म समीक्षा | Webdunia Hindi - Webdunia Hindi     |       No point going after bowlers who were bowling well: MS Dhoni - Cricbuzz     |       Malaysia Masters: Saina Nehwal beats Nozomi Okuhara in quarters, to take on Carolina Marin in semi-finals - Times Now     |       ऑस्ट्रेलिया में चली चहल की फिरकी, शास्त्री-मुश्ताक के रिकॉर्ड टूटे - Sports - आज तक     |       Paul Pogba praises Ole Gunnar Solskjaer for revitalising Manchester United's attack - Times Now     |      

राजनीति


राम मंदिर | सुप्रीम कोर्ट जनवरी 2019 में करेगा सुनवाई, तेज हुई हलचल

नवगठित पीठ द्वारा सोमवार को दोनों पक्षों, हिंदू और मुस्लिम हितधारकों द्वारा दाखिल याचिकाओं के समूह पर सुनवाई किए जाने की उम्मीद थी। इन याचिकाओं में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती दी गई है


ram-mandir-dispute-supreme-court-ill-hear-the-case-in-january-2019

सर्वोच्च न्यायालय में अयोध्या मामले की सुनवाई टल गई है। शीर्ष अदालत ने कहा कि अयोध्या जमीन विवाद की अगली सुनवाई जनवरी 2019 में एक उचित पीठ के समक्ष होगी। हालांकि अदालत ने सुनवाई के लिए कोई विशेष तारीख निर्धारित करने से इनकार किया। कोर्ट के फैसले के बाद इस मामले को लेकर हलचल तेज हो गई है।

प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति रंजन गोगोई की अगुआई वाली पीठ ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय के 2010 में अयोध्या की विवादित जमीन के तीन भाग करने को चुनौती देने वाली याचिकाओं के समूह पर सुनवाई अगले साल करने का निर्देश दिया।

प्रधान न्यायाधीश के अलावा न्यायमूर्ति संजय किशन कौल व न्यायमूर्ति केएम जोसेफ भी सुनवाई करने वाली पीठ में शामिल थे। इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने 2010 के अपने फैसले में विवादित स्थल को तीन भागों रामलला, निर्मोही अखाड़ा व मुस्लिम वादियों में बांटा था।

शीर्ष अदालत ने 27 सितम्बर को तत्कालीन प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा की अगुआई में न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एस. अब्दुल नजीर के साथ 2 : 1 के बहुमत से 1994 में दिए गए उच्च न्यायालय के एक फैसले को चुनौती देने वाली याचिका को खारिज कर दिया था और मामले की सुनवाई 29 अक्टूबर से तीन न्यायाधीशों की खंडपीठ द्वारा होने निर्देश दिया था।

नवगठित पीठ द्वारा सोमवार को दोनों पक्षों, हिंदू और मुस्लिम हितधारकों द्वारा दाखिल याचिकाओं के समूह पर सुनवाई किए जाने की उम्मीद थी। इन याचिकाओं में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती दी गई है। 

शीर्ष अदालत के निर्णय के बाद विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) ने केंद्र सरकार से राम मंदिर के लिए अध्यादेश लाने की मांग की। जबकि भाजपा की सहयोगी पार्टी शिवसेना के नेता संजय राउत ने कहा कि कोर्ट अयोध्या मामले पर क्या फैसला देता है, हमारा ध्यान उस पर नहीं है। हम चाहते हैं राम मंदिर बनाया जाए। 

शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने कि वह पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने का वक्त मांगेंगे और उनसे राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने का अनुरोध करेंगे। वहीं, एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इस मामले में केंद्र सरकार को अध्यादेश लाने की चुनौती दी। उन्होंने कहा कि कोर्ट का निर्णय हम सबको मानना पड़ेगा। 
 

advertisement

  • संबंधित खबरें