समझौता ब्लास्ट में सभी आरोपी बरी होने पर भड़का पाकिस्तान, भारत ने दिया जवाब - आज तक     |       BSP chief Mayawati not to contest Lok Sabha elections - Times Now     |       भाजपा केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में 11 राज्यों के लिए उम्मीदवारों के नाम तय - Webdunia Hindi     |       लोकसभा चुनाव 2019: भाजपा के प्रत्याशी घोषित नहीं, नामांकन की तारीखें तय - Amarujala - अमर उजाला     |       मनोहर पर्रिकर की तस्वीर बगल में रख गोवा के नए सीएम डॉ. प्रमोद सावंत ने संभाला कामकाज - नवभारत टाइम्स     |       भारत को 59 साल लगे पहला लोकपाल बनाने में, दुनिया में 210 साल पुराना है यह कानून - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       3 दिन, 13 अंदाज: बोट यात्रा से छाईं प्रियंका गांधी, Photos - Lok Sabha Election 2019 - आज तक     |       चुनाव आयोग ने सोशल मीडिया के लिए 'कोड ऑफ एथिक्स' लागू किया - NDTV India     |       जिम्बाब्वे में चली ऐसी हवा झटके में 300 लोगों को मौत की नींद सुला गई - Zee News Hindi     |       गूगल पर 11,760 करोड़ रुपये का जुर्माना - BBC हिंदी     |       बॉस के साथ संबंध बनाने में बिजी थी महिला पुलिस अफसर, कार में मर गई 3 साल की बेटी.. - पंजाब केसरी     |       Masood Azhar:जैश-ए मोहम्मद चीफ मसूद अजहर पर फ्रांस के बाद अब जर्मनी भी लगाएगा प्रतिबंध! - Times Now Hindi     |       Hyundai Motor, Kia Motors to invest $300 million in Ola - Times Now     |       होली के सदाबहार गाने जिनके बिना अधूरा है रंगों का त्योहार - आज तक     |       लगातार सातवें दिन तेजी, निफ्टी 11500 के पार बंद - मनी कॉंट्रोल     |       एनालिसिस/ 2.47 लाख करोड़ रु के दान के बाद भी गेट्स की नेटवर्थ 130 देशों की जीडीपी से ज्यादा - Dainik Bhaskar     |       Father is doing well: Ranbir on Rishi Kapoor's health - Deccan Herald     |       केसरी: अक्षय कुमार की जुबानी, फिल्म रिलीज से पहले जान लें क्लाइमैक्स - आज तक     |       हाथों में हाथ थामे अवॉर्ड शो से न‍िकले रणबीर कपूर-आल‍िया भट्ट - आज तक     |       'पब्लिक डिमांड' पर अब इस दिन रिलीज होगी पीएम नरेंद्र मोदी की बायोपिक - News18 Hindi     |       IPL-12: चौथी बार ट्रोफी जीतने उतरेगी मुंबई इंडियंस, संतुलन है टीम की ताकत - Navbharat Times     |       कोलकाता/ मैच में बल्लेबाजी करते हुए गिरा खिलाड़ी, हुई मौत - Dainik Bhaskar     |       IPL 2019: विराट कोहली की कप्तानी पर गौतम गंभीर ने उठाए सवाल, कही ये बड़ी बात - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       मोहम्मद शमी को को आईपीएल के बीच में दिया जाएगा आराम: माइक हेसन - Wahcricket     |      

फीचर


कला से कैदियों को मिली नई जिंदगी, नाटक और चित्रकारी में दिखा रहे हुनर

अपने जीवन में गलतियां करने वालों को सुधरने का दूसरा मौका देने के मकसद से तिहाड़ जेल और पश्चिम बंगाल के बरहामपुर केंद्रीय सुधार गृह में कैदियों में सुधार लाने और उनको नई जिंदगी जीने को प्रेरित करने के लिए चित्रकारी और रंगकर्म के अभिनय के लिए प्रोत्साहन दिया जा रहा है


the-art-of-showing-the-new-life-drama-and-painting-received-by-prisoners-from-art

भारत की जेलों की अक्सर जो छवि उभरकर आती है, उसमें गंदे और तंग कोठरियों में अमानवीय जीवन जी रहे कैदी होते हैं जिनको वहां से मुक्त होने का इंतजार रहता है।

इसलिए कैदियों की एक मंडली का मंच पर उतरना और रवींद्रनाथ टैगोर के नाटक का मंचन करने के लिए उनकी तारीफ होना या कैदियों की चित्रकारी की कला के कद्रदानों द्वारा सराहना करना और प्रदर्शनी में हजारों रुपये में उनकी चित्रकारी का बिकना बेशक हैरान करने वाली बात है। 

अपने जीवन में गलतियां करने वालों को सुधरने का दूसरा मौका देने के मकसद से तिहाड़ जेल और पश्चिम बंगाल के बरहामपुर केंद्रीय सुधार गृह में कैदियों में सुधार लाने और उनको नई जिंदगी जीने को प्रेरित करने के लिए चित्रकारी और रंगकर्म के अभिनय के लिए प्रोत्साहन दिया जा रहा है। 

कला और रंगकर्म को बदलाव का जरिया बनाते हुए दोनों जेलों के कैदियों को बंदीगृहों में सृजन की आजादी मिली हुई है। कैदी भी इसे महज समय बिताने का साधन नहीं बल्कि सुधारात्मक उपाय मानकर और कारावास की अवधि समाप्त होने पर इसे संभावित व्यवसाय के रूप अपनाना चाहते हैं।

कॉलेज ऑफ आर्ट के कला प्रशिक्षक सूरज प्रकाश तिहाड़ की जेल नंबर-4 में कैदियों को जून 2017 से हर सप्ताह कला का प्रशिक्षण दे रहे हैं। दरअसल जेल प्रशासन ने कुछ कैदियों को शौकिया तौर पर चित्रकारी व पेटिंग करते देखा था।

प्रकाश ने बताया कि कैदियों को प्रोत्साहित करने के लिए अधीक्षक राजेश चौहान ने उनके प्रशिक्षण के लिए प्रशिक्षकों से संपर्क किया। महज मुट्ठीभर लोगों से शुरू कर यह समूह अब काफी बड़ा बन गया है और इसमें करीब 200 लोग जुड़ गए हैं और दो साल से कम समय में 20 लोगों ने कला में निपुणता हासिल कर ली है। 

आर्ट गैलरी से सुसज्जित तिहाड़ स्कूल ऑफ आर्ट ने अपनी स्थापना से लेकर अब तक 60 कलाकृतियां बेची हैं जिनसे पांच से छह लाख रुपये प्राप्त हुए हैं।

प्रकाश के अनुसार, प्रत्येक कलाकृति की बिक्री से प्राप्त आधी रकम संबंधित कैदी के खाते में जमा करवा दी जाती है और बाकी कला संबंधी कार्यकलापों पर खर्च की जाती है। भारत कला महोत्सव में कैदियों की कलाकृतियों के प्रदर्शन के लिए एक बूथ है। 

रंगकर्म निर्देशक प्रदीप भट्टाचार्य जब 2006 में बहरामपुर कारावास में प्रदर्शन के लिए गए, उसी समय थिएटर थेरेपी के रूप में दूसरी पहल की शुरुआत हुई। उन्होंने देखा कि लिंग के आधार पर विभाजित जेल की कोठरियों में रहने वाले कैदियों में कम लोग साक्षर थे। कारावास के महानिरीक्षक बीडी शर्मा के प्रस्ताव पर भट्टाचार्य ने कैदियों के साथ काम करना आरंभ किया जिनमें से अधिकांश को आजीवान कारावास की सजा मिली थी।

निर्देशक और अभिनेताओं के साथ-साथ भोजन करने से उनके बीच जुड़ाव को मजबूती मिली और उनका हावभाव पूरी तरह बदल गया। 

भट्टाचार्य ने कहा, "रंगकर्म मेरा हथियार है। इससे इन लोंगों की जिंदगियां बदल गई हैं। उन्होंने अपराध किया है, लेकिन उनमें सुधार लाने में काफी सफलता मिली है।" बहरामपुर रेपरेट्री थिएटर ने यहां नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के रंगमहोत्सव के दौरान गुरुवार को रवींद्रनाथ टैगोर लिखित नाटक रक्तकरबी का मंचन किया। 

पूरे भारत में टैगोर की तीन रचनाओं का 50 से अधिक बार मंचन करने के बाद अब मंडली के कलाकार जेल से मुक्त होने पर भी रंगकर्म से जुड़े रहना चाहते हैं। कैदी कलाकार अभिनेता सपन मेहना ने कहा, "रंगकर्म से मानसिक शांति मिलती है। जब मैं अभिनय करता हूं तो मुझे सारे तनावों से छुटकारा मिलता है।"

नाटक के एक मुख्य किरदार बुद्धदेव मेटा ने कहा, "जब मुझे आजीवन कारावास की सजा मिली तो मेरे चारों तरफ घना अंधेरा था और मैं सोचता था कि मेरी जिंदगी समाप्त हो गई है, लेकिन जब निर्देशक ने मुझे रंगकर्म के लिए प्रोत्साहित किया तो मुझे साथ जीवन जीने का एक नया मंच मिल गया। मैं अब इसे खोना नहीं चाहता हूं।"

उन्होंने गर्व से कहा कि जेल से मुक्त होने के बाद भी वह रंगकर्म से जुड़े रहना चाहते हैं।
 

advertisement