BSP chief Mayawati not to contest Lok Sabha elections - Times Now     |       प्लास्टिक सर्जरी से वैनुआटु की नागरिकता तक, नीरव ने यूं की बचने की कोशिश - नवभारत टाइम्स     |       लोकसभा चुनाव 2019: भाजपा के प्रत्याशी घोषित नहीं, नामांकन की तारीखें तय - Amarujala - अमर उजाला     |       PM मोदी वाराणसी से फिर से चुनाव लड़ने के लिए तैयार, जल्द जारी होगी BJP की पहली लिस्ट - Hindustan     |       समझौता ब्लास्ट में सभी आरोपी बरी होने पर भड़का पाकिस्तान, भारत ने दिया जवाब - आज तक     |       पीएम मोदी के बारे में क्या सोचते हैं 'चौकीदार' - आज तक     |       जम्‍मू-कश्‍मीर: सीआरपीएफ जवान ने तीन साथियों को गोलियों से भूना, खुद को भी गोली मारी - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       If you want your child to become 'chowkidar' vote for Modi ji: Arvind Kejriwal's 'classist' attack on PM - Times Now     |       जिम्बाब्वे में चली ऐसी हवा झटके में 300 लोगों को मौत की नींद सुला गई - Zee News Hindi     |       Nirav Modi: नीरव मोदी को नहीं मिली ज़मानत,अब आगे क्या? - BBC हिंदी     |       यूरोपीय संघ ने गूगल पर लगाया 117 अरब रुपये का जुर्माना, 2 साल के अंदर लगने वाला तीसरा बड़ा जुर्माना- Amarujala - अमर उजाला     |       दुनिया के खुशहाल देशों की रैंकिंग में भारत सात पायदान नीचे खिसक कर 140वें स्थान पर पहुंचा - ABP News     |       Hyundai Motor, Kia Motors to invest $300 million in Ola - Times Now     |       लगातार सातवें दिन तेजी, निफ्टी 11500 के पार बंद - मनी कॉंट्रोल     |       एनालिसिस/ 2.47 लाख करोड़ रु के दान के बाद भी गेट्स की नेटवर्थ 130 देशों की जीडीपी से ज्यादा - Dainik Bhaskar     |       Vodafone ऑफर: आधी कीमत में ऐसे मिलेगा Amazon प्राइम - आज तक     |       Kesari Movie Review: 21 रण-वीरों के बलिदान की गौरव गाथा, इतने स्टार्स मिले हैं - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       केसरी के बारे में अक्षय कुमार ने बताई खास बातें - Webdunia Hindi     |       My father is doing well: Ranbir Kapoor opens up about dad Rishi Kapoor's health - Times Now     |       हिना खान ने इंस्टाग्राम पर दिखाया होली स्वैग, यूजर्स बोले- 'कभी तो खुद के खरीदे कपड़े पहना करों'- Amarujala - अमर उजाला     |       सौरव गांगुली ने वर्ल्ड कप में नंबर 4 पोजिशन के लिए सुझाया इस खिलाड़ी का नाम - Hindustan     |       IPL-12: चौथी बार ट्रोफी जीतने उतरेगी मुंबई इंडियंस, संतुलन है टीम की ताकत - Navbharat Times     |       कोलकाता/ मैच में बल्लेबाजी करते हुए गिरा खिलाड़ी, हुई मौत - Dainik Bhaskar     |       IPL 2019: विराट कोहली की कप्तानी पर गौतम गंभीर ने उठाए सवाल, कही ये बड़ी बात - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |      

राष्ट्रीय


आर्थिक मामलों के सचिव ने कहा, किसानों के खातों में रकम अगले हफ्ते से

पिछले हफ्ते पेश किए गए अंतरिम बजट में किसानों के लिए प्रत्यक्ष आय योजना की घोषणा की गई थी। इसके तहत किसानों के खातों में रकम अगले हफ्ते से पहुंचने लगेगी। यह जानकारी आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने दी


the-economic-affairs-secretary-said-the-amount-in-the-accounts-of-farmers-next-week

पिछले हफ्ते पेश किए गए अंतरिम बजट में किसानों के लिए प्रत्यक्ष आय योजना की घोषणा की गई थी। इसके तहत किसानों के खातों में रकम अगले हफ्ते से पहुंचने लगेगी। यह जानकारी आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने दी।

उन्होंने उन आशंकाओं को खारिज कर दिया, जिनमें कहा जा रहा है कि भू-अभिलेखों के कारण इस योजना का भुगतान रुक सकता है। 

उन्होंने एक विशेष बातचीत में कहा, "बहुत गंभीरता से तैयारियां चल रही हैं। कुछ राज्य अपनी सूची के साथ तैयार हैं। आप वास्तव में कुछ राज्यों में योजना के तहत 22 फरवरी से पहले रकम का हस्तांतरण देखेंगे, जैसा कि कृषि मंत्री ने भी कहा है।"

उन्होंने कहा कि विभिन्न राज्य तैयारियों के विभिन्न स्तर पर हैं, लेकिन कुछ राज्यों ने अपनी सूची तैयार रखी है और अगले कुछ दिनों में इसे अपलोड कर दिया जाएगा। हालांकि कुछ राज्यों में जहां पर्याप्त आंकड़े नहीं हैं, वहां रकम के हस्तांतरण में देरी होगी।

उन्होंने कहा, "कुछ राज्यों में डेटा बहुत सटीक हैं। लेकिन कुछ राज्य ऐसे हैं, जहां डेटाबेस में मिलान की आवश्यकता है, साथ ही भौतिक सत्यापन की भी जरूरत होगी। लेकिन सभी राज्यों के पास किसानों के जोत के जो आंकड़े हैं, वे मामूली और छोटे हैं। यह परिवार का डेटाबेस बनाने का एक प्रारंभिक बिंदु है।"

वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने एक फरवरी को अंतरिम बजट पेश करते हुए घोषणा की थी कि दो एकड़ तक की जमीन रखने वाले सभी किसान परिवारों को 6,000 रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी, जो साल में तीन किस्तों में दी जाएगी। 

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) नामक यह योजना एक दिसंबर, 2018 से प्रभावी होगी। इसमें किसान परिवारों को 31 मार्च, 2019 तक खत्म होनेवाली चार महीनों की अवधि का भुगतान 2,000 रुपये किया जाएगा। 

गर्ग ने उन आलोचनाओं को खारिज कर दिया, जिनमें कहा जा रहा है कि इस योजना से बहुत कम लोगों को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि वास्तव में इसके दायरे में दो-तिहाई ग्रामीण आबादी आएगी, जबकि बाकी बचे एक-तिहाई आबादी के लिए भी कई योजनाएं लागू की गई हैं, ताकि संतुलन बना रहे। 

उन्होंने कहा, "यह राष्ट्रीय योजना है, जिसके दायरे में पूरे देश के किसान हैं...ग्रामीण इलाकों में कुल 18 करोड़ घर हैं। इस योजना के दायरे में 12 से 12.5 करोड़ परिवार आएंगे।"

उन्होंने कहा कि प्रत्यक्ष आय समर्थन किसानों के लिए इकलौती योजना नहीं है। बल्कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) जैसी योजनाएं भी हैं, जो किसानों को लागत से 50 फीसदी अधिक मुहैया कराती हैं। 

गर्ग ने कहा कि जो एक-तिहाई ग्रामीण आबादी इस योजना के दायरे में नहीं आएगी, उसके लिए मनरेगा योजना है। उन्होंने कहा, "ये भूमिहीन लोग ऑफ सीजन में गांवों से शहरों में निर्माण स्थलों पर मजदूरी करने जाते हैं। असंगठित क्षेत्र के ऐसे लोगों के लिए सरकार ने 3,000 रुपये प्रति माह की पेंशन योजना की घोषणा की है।"
 

advertisement