समझौता ब्लास्ट में सभी आरोपी बरी होने पर भड़का पाकिस्तान, भारत ने दिया जवाब - आज तक     |       BSP chief Mayawati not to contest Lok Sabha elections - Times Now     |       भाजपा केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में 11 राज्यों के लिए उम्मीदवारों के नाम तय - Webdunia Hindi     |       लोकसभा चुनाव 2019: भाजपा के प्रत्याशी घोषित नहीं, नामांकन की तारीखें तय - Amarujala - अमर उजाला     |       पीएम मोदी के बारे में क्या सोचते हैं 'चौकीदार' - आज तक     |       मनोहर पर्रिकर की तस्वीर बगल में रख गोवा के नए सीएम डॉ. प्रमोद सावंत ने संभाला कामकाज - नवभारत टाइम्स     |       ये हैं भारत के पहले लोकपाल जस्टिस पीसी घोष - BBC हिंदी     |       Priyanka Gandhi Ganga Yatra : नीरव मोदी की गिरफ्तारी पर बोलीं प्रियंका गांधी- ये अचीवमेंट है? जाने किसने दिया था? - Jansatta     |       लंदन में घोटालेबाज नीरव मोदी की गिरफ्तारी Fugitive businessman Nirav Modi arrested in London - आज तक     |       जिम्बाब्वे में चली ऐसी हवा झटके में 300 लोगों को मौत की नींद सुला गई - Zee News Hindi     |       Nirav Modi: नीरव मोदी को नहीं मिली ज़मानत,अब आगे क्या? - BBC हिंदी     |       यूरोपीय संघ ने प्रतिस्पर्धा नियमों के उल्लंघन को लेकर गूगल पर 1.7 अरब डॉलर का जुर्माना लगाया - Navbharat Times     |       Hyundai Motor, Kia Motors to invest $300 million in Ola - Times Now     |       होली के सदाबहार गाने जिनके बिना अधूरा है रंगों का त्योहार - आज तक     |       लगातार सातवें दिन तेजी, निफ्टी 11500 के पार बंद - मनी कॉंट्रोल     |       एनालिसिस/ 2.47 लाख करोड़ रु के दान के बाद भी गेट्स की नेटवर्थ 130 देशों की जीडीपी से ज्यादा - Dainik Bhaskar     |       My father is doing well: Ranbir Kapoor opens up about dad Rishi Kapoor's health - Times Now     |       Video: अक्षय कुमार अपनी फिल्म केसरी को प्रमोट करने पहुंचे BSF कैंप - Hindustan     |       शादी के बाद पहली होली परिवार के साथ नहीं, सेट पर काम करते हुए मनाएंगी दीपिका - Dainik Bhaskar     |       Happy Holi 2019: कभी अमिताभ और राजकपूर के यहां होली पर जुटता था बॉलीवुड, इस कारण अब नहीं मनता जश्न - Jansatta     |       कोलकाता/ मैच में बल्लेबाजी करते हुए गिरा खिलाड़ी, हुई मौत - Dainik Bhaskar     |       T-20 का रोमांच: साउथ अफ्रीका ने सुपर ओवर में मारी बाजी, श्रीलंका चित - आज तक     |       IPL-12: चौथी बार ट्रोफी जीतने उतरेगी मुंबई इंडियंस, संतुलन है टीम की ताकत - Navbharat Times     |       IPL 2019: विराट कोहली की कप्तानी पर गौतम गंभीर ने उठाए सवाल, कही ये बड़ी बात - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |      

राष्ट्रीय


आरएसएस की तीन दिवसीय बैठक शुरू, सबरीमाला मसले पर पारित होगा प्रस्ताव 

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की तीन दिवसीय बैठक शुक्रवार को ग्वालियर में शुरू हो गई। इस बैठक में सबरीमाला मंदिर मामले और परिवार व्यवस्था पर चर्चा के साथ प्रस्ताव पारित किए जाएंगे


राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की तीन दिवसीय बैठक शुक्रवार को ग्वालियर में शुरू हो गई। इस बैठक में सबरीमाला मंदिर मामले और परिवार व्यवस्था पर चर्चा के साथ प्रस्ताव पारित किए जाएंगे।

केदारधाम स्थित सरस्वती शिशु मंदिर के सभागार में बैठक का शुभारंभ सरसंघचालक मोहन भागवत और सरकार्यवाह भय्याजी जोशी ने किया। गौरतलब है कि बैठक ऐसे समय में हो रही है जब कुछ ही दिनों में लोकसभा की घोषणा होनेवाली है। 

तीन दिनों तक चलने वाली प्रतिनिधिसभा की जानकारी देते हुए सह सरकार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य ने पत्रकारों को बताया कि सबरीमला देवस्थान मामला सदियों पुरानी धार्मिक परंपरा से जुड़ा है और इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय के दखल की आड़ लेकर केरल सरकार द्वारा हिंदू श्रद्धालुओं के साथ ज्यादती की जा रही है। बैठक में इस विषय पर प्रस्ताव पारित किया जाएगा। 

बैठक में क्या लोकसभा चुनाव पर भी चर्चा होगी, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि चुनावी राजनीति पर चर्चा नहीं होगी, लेकिन चुनाव में 100 प्रतिशत मतदान हो, इसके लिए स्वयंसेवक समाज में जनजागरण करेंगे। राम मंदिर मामले को लेकर पूछे गए सवाल पर डॉ़ वैद्य ने कहा कि संबंधित पक्ष न्यायालय में अपनी बात रख चुके हैं। अब इसे सर्वोच्च न्यायालय को देखना है। 

उन्होंने कहा कि बैठक में वर्तमान परिस्थितियों में परिवार व्यवस्था के समक्ष चुनौतियों पर भी चर्चा होगी। संघ इस विषय में भारतीय दर्शन के अनुसार 'मैं से हम' तक जाने की प्रक्रिया पर समाज के बीच काम करेगा। वैद्य ने बताया कि अखिल भारतीय प्रतिनिधिसभा आरएसएस के कार्यों के संबंध में निर्णय लेने वाली सबसे बड़ी इकाई है। इसकी बैठक वर्ष में एक बार आयोजित की जाती है। यह बैठक एक साल दक्षिण में, एक साल उत्तर में एवं तीसरे वर्ष नागपुर में होती है।

प्रति दो हजार स्वयंसेवकों पर एक प्रतिनिधि का चयन किया जाता है। यह बैठक संगठन कार्य के विस्तार, सुदृढ़ीकरण एवं विविध प्रांतों के विशेष कार्य, प्रयोग एवं अनुभव साझा करने की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है।
 

advertisement