दो हिंदू बच्चियों का जबरन धर्म परिवर्तनः पाक के सिंध में यह आम है - Navbharat Times     |       भारतीय वायुसेना को मिला अत्याधुनिक 'चिनूक', PAK सीमा पर होगा तैनात - आज तक     |       राहुल गांधी और सोनिया को लेकर दिए गये बीजेपी नेता के विवादास्पद बयान पर सपना चौधरी ने दिया पलटकर जवाब - NDTV India     |       World TB Day 2019: क्यों होती है टीबी, कैसे पा सकते हैं छुटकारा - lifestyle - आज तक     |       Lok Sabha Election 2019: भाजपा के अजेय किले सी बन गई हैं मध्य प्रदेश की 29 में से 14 सीटें - Jansatta     |       Kanhaiya to contest LS Election against Giriraj Efforts on to form Third Front in Bihar - दैनिक जागरण     |       दक्षिण की 'अयोध्या', सांप्रदायिकता यहां छिपी है...चुनाव में निकलती है - Dainik Bhaskar     |       देखिए सपना चौधरी की कांग्रेस से ब्रेकअप स्टोरी, क्यों छोड़ा साथ और क्यों बोला झूठ ? - ABP News     |       NC उम्मीदवार अकबर लोन बोले- कोई पाकिस्तान को एक गाली देगा तो मैं उसे दस दूंगा - दैनिक जागरण     |       कांग्रेस जीती लोकसभा चुनाव तो पाकिस्तान में मनेगी दिवाली: विजय रूपाणी - आज तक     |       एक ही विमान को पायलट मां-बेटी ने उड़ाया, वायरल हुई तस्वीर- Amarujala - अमर उजाला     |       इस देश में देवदूत बने भारतीय नेवी के जांबाज, बचाईं 192 जिंदगियां - World - आज तक     |       Tata Motors to hike passenger vehicle prices by up to Rs 25,000 from April - Times Now     |       रिलायंस जियो सेलिब्रेशन पैक: रोजाना पाएं 2GB एक्सट्रा डेटा - ABP News     |       अब अनिल अंबानी की कंपनी ने इस बैंक के पास 12.50 करोड़ शेयर रखे गिरवी - आज तक     |       Karnataka Bank reports Rs 13 crore fraud to RBI - Times Now     |       तो क्या दोबारा मां बनने जा रही हैं ऐश्वर्या राय बच्चन, जवाब इस खबर में है - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       'छपाक' में कुछ ऐसी दिखाई देंगी दीपिका पादुकोण, फर्स्ट लुक आया सामने - नवभारत टाइम्स     |       फिल्मफेयर 2019: श्रीदेवी को मिला अवॉर्ड, सभी सेलेब्स हुए इमोशनल - Hindustan     |       फिल्मफेयर 2019: आलिया की फिल्म पर हुई अवॉर्ड्स की बारिश - आज तक     |       IPL 2019: रिषभ पंत ने लगाई चौकों-छक्कों की झड़ी, तोड़ा धोनी का 7 साल पुराना रिकॉर्ड - Times Now Hindi     |       IPL 2019 KXIPvsRR: स्मिथ-वरुण पर होंगी निगाहें, कब-कहां-कैसे देखें मैच - Hindustan     |       IPL 2019: ईडन में फिर गुल हुई बत्ती, राणा ने आउट होने के लिए जिम्मेदार ठहराया - नवभारत टाइम्स     |       वर्ल्ड कप से पहले टीम इंडिया के लिए बुरी खबर, IPL के पहले ही मैच में घायल हुए बुमराह- Amarujala - अमर उजाला     |      

फीचर


इस मानसून पर खुद की उपेक्षा कर न दें बीमारियों को दावत, यूं करें पैरों की देखभाल

सौंदर्य विशेषज्ञ शहनाज हुसैन ने कहा कि मानसून के सीजन में पैरों के देखभाल की अत्याधिक आवश्यकता होती है। आप कुछ साधारण सावधानियों तथा आयुर्वेदिक उपचारों से पांव तथा उंगलियों के संक्रमण से होने वाले रोगों से बच सकते हैं


this-monsoon-season-take-care-of-yourself-take-care-of-legs

मानसून सीजन में कीचड़ से सने रास्तों, पानी से लबालब गलियों, आद्र्रता भरे ठंडे वातावरण तथा सीलन में पैरों को काफी झेलना पड़ता है। जूतों के चिपचिपे होने के कारण पैरों में दाद, खाज, खुजली तथा लाल चकत्ते पड़ जाते हैं।

सौंदर्य विशेषज्ञ शहनाज हुसैन ने कहा कि मानसून के सीजन में पैरों के देखभाल की अत्याधिक आवश्यकता होती है। आप कुछ साधारण सावधानियों तथा आयुर्वेदिक उपचारों से पांव तथा उंगलियों के संक्रमण से होने वाले रोगों से बच सकते हैं। 

मानसून के मौसम में अत्याधिक आद्रता तथा पसीने की समस्या आम देखने में मिलती है। इस मौसम में पैरों के इर्द-गिर्द के क्षेत्र में संक्रमण पैदा होता है, जिससे दरुगध पैदा होती है।

हर्बल क्वीन के नाम से मशहूर शहनाज ने कहा कि पसीने के साथ निकलने वाले गंदे द्रव्यों को प्रतिदिन धोकर साफ करना जरूरी होता है, ताकि दरुगध को रोका जा सके और पैर ताजगी तथा स्वच्छता का एहसास कर सकें। 

उन्होंने कहा कि सुबह नहाते समय पैरों की स्वच्छता पर विशेष ध्यान देना चाहिए। पैरों को धोने के बाद उन्हें अच्छी तरह सूखने दें तथा उसके बाद पैरों की उंगलियों के बीच टैलकम पाउडर का छिड़काव करें। 

शहनाज ने कहा कि अगर आप बंद जूते पहनते हैं तो जूतों के अंदर टेलकम पाउडर का छिड़काव कीजिए। बरसात के मौसम के दौरान स्लिपर तथा खुले सैंडिल पहनना ज्यादा उपयोगी होता है, क्योंकि इससे पांवों में हवा लगती रहती है तथा पसीने को सूखने में भी मदद मिलती है, लेकिन खुले फुटवियर की वजह से पैरों पर गंदगी तथा धूल जम जाती है, जिससे पांवों की स्वच्छता पर असर पड़ता है। 

उन्होंने बताया कि दिनभर की थकान के बाद घर पहुंचने पर ठंडे पानी में थोड़ा सा नमक डालकर पांवों को अच्छी तरह भिगोइए तथा उसके बाद पांवों को खुले स्थान में सूखने दीजिए। बरसात के गर्म तथा आद्रता भरे मौसम में पांवों की गीली त्वचा की वजह से 'एथलीट फूट' नामक बीमारी पांवों को घेर लेती है। 

उन्होंने कहा कि यदि प्रारंभिक तौर पर इसकी उपेक्षा हो तो यह पांवों में दाद, खाज, खुजली जैसी गंभीर परेशानियों का कारण बन जाती है। यह बीमारी फंगस संक्रमण की वजह से पैदा होती है। इसलिए अगर उंगलियों में तेज खारिश पैदा हो रही हो, तो तत्काल त्वचा विशेषज्ञ से सलाह लीजिए। 

मानसून में पांवों की देखभाल के लिए घरेलू उपचार : 

फूट सोक: बाल्टी में एक चौथाई गर्म पानी, आधा कप खुरखुरा नमक, दस बूंदे नीबू रस या संतरे का सुंगधित तेल डालिए। यदि आपके पांव में ज्यादा पसीना निकलता है तो कुछ बूंदें टी-ऑयल को मिला लीजिए, क्योंकि इसमें रोगाणु रोधक तत्व मौजूद होते हैं तथा यह पांव की बदबू को दूर करने में मदद करती है। इस मिश्रण में 10-15 मिनट तक पांवों को भिगोकर बाद में सुखा लीजिए।

फूट लोशन: 3 चम्मच गुलाब जल, 2 चम्मच नींबू जूस तथा एक चम्मच शुद्ध ग्लिसरीन का मिश्रण तैयार करके इसे पांव पर आधा घंटा तक लगाने के बाद पांव को ताजे साफ पानी से धोने के बाद सुखा लीजिए।

ड्राइनेस फूट केयर: एक बाल्टी के चौथाई हिस्से तक ठंडा पानी भरिए तथा इस पानी में दो चम्मच शहद एक चम्मच हर्बल शैम्पू, एक चम्मच बादाम तेल मिलाकर इस मिश्रण में 20 मिनट तक पांव भिगोइए तथा बाद में पांव को ताजे स्वच्छ पानी से धोकर सुखा लीजिए।

कुलिंग मसाज आयल: 100 मिली लीटर जैतून तेल, 2 बूंद नीलगरी तेल, 2 चम्मच रोजमेरी तेल, 3 चम्मच खस या गुलाब का तेल मिलाकर इस मिश्रण को एयरटाइट गिलास जार में डाल लीजिए। इस मिश्रण को प्रतिदिन पांव की मसाज में प्रयोग कीजिए। इससे पांवों को ठंडक मिलेगी और यह त्वचा को सुरक्षा प्रदान करके इसे स्वस्थ्य रखेगा।

advertisement