कौन हैं गोवा के नए सीएम प्रमोद सावंत की पत्नी? देखें फैमिली Photos - trending clicks - आज तक     |       Holika Dahan 2019: यह है होलिका दहन का शुभ मुहूर्त, पढ़ें सप्ताह के व्रत और त्योहार - Hindustan हिंदी     |       बिहार में कांग्रेस 9 सीटों पर लड़ेगी चुनाव, राहुल-तेजस्वी की मुलाकात में लगेगी मुहर : सूत्र - NDTV India     |       वंशवाद की राजनीति से सबसे अधिक नुकसान संस्थाओं को हुआ: PM मोदी - Hindustan     |       राजनीति Goa CM Pramod Sawant Floor Test Live Updates - दैनिक जागरण     |       लोकसभा चुनाव/ भाजपा की पहली सूची आज आने की उम्मीद, 12 राज्यों के उम्मीदवार तय हो सकते हैं - Dainik Bhaskar     |       अनूठी होली : जूते की माला और जूते से दनादन वार, सच में अलबेली है ये होली - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       भदोही में मां सीता मंदिर पहुंचीं प्रियंका गांधी वाड्रा - आज तक     |       अब EU में जर्मनी ने पेश किया मसूद अजहर को ग्लोबल आतंकी घोषित करने का प्रस्ताव - आज तक     |       मोजाम्बिक में भयंकर समुद्री तूफान, 1000 से ज्यादा लोगों की मौत की आशंका - Navbharat Times     |       चीन का नापाक याराना, कहा- पुलवामा को लेकर PAK पर निशाना ना साधे कोई मुल्क - Hindustan     |       बॉयफ्रेंड संग ऐसी है मिया खलीफा की कैमिस्ट्री, तस्वीरों में देखें लाइफ - आज तक     |       शेयर बाजार में प्री-इलेक्शन रैली, चुनावी तारीखों के एलान के बाद 1,300 अंक उछला सेंसेक्स - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       Khaitan, ILP, Ashurst, others advise Ola on $300m buy-into electric cars initiative from Hyundai, Kia - Legally India     |       Bhojpuri Holi Song / होली पर धमाल मचाएंगे ये भोजपुरी गाने, भतार अईहे से लेकर छपरा में पकड़ाएंगे तक.. - Dainik Bhaskar     |       देश की दो बड़ी कंपनियों में जंग : L&T पर माइंडट्री के जबरन अधिग्रहण का आरोप - आज तक     |       बर्थडे: अल्का याग्निक से जुड़ी 5 बातें, उनके इस गीत के लिए किया था 42 पार्टियों ने विरोध - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       वीडियो: कुछ यूं चढ़ा 'केसरी' रंग, अक्षय कुमार ने खेली जवानों संग होली - आज तक     |       हाथों में हाथ थामे अवॉर्ड शो से न‍िकले रणबीर कपूर-आल‍िया भट्ट - आज तक     |       तो इस वजह से अनुराग के सामने प्रेरणा खोलेगी अपनी प्रेग्नेंसी का राज! - आज तक     |       प्रयोग/ ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड के बीच एशेज सीरीज में खिलाड़ियों की टेस्ट जर्सी पर भी नाम, नंबर होगा - Dainik Bhaskar     |       IPL-2019: मुंबई इंडियंस की ओपनिंग पर 'हिटमैन' रोहित शर्मा का बड़ा फैसला - आज तक     |       Brilliant Messi has opposition fans on their feet - gulfnews.com     |       ICC world cup: गांगुली व पोंटिंग ने बताया विश्व कप में भारत के लिए नंबर चार के लिए सबसे फिट हैं ये बल्लेबाज - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |      

राजनीति


बिहार में कांग्रेस और राजद 'बड़े भाई' की भूमिका को लेकर आमने-सामने

राजद के नेता के इस बयान पर कांग्रेस ने भी पलटवार करने में देर नहीं लगाई। बिहार कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है और ऐसे में महागठबंधन में कांग्रेस कैसे छोटा भाई हो सकती है


tussle-between-congress-and-rjd-for-big-brother-stature

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद कांग्रेस के नेता भले ही उत्साहित हैं, परंतु बिहार में महागठबंधन में शामिल कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) 'बड़े भाई' की भूमिका को लेकर अब आमने-सामने आ गए हैं।

राजद के एक नेता की मानें तो बिहार में राजद ही बड़े भाई की भूमिका में है। राजद विधायक और प्रवक्ता भाई वीरेंद्र ने बुधवार को कहा कि बिहार में राजद बड़ी पार्टी है, इस कारण यहां राजद ही बड़े भाई की भूमिका में रहेगी।

चुनाव में जीत के बाद कांग्रेस के हावी होने के संबंध में पूछे जाने पर राजद नेता ने कहा, "यहां राजद पर कांग्रेस हावी नहीं हो सकती है। बड़े भाई के सामने कोई बोलता है क्या? बिहार में राजद बड़ी पार्टी है।"

राजद के नेता के इस बयान पर कांग्रेस ने भी पलटवार करने में देर नहीं लगाई। बिहार कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा कि कांग्रेस राष्ट्रीय पार्टी है और ऐसे में महागठबंधन में कांग्रेस कैसे छोटा भाई हो सकती है?

उन्होंने कहा, "जिन तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने भाजपा को मात दी, वहां कांग्रेस ही चुनाव लड़ी थी। अगला लोकसभा चुनाव भी कांग्रेस के नेतृत्व में ही लड़ा जाएगा। ऐसे में ऐसा बयान ही हास्यास्पद है।" 

वैसे, पांच राज्यों के चुनाव परिणाम के एक दिन पहले ही दिल्ली में विपक्षी दलों की बैठक में राजद नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने इशारों ही इशारों में अपने बड़े जनाधार का ताल ठोकते हुए क्षेत्रीय दलों को उचित प्रतिनिधित्व देने की बात रखी थी।

उन्होंने कहा था कि जिन राज्यों में महागठबंधन के दल का जनाधार है, उसे ही वहां की 'ड्राइविंग सीट' पर बिठाया जाए।

इन बयानों का मतलब सभी दलों की नजर 'बड़े भाई' की भूमिका को लेकर ज्यादा सीटों पर उम्मीदवारी के दावे के रूप में माना जा रहा है। 
 

advertisement