अमृतसरः निरंकारी भवन पर ग्रेनेड से हमला, 3 मरे, दिल्ली-नोएडा में अलर्ट     |       UP TET : सॉल्वर गिरोह का भंडाफोड़, 6 गिरफ्तार, 2 लाख में हुआ था सौदा     |       राजस्थान / कांग्रेस ने 18 उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी की, गठबंधन दलों को दी पांच सीटें     |       छिंदवाड़ा / कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कहते हैं गुंडा-भ्रष्टाचारी उम्मीदवार चलेगा, बस जीतना चाहिए: मोदी     |       कश्मीर में एक और युवक का अपहरण, ISIS के अंदाज में आतंकी कर रहे हत्या     |       तेजप्रताप ऐश्वर्या तलाक! राबड़ी से मिलीं ऐश्वर्या की मां, घर से रोते हुए निकलीं     |       Chhattisgarh Election 2018: पीएम मोदी बोले- BJP की बात नहीं सुनती थी दिल्ली में पहले बैठी रिमोट कंट्रोल सरकार     |       बीजेपी MLA बोले, हमारे पास मोदी जैसा पीएम और योगी जैसा सीएम, फिर भी भगवान राम टेंट में     |       आंध्र और प.बंगाल सरकार ने राज्य में जांच के लिए सीबीआई को दी रजामंदी वापस ली, 10 बड़ी बातें     |       खट्टर के रेप वाले बयान पर केजरीवाल ने साधा निशाना, उठाए सवाल     |       उत्तरप्रदेश / आतंकी कसाब का जाति और निवास प्रमाण पत्र जारी, लेखपाल निलंबित     |       'बॉर्डर' के असली नायक ब्रिगेडियर कुलदीप चांदपुरी का निधन     |       शादी के बाद रणवीर के घर दीपिका, सास ने किया बहू का स्वागत     |       उत्तरकाशी से विकासनगर जा रही बस खाई में गिरी, छह की मौत; 14 घायल     |       अमेरिका / नाबालिग ने तेलंगाना के रहने वाले 61 साल के व्यक्ति की गोली मारकर हत्या की     |       राजस्थान / कामिनी जिंदल की संपत्ति 5 साल में 93 करोड़ बढ़ी, 287 करोड़ 46 लाख की मालकिन     |       ओमप्रकाश चौटाला के परिवार में बड़ा राजनीतिक बंटवारा, अजय चौटाला बनाएंगे नई पार्टी     |       न कटेगा न फटेगा 100 रुपए का ये नया नोट, RBI बैठक में होने जा रहा है बड़ा ऐलान     |       उपलब्धि / अंतरिक्ष से भी दिखाई देती है स्टैच्यू ऑफ यूनिटी, अमेरिकी सैटेलाइट ने जारी की तस्वीर     |       सबरीमाला पर संग्राम: बीजेपी कार्यकर्ताओं का विरोध दिवस, कांग्रेस ने कहा- आतंक का माहौल     |      

जीवनशैली


डब्लूएचओ द्वारा जारी सबसे प्रदूषित शहरों में भारत के 14 शहर, देश में 2 साल घट रही लोगों की उम्र

"मेरे लिए तो यह राष्ट्रीय आपातकाल है, इसमें सभी को तुरंत सघन प्रयास शुरू कर देना चाहिए और हम इसे कल के लिए टालेंगे तो हम अपने परसो को खतरनाक बना रहे हैं" 


who-list-india-has-14-most-polluted-city-2-year-age-down-every-year

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) द्वारा हाल ही में जारी की गई सबसे प्रदूषित शहरों की सूची में भारत के 14 शहर शामिल थे, लेकिन इससे भी ज्यादा चौंका देने वाली बात यह है कि भारत का प्रदूषण स्तर संगठन द्वारा निर्धारित भारत वायु गुणवत्ता मानकों को पूरा नहीं कर रहा है जिसके कारण देश में प्रत्येक व्यक्ति की उम्र कम से कम एक से दो साल और दिल्ली में छह साल तक घट रही है। 

लंग केयर फॉउंडेशन के अध्यक्ष व प्रोफेसर डॉ. अरविंद कुमार ने बातचीत में कहा, "कुछ दिन पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लूएचओ) ने एक अध्ययन प्रकाशित किया था, जिसमें कहा गया था कि भारत का प्रदूषण स्तर संगठन द्वारा निर्धारित भारत वायु गुणवत्ता मानकों को पूरा नहीं कर रहा, जिसके कारण देश में प्रत्येक व्यक्ति की उम्र कम से कम एक से दो साल और दिल्ली जैसे प्रदूषित शहर में छह साल तक घट रही है। वहीं अगर हम डब्लूएचओ के मानकों को पूरा करते हैं तो देश में प्रत्येक व्यक्ति की उम्र चार से पांच साल तक बढ़ सकती है।" 

डॉ. अरविंद कुमार ने कहा, "दरअसल इसके पीछे वजह है देश और दिल्ली का पीएम 2.5 स्तर। हाल ही में अमेरिका के बर्कले अर्थ संगठन ने एक स्टडी की है, जिसमें फेफड़ों और शरीर के अन्य हिस्सों को नुकसान पहुंचाने वाले पीएम 2.5 की क्षमता को सिगरेट के धुएं के साथ सह-संबंधित किया गया था, उनका निष्कर्ष था कि 22 माइक्रोग्राम क्यूबिट मीटर पीएम 2.5 एक सिगरेट के बराबर है। अगर आप 24 घंटे तक 22 माइक्रोग्राम के संपर्क में आते हैं तो आपके शरीर को एक सिगरेट से होने वाला नुकसान हो रहा है।" 

उन्होंने कहा कि अगर हम दिल्ली के एक साल का औसत देखें तो यह 140 से 150 माइक्रोग्राम क्यूबिट मीटर रहा, जिसे भाग करने पर यह छह से सात सिगरेट बनता है। इसलिए हम सब दिल्ली वासियों ने रोजाना कम से कम छह से सात सिगरेट तो पी ही हैं, जबकि सर्दियों में इसकी संख्या 10 से 40 सिगरेट तक पहुंच जाती है। पिछले साल पीएम2.5 999.99 से ऊपर चला गया था तो धूम्रपान नहीं करने वाले लोगों ने भी 40 से 50 सिगरेट पी। 

दिल्ली में प्रदूषण से सुरक्षा के सवाल पर उन्होंने कहा, "अगर आप दिल्ली में रह रहे हैं और चाह रहे हैं कि हमारे अंगों को नुकसान न हो यह तो बिल्कुल असंभव हैं। बाकी अगर जहां प्रदूषण ज्यादा है तो आप वहां जाने से बचें, वहां शारीरिक गतिविधि न करें, घर के अंदर रहिए, दरवाजे-खिड़कियां बंद रखिए, कोई भी ऐसी गतिविधि जिससे आपकी सांस तेज होती हो वह न करें।" 

उन्होंने कहा, "बाकी एयर प्यूरीफायर बिल्कुल पैसे की बर्बादी है, उसमें बहुत ज्यादा पैसा खर्च कर थोड़े से लोगों को थोड़े से समय के लिए बहुत थोड़ा सा फायदा होता है। एक बात यह भी कि अगर आप इन एयर प्यूरीफायर के फिल्टर एक साल में नहीं बदलते हैं तो यह डर्टीफायर हो जाएगा।"

"वही हाल मास्क का भी है, साधारण मास्क केवल दिखावा है उससे कुछ नहीं होता। केवल एक मास्क थोड़ा बहुत बचाव करता है वह एन95 मास्क है, लेकिन इसे भी ज्यादा देर तक नहीं पहना जा सकता क्योंकि यह बहुत सख्त होता है और इसे 10 से 15 मिनट तक ही लगाया जा सकता है। हां अगर आप किसी बदबूदार जगह से निकल रहे हैं तो आप उसका प्रयोग कर सकते हैं।"

डॉ. अरविंद कुमार ने कहा, "मेरे लिए तो यह राष्ट्रीय आपातकाल है, इसमें सभी को तुरंत सघन प्रयास शुरू कर देना चाहिए और हम इसे कल के लिए टालेंगे तो हम अपने परसो को खतरनाक बना रहे हैं।" 

प्रदूषण को रोकने के लिए सरकार द्वारा किस तरह के कदम उठाए जाए के सवाल पर प्रोफेसर अरविंद ने कहा, "सरकार को कोयले से चलने वाले 500 से ज्यादा ऊर्जा संयंत्रों के उत्सर्जन को पश्चिमी देशों के उत्सर्जन मानकों के बराबर बनाना चाहिए और उन्हें लागू करना चाहिए। जब सरकार पैसे की कमी की बात करती है तो वह लोगों के जिंदगियों के सामने कुछ भी नहीं है।"

"इसलिए फैक्ट्रियों में जो मानक हैं उनको तुरंत लागू किया जाना चाहिए, हमारी गाड़ियों में पेट्रोल, डीजल इंजनों में बीएस6 तकनीक को लाया जाना चाहिए और शहरों में कूड़े को जलाने की जो पक्रिया शुरू हुई है उसके लिए तुरंत उपाय करने चाहिए, दिल्ली में तो यह बड़ी समस्या हो गई है और दूसरे महानगर बड़ी तेजी से इस ओर अग्रसर हो रहे हैं।" 

उन्होंने कहा, "साथ ही फसलों के जलाने की समस्या मानवजनित है उसका कितना भी सख्त उपाय क्यों न हो उसे किया जाना चाहिए, चाहे उसके लिए सेना को शामिल कर युद्ध स्तर पर उसका समाधान निकालना है तो लोगों के स्वास्थ्य के खातिर उसे किया जाना चाहिए, नहीं तो इसकी भारी कीमत हमें चुकानी पड़ेगी।" 
 

advertisement