6 साल बाद पाकिस्तान से लौटे हामिद अंसारी ने की सुषमा स्वराज से मुलाकात, गले लगकर किया शुक्रिया अदा - नवभारत टाइम्स     |       बुलंदशहर गोकशी मामले में 4 निर्दोषों को यूपी पुलिस ने पकड़ा, 17 दिन रहना पड़ा जेल, अब हुई असल गिरफ्तारी - NDTV India     |       चिराग की BJP को चेतावनी से गरमाई बिहार की सियासत, आगे-आगे देखिए होता है क्‍या - दैनिक जागरण     |       लोकसभा चुनाव पर नहीं पड़ेगा 3 राज्यों के नतीजों का असर: अमित शाह - आज तक     |       जब मनमोहन सिंह बोले- मैं एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर ही नहीं, एक्सीडेंटल वित्त मंत्री भी था - NDTV India     |       राजस्थान सरकार का खजाना खाली, गहलोत नहीं कर पा रहे किसानों का कर्ज माफ - आज तक     |       दिल्ली/ देश में पहली बार सिर्फ महिलाओं की पार्टी बनी, अगले साल लोकसभा चुनाव भी लड़ेगी - Dainik Bhaskar     |       After weekend drama over 'missing' report, CAG files draft report in Rafale case - Times Now     |       भारत से घबरा रहा है आतंकी हाफिज सईद, दे रहा है धमकी! - आज तक     |       दस साल बाद ब्रिटिश एयरवेज पाक के लिए फिर भरेगी उड़ान - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       मोजा सूंघना पड़ा भारी, शख्स को हो गई ये खतरनाक बीमारी - lifestyle - आज तक     |       मिस यूनिवर्स 2018 कैटरिओना ग्रे के बारे में कितना जानते हैं आप - BBC हिंदी     |       Govt did not ask for Urjit Patel's resignation as RBI Governor: Arun Jaitley - Times Now     |       GST Evasion: जीएसटी में व्यापारियों और कंपनियों ने कर ली इतने हजार करोड़ रुपए की चोरी - Times Now Hindi     |       पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम से आज मिली राहत, जानें आज क्या है रेट - News18 Hindi     |       Amazon Pay ऑफर्स: रिचार्ज और बिल पेमेंट्स पर कैशबैक - आज तक     |       Dadi is extremely proud, she messaged mom: Sara Ali Khan on Sharmila Tagore texting her mom after Kedarnath - Times Now     |       रिलीज से पहले विवादों में कंगना रनौत की फिल्म, इस एक्टर की शिकायत - आज तक     |       सारा अली खान ने पापा सैफ के 'ओले ओले' पर किया Dance, रणवीर बोले- तुमने मेरी नाक कटा दी; देखें Video - NDTV India     |       'जीरो' की रिलीज से पहले घबराए शाहरुख खान, दिया ये चौंकाने वाला बयान - Hindustan     |       IPL Auction 2019: जब नहीं बिके थे युवराज सिंह, तो ऐसा था गंभीर का रिऐक्शन - Hindustan     |       'SENA' में कोहली की 11 में से सिर्फ एक सेंचुरी में जीता है भारत - Navbharat Times     |       आईपीएल नीलामी / ब्रैथवेट को कोलकाता और अक्षर को दिल्ली ने 5 करोड़ में खरीदा, युवराज को मिला जोरदार झटका - Dainik Bhaskar     |       IPL Auction 2019: 17 साल की उम्र में लिया था क्रिकेट से 'संन्यास', आईपीएल में 8.4 करोड़ रु. में बिका! - News18 Hindi     |      

विदेश


अमेरिका क्यों आईसीसी पर प्रतिबंध लगाने की चेतावनी दे रहा है

"हम इसके वित्तीय प्रणाली पर प्रतिबंध लगा देंगे और उन पर अमेरिकी आपराधिक प्रणाली के तहत मुकदमा चलाएंगे। हम किसी भी कंपनी या देश के साथ भी ऐसा ही करेंगे जो अमेरिकियों की आईसीसी जांच में सहायता करता है" 


why-usa-is-threatening-icc-to-ban-on-icc

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय अपराध न्यायालय (आईसीसी) की अन्यायपूर्ण अभियोजन प्रक्रिया से हमारे नागरिकों और सहयोगियों की रक्षा के लिए हर जरूरी साधन का उपयोग किया जाएगा।

बोल्टन ने सोमवार को संघीय समाज को संबोधित करते हुए संबोधन में कहा, "अमेरिका टैरिफ और अभियोजन सहित इस अवैध अदालत की अन्यायपूर्ण कार्रवाई से हमारे नागरिकों और सहयोगियों की रक्षा के लिए जरूरी हर साधन का उपयोग करेगा।" 

'सीएनएन' की रिपोर्ट के अनुसार, बोल्टन ने आईसीसी को अप्रभावी, अयोग्य, खतरनाक और अमेरिकी सिद्धांतों के विपरीत बताते हुए कहा कि अमेरिका आईसीसी और उसके कर्मियों के खिलाफ अमेरिकी कानून के दायरे में प्रतिक्रिया देगा। 

संयुक्त राष्ट्र के पूर्व राजदूत बोल्टन ने कहा, "हम इसके वित्तीय प्रणाली पर प्रतिबंध लगा देंगे और उन पर अमेरिकी आपराधिक प्रणाली के तहत मुकदमा चलाएंगे। हम किसी भी कंपनी या देश के साथ भी ऐसा ही करेंगे जो अमेरिकियों की आईसीसी जांच में सहायता करता है।" 

उन्होंने यह भी कहा कि नीदरलैंड स्थित अदालत को प्रतिबंधित करने के लिए अमेरिकी प्रशासन संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में कदम उठाने पर विचार करेगा। 

इस दौरान बोल्टन ने वाशिंगटन में फिलीस्तीन लिबरेशन ऑर्गेनाइजेशन (पीएलओ) का कार्यालय भी बंद करने की सराहना की। उन्होंने कहा कि अमेरिका आईसीसी या किसी भी संगठन को इजरायल के आत्मरक्षा के अधिकार से वंचित करने की अनुमति नहीं देगा। 

विदेश विभाग ने आधिकारिक तौर पर सोमवार को एक बयान में कार्यालय के बंद होने के फैसले की घोषणा की थी। 

सोमवार को विभाग की प्रवक्ता हीथर नॉअर्ट ने बयान में कहा था,"हमने पीएलओ कार्यालय को इजरायल और फिलीस्तीन के बीच चिरस्थाई, समग्र शांति स्थापित करने के लक्ष्यों को हासिल करने में मदद के लिए संचालन की अनुमति दी थी लेकिन पीएलओ ने इजरायल के साथ अर्थपूर्ण संवाद शुरू करने के लिए कोई खास कदम नहीं उठाए।" 

पीएलओ ने अमेरिका के इस कदम की आलोचना करते हुए कहा कि उन्हें इस फैसले के बारे में व्हाइट हाउस द्वारा पहले ही सूचित कर दिया गया था। 

advertisement