पायलट के खिलाफ BJP का मुस्लिम कार्ड, यूनुस खान क्या साबित होंगे तुरूप का पत्ता?     |       विवाद / आरबीआई बोर्ड की अहम बैठक शुरू, सरकार से मतभेद खत्म होने के आसार     |       अमृतसर हमला: विवाद के बाद बैकफुट पर फुल्का, कांग्रेस ने बताया मानसिक दिवालिया     |       इंदिरा गांधीः सख्त फैसलों से बनीं 'आयरन लेडी', इसी से जुड़ी है उनकी हत्या की कड़ी     |       टीईटी : सॉल्वर गैंग के चार सदस्यों की तलाश में जुटी एसटीएफ     |       सबरीमाला मंदिर: धारा 144 के खिलाफ सड़कों पर उतरे श्रद्धालु, 28 हिरासत में     |       महिला से फोन पर अचानक लोग करने लगे 'गंदी बातें', खुला राज तो सन्न रह गए लोग     |       Tulsi Vivah 2018: तुलसी विवाह का शुभ मुहूर्त, शादी की विधि, देवों को जगाने का मंत्र और कथा     |       18000 फीट ऊंचाई, भारत में बन रहा ग्लेशियर से गुजरने वाला पहला रोड     |       अलीगढ़: हैवान टीचर ने बच्चे की बेरहमी से की पिटाई, जूते से मारकर मुस्कुराने को कहा     |       2019 लोकसभा चुनाव से पहले शिवसेना का नया नारा: हर हिंदू की यही पुकार, पहले मंदिर, फिर सरकार     |       नक्सलियों के साथ दिग्विजय सिंह की कॉल का लिंक मिला: पुणे पुलिस     |       KMP एक्सप्रेसवे का उद्घाटन आज, दिल्ली से घटेगा गाड़ियों का बोझ     |       ओसामा बिन लादेन का नाम लेकर डोनाल्‍ड ट्रंप बोले, पाकिस्‍तान ने अमेरिका के लिए किया ही क्‍या है     |       IT-ED की छापेमारी रोकने के लिए कोर्ट जा सकते हैं नायडू, विपक्ष को भी मनाएंगे     |       महाराष्ट्र / सामाजिक और शैक्षणिक आधार पर मराठा समाज को आरक्षण देगी राज्य सरकार     |       मध्यप्रदेश चुनाव: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने मैहर में किया रोड शो     |       अब कलकत्ता, बॉम्बे और मद्रास हाई कोर्ट के बदलेंगे नाम     |       CG: कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने इशारों में इन्हें बताया मुख्यमंत्री उम्मीद्वार...     |       एएमयू में फिर विवाद / कल्चरल एजुकेशन सेंटर के प्रोग्राम के लिए बने भारत के नक्शे से कश्मीर गायब     |      

राजनीति


'गोदी मीडिया' से परेशान राहुल गांधी ने कांग्रेस प्रवक्ताओं को न्यूज चैनल्स में जाने से रोकने की बात क्यों कर रहे हैं?

राहुल ने न्यूज चैनल संपादकों को हड़काया: राहुल की चिंता है कि अगर विभिन्न चैनलों द्वारा आहूत पैनल डिस्कशन में कांग्रेस के प्रतिनिधि को उनकी बात रखने का मौका ही नहीं दिया जाता है तो उन्हें चैनल बुलाता ही क्यों है?


worried-by-godi-media-why-are-rahul-gandhi-talking-about-preventing-congress-spokespersons-from-going-to-the-news-channels

राहुल गांधी अब एक बदली भाव-भंगिमाओं के साथ सियासत के नए पैंतरे आजमा रहे हैं, राहुल से जुड़े विश्वस्त सूत्र खुलासा करते हैं कि राहुल ने पिछले कुछ दिनों में कई प्रमुख न्यूज चैनलों के एडिटर से सीधी बात की है।

राहुल की चिंता है कि अगर विभिन्न चैनलों द्वारा आहूत पैनल डिस्कशन में कांग्रेस के प्रतिनिधि को उनकी बात रखने का मौका ही नहीं दिया जाता है तो उन्हें चैनल बुलाता ही क्यों है?

राहुल की एक और प्रमुख चिंता चैनलों के ’गोदी मीडिया’ बनने को लेकर थी, राहुल का साफ तौर पर कहना था कि आज न्यूज एंकर स्वतंत्र पत्रकार से अलहदा सत्ताधारी दल के प्रतिनिधि के तौर पर आचरण करते हैं, सरकार का पक्ष रखना या उसे बचाना यह उसका काम नहीं है, इसके लिए भाजपा बकायदा अपने अधिकृत प्रवक्ताओं को चैनलों में भेजती है।

राहुल ने कांग्रेस की नुमाइंदगी करने वाले और विभिन्न चैनलों में जाकर कांग्रेस का पक्ष रखने वाले अपने प्रवक्ताओं की भी क्लास ली है और उनसे कहा है कि चैनलों में प्रसारित होने वाले राजनैतिक बहसों में उन्हें और भी आक्रमक दिखना होगा और कहीं बेबाकी और साफगोई से अपनी बात रखनी होगी।

सूत्र बताते हैं कि राहुल ने चैनल संपादकों से अपनी बातचीत में यह बताने से भी संकोच नहीं किया कि अगर उनके चैनल के एंकर अपने पक्षपातपूर्ण रवैए में बदलाव नहीं लाएंगे तो कांग्रेस उनके चैनल का बॉयकॉट करने से भी नहीं हिचकेगी, वे ऐसे चैनलों में अपना प्रतिनिधि ही नहीं भेजेगी।

कहते हैं इसके बाद से कुछ चैनलों के हाव-भाव में कुछ बदलाव देखे जा सकते हैं।

advertisement

  • संबंधित खबरें