Lok Sabha Election 2019: बीजेपी ने जारी की नौवीं सूची, यूपी की हाथरस समेत इन सीटों पर उतारे उम्मीदवार - NDTV India     |       लोकसभा चुनाव 2019: संजय निरूपम को मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटाया, देवड़ा को कमान - Hindustan     |       तंज/ जेटली ने राहुल के वादे को झूठा बताया, कहा- कांग्रेस गरीब को नारा देती है, साधन नहीं - Dainik Bhaskar     |       JNU में लेफ्ट विंग के छात्रों का हंगामा, VC बोले- मेरी पत्नी को बनाया बंधक - आज तक     |       मोदी की रैली के लिए किसानों ने पकने से पहले काट दी फसल - नवभारत टाइम्स     |       कश्मीर में पुलवामा जैसी घटना रोकने के लिए सीआरपीएफ के लिए खरीदे जा रहे बारूदी सुरंग रोधी वाहन - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       गिरिराज सिंह की नाराजगी, कहा- मेरी ही सीट क्यों बदली गई, प्रदेश अध्यक्ष जवाब दें - Hindustan     |       राहुल गांधी ने न्याय के लिए दिए दो नारे, प्रियंका ने भी दिया साथ - आज तक     |       नेकां नेता अकबर लोन के बिगड़े बोल- पाकिस्तान को एक गाली देने वाले को मैं 10 गालियां दूंगा - Webdunia Hindi     |       करतारपुर के बाद अब हिंदुओं को ये 'तोहफा' देगा पाकिस्तान - आज तक     |       एक ही फ्लाइट में मां-बेटी पायलट, भरी उड़ान, फोटो हुई वायरल - आज तक     |       लाल बहादुर शास्त्री को किसने मारा? द ताशकंद फाइल्स का ट्रेलर आउट - आज तक     |       एशिया में भारी गिरावट, निक्केई 3% टूटा - मनी कॉंट्रोल     |       Rajat Gupta's Tell-All: The Rise And Fall Of Wall Street's Poster Boy - NDTV     |       सोना खरीदना हुआ महंगा, स्थानीय ज्वैलर्स की मांग से उछले दाम - दैनिक जागरण (Dainik Jagran)     |       भारतीय दानवीर के मुरीद हुए बिल गेट्स, तारीफ में कही ये बातें - आज तक     |       फिल्म 'पीएम नरेंद्र मोदी' के खिलाफ चुनाव आयोग में कांग्रेस ने की शिकायत - News18 Hindi     |       श्रीदेवी को फिल्मफेयर अवॉर्ड में किया गया ट्रिब्यूट, बेटियों के साथ इमोशनल हुए बोनी कपूर- Amarujala - अमर उजाला     |       केसरी को IPL से नुकसान? बॉक्स ऑफिस पर बनाए ये दो बड़े रिकॉर्ड - आज तक     |       एसिड अटैक का दर्द झेल चुकीं कंगना की बहन रंगोली ने दीपिका का पोस्टर देख लिखी ये बात - Hindustan     |       IPL 2019 : गेंदबाजों ने पंजाब को दिलाई विजयी शुरुआत - Navbharat Times     |       IPL 2019: युवराज सिंह ने ऋषभ पंत को लेकर दिया बड़ा बयान - Hindustan     |       I will be the first one to hang my boots when time comes: Yuvraj Singh - NDTV India     |       गौतम गंभीर के बाद भाजपा को पैरालिम्पियन दीपा का साथ, इनेलो विधायक ने भी थामा पार्टी का दामन - Patrika News     |      

विशेष


अमेरिका के नॉर्डहॉस और रोमर को मिला अर्थशास्त्र का नोबेल, अन्य नोबेल पुरस्कारों के बारे में भी पढ़ें!

अर्थशास्त्र के नोबेल पुरस्कार की स्थापना 1968 में की गई थी। वर्ष 1969 से 2017 तक अर्थशास्त्र में 79 लोगों को नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया है। विजेताओं को पुरस्कार स्वरुप 90 लाख स्वीडिश क्रोन (लगभग 10 लाख डॉलर) राशि प्रदान की जाती है


yales-nordhaus-and-nyus-romer-win-nobel-economics-prize-know-about-other-nobel-prizes-too

वर्ष 2018 के अर्थशास्त्र नोबेल पुरस्कार की घोषणा कर दी गई है। अमेरिका के विलियम नॉर्डहॉस और पॉल रोमर को मैक्रोइकोनॉमिक्स में जलवायु परिवर्तन और टेक्नोलॉजिकल इनोवेशन शामिल करने के लिए अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार देने का एलान किया गया। 

रॉयल स्वीडिश एकेडमी ने सोमवार को यह जानकारी दी। एकेडमी ने एक बयान में कहा, "उनके द्वारा किए गए कार्यों ने आर्थिक विश्लेषण के स्वरुप को उल्लेखनीय रूप से व्यापक बना दिया है और यह बताया कि किस तरह बाजार अर्थव्यवस्था प्रकृति और ज्ञान के साथ जुड़ती है। 

येल विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रख्यात प्रोफेसर नॉर्डहॉस को जलवायु परिवर्तन से होने वाले नुकसान के संबंध में उनके कार्य के लिए इस साल के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है। पॉल रोमर 24 जनवरी तक विश्व बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री और सीनियर वाइस प्रेसिडेंट थे।

वह अंतर्जात विकास सिद्धांत के प्रवर्तक रहे हैं और उन्होंने इस बात का परीक्षण किया है कि अर्थशास्त्री किस प्रकार बेहतर आर्थिक विकास दर हासिल कर सकते हैं। एकेडमी ने कहा कि नॉर्डहॉस और रोमर के बनाए मॉडलों से आर्थिक संवृद्धि बढ़ाने और जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद मिली है। दुनिया की कुछ बड़ी समस्याओं का समाधान करने के लिए वे समष्टि अर्थशास्त्र के सिद्धांत को वैश्विक स्तर पर ले गए। 

अर्थशास्त्र के नोबेल पुरस्कार की स्थापना 1968 में की गई थी। वर्ष 1969 से 2017 तक अर्थशास्त्र में 79 लोगों को नोबेल पुरस्कार से नवाजा गया है। विजेताओं को पुरस्कार स्वरुप 90 लाख स्वीडिश क्रोन (लगभग 10 लाख डॉलर) राशि प्रदान की जाती है।

जानें इस साल (2018) और किन-किन ने जीते नोबेल पुरस्कार :

-शांति : डेनिस मुकवेगे और नादिया मुराद को नोबेल शांति पुरस्कार दिया गया। उन्हें यह पुरस्कार यौन हिंसा के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए दिया गया। इराक की रहने वाली नादिया एक यजीदी हैं और डेनिस अफ्रीकी देश डेमोक्रेटिक रिपब्लिक ऑफ कांगो के निवासी हैं।

-मेडिसिन : जेम्स पी. एलिसन और तासुकू होंजो को मेडिसिन का नोबेल पुरस्कार देने की घोषणा की गई। कैंसर के उपचार के लिए किए गए खोज के लिए उन्हें यह पुरस्कार दिया जाएगा। 

-भौतिकी : आर्थर अश्किन, गेरार्ड मौरोऊ और डोन्ना स्ट्रिकलैंड को 2018 के भौतिकी के नोबेल पुरस्कार से नवाजा जाएगा। लेज़र फिजिक्स में महत्वपूर्ण खोज के लिए उन्हें यह पुरस्कार दिया गया। 

-रसायन शास्त्र : जॉर्ज स्मिथ, फ्रांसेस अर्नाल्ड और ग्रेग विंटर को रसायन शास्त्र का नोबेल पुरस्कार दिया गया।

-साहित्य : यौन हिंसा कांड को लेकर 2018 के साहित्य के नोबेल पुरस्कार को रद्द कर दिया गया।
 

advertisement